लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chandigarh ›   Three accused arrested for robbing UCO Bank in Jalandhar of Punjab

यूको बैंक लूट का खुलासा: 10 साल से भगोड़ा अजय पाल ने रची थी साजिश, पुलिस ने नकदी समेत तीन को दबोचा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जालंधर (पंजाब) Published by: ajay kumar Updated Thu, 11 Aug 2022 07:15 PM IST
सार

पुलिस ने अजय पाल निहंग, विनय तिवारी और तरुण को गिरफ्तार किया है। पुलिस जांच में सामने आया कि गुरप्रीत गोपी ने ही बैंक की महिला कर्मी की चेन छीनी थी।

कैमरे में कैद लूट।
कैमरे में कैद लूट। - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी (फाइल फोटो)
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

जालंधर में यूको बैंक को लूटने वाले गिरोह का भंडाफोड़ कर पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर साढ़े सात लाख की राशि और एक्टिवा बरामद कर ली है। एक लुटेरा फरार चल रहा है। गुरुवार को पुलिस कमिश्नर गुरशरण सिंह संधू, डीसीपी जसकरणजीत सिंह तेजा, डीसीपी जगमोहन सिंह ने प्रेसवार्ता कर बताया कि पुलिस ने लूट की वारदात को ट्रेस कर बदमाश अजय पाल सिंह उर्फ निहंग को गिरफ्तार कर लिया। 



जांच में सामने आया है कि इस लूट को अजय पाल के भाई गुरप्रीत सिंह गोपी ने अंजाम दिया था। गोपी ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर लूटपाट की थी। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि गुरप्रीत गोपी कुख्यात बदमाश है और 10 साल से भगोड़ा चल रहा है। वही इस लूट का मास्टरमाइंड था। उसी ने सारी रेकी कर अपने साथ बस्ती शेख के विनय तिवारी और तरुण को मिलाया।


बैंक लूटने के बाद तीनों लुटेरे काला संघिया की तरफ गए। वहां कपड़े बदले और फिर जालंधर आ गए। जालंधर आकर वह सीधा अजय पाल निहंग के घर अपनी एक्टिवा छोड़ी और पिस्तौल छिपाकर रुपये बांटे। पुलिस ने अजय पाल निहंग, विनय तिवारी और तरुण को गिरफ्तार किया है। पुलिस जांच में सामने आया कि गुरप्रीत गोपी ने ही बैंक की महिला कर्मी की चेन छीनी थी।

सीपी संधू ने बताया कि लूट के बाद सभी लुटेरे अजय पाल के पास आकर रुके थे। वहीं उन्होंने पैसों का बंटवारा किया। पुलिस ने अजय पाल निहंग के घर से लूट की वारदात में इस्तेमाल एक्टिवा और साढ़े सात लाख रुपये एक देसी कट्टा बरामद कर लिया। जिक्रयोग है कि पिछले दिनों इंडस्ट्री एरिया के पास यूको बैंक में दिनदहाड़े लूट हुई थी।

लुटेरों ने पिस्तौल के बल पर मैनेजर एमएस मोती समेत तमाम अधिकारियों को धमकाया। असिस्टेंट बैंक मैनेजर परमिंदर कौर को गन प्वाइंट पर लेकर उनकी सोने की चेन छीन ली थी, साथ ही दिव्या नाम की महिला कर्मचारी की भी ज्वेलरी उतरवा ली थी। आरोपी करीब 15 लाख की लूट को अंजाम देकर भागे थे। इस पूरे मामले की जांच डीसीपी तेजा ने की और शहर में लगे सीसीटीवी कैमरे चेक किए। 

इसके बाद कड़ी से कड़ी जुड़ती चली गई और एक्टिवा सवार लुटेरे काला संघिया की तरफ फरार हो गए। वहां इन्होंने कपड़े बदले। इसके बाद पुलिस ने मोबाइल डंप व डिटेल निकलवाई, जिसके बाद पुलिस के हाथ कुछ मोबाइल नंबर आ गए, जिनका इस्तेमाल लुटेरों ने किया था। पुलिस की जांच अजय पाल सिंह निहंग पर आकर रुक गई। सीपी संधू का कहना है कि पुलिस फरार आरोपी गोपी की तलाश कर रही है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00