लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chandigarh ›   Haryana government may increase sugarcane rates

Haryana News: समीक्षा कमेटी की रिपोर्ट तैयार, गन्ने का रेट बढ़ा सकती है सरकार

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Published by: ajay kumar Updated Wed, 25 Jan 2023 02:23 AM IST
सार

बैठक में अधिकतर सदस्यों ने गन्ने का मूल्य बढ़ाकर पंजाब से अधिक करने को कहा। पंजाब में गन्ने का मूल्य 380 रुपये प्रति क्विंटल है और हरियाणा में 362 रुपये प्रति क्विंटल है। इससे पहले भी कमेटी की एक बैठक हो चुकी है।

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर
विज्ञापन

विस्तार

गन्ने का मूल्य बढ़ाने की मांग को लेकर चल रहे किसानों के आंदोलन के बीच सरकार की समीक्षा कमेटी ने अपनी राय तैयार कर ली है। यह कमेटी जल्द मुख्यमंत्री मनोहर लाल को अपनी रिपोर्ट सौंप देगी। बताया जा रहा है कि कमेटी ने गन्ने का रेट बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है। संभावना जताई जा रही है सरकार जल्द गन्ने का रेट बढ़ा सकती है। हालांकि, इस रिपोर्ट के आधार पर मूल्य बढ़ाने पर अंतिम फैसला मुख्यमंत्री मनोहर लाल ही लेंगे।



मंगलवार को कृषि मंत्री जेपी दलाल की अध्यक्षता में हरियाणा निवास में गन्ना मूल्य समीक्षा कमेटी की बैठक हुई। इसमें पेराई सीजन 2022-23 के लिए गन्ने के मूल्य पर मंथन हुआ। करीब दो घंटे तक चली बैठक में गन्ने की लागत और बाजार में चीनी के मूल्य से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई। 


बैठक में अधिकतर सदस्यों ने गन्ने का मूल्य बढ़ाकर पंजाब से अधिक करने को कहा। पंजाब में गन्ने का मूल्य 380 रुपये प्रति क्विंटल है और हरियाणा में 362 रुपये प्रति क्विंटल है। इससे पहले भी कमेटी की एक बैठक हो चुकी है।

बैठक के बाद कृषि मंत्री ने मीडिया से बातचीत में बताया कि कमेटी ने सभी सुझावों पर विचार करके राय बना ली है। जल्द कमेटी की रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंप दी जाएगी। बैठक में विधायक घनश्याम दास अरोड़ा, विधायक हरविंद्र कल्याण, विधायक रामकरण काला, विधायक प्रवीण डागर, सहकारिता विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टीवीएसएन प्रसाद, कृषि विभाग की एसीएस सुमिता मिश्रा समेत अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

रबी फसल में नुकसान की पांच फरवरी से शुरू होगी गिरदावरी: दुष्यंत
उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि रबी की फसलों में हुए नुकसान की सामान्य गिरदावरी पांच फरवरी से शुरू होगी। इसमें किसानों को राज्य सरकार की नीति के तहत 12 हजार रुपये से लेकर 15 हजार रुपये प्रति एकड़ तक मुआवजा दिया जाएगा।

राजस्व एवं आपदा विभाग के प्रभारी डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने मंगलवार को बताया कि हाल ही में रबी सीजन की विभिन्न फसलों को जो नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई की जाएगी। पांच फरवरी से रबी की सभी मुख्य फसलों की गिरदावरी होगी। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार की नीति के तहत किसानों को फसलों के अनुसार 12 हजार रुपये से लेकर 15 हजार रुपये प्रति एकड़ तक मुआवजा दिया जाएगा। किसी भी किसान का नुकसान नहीं होने दिया जाएगा।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00