लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chandigarh ›   Sarpanch commits suicide by jumping in front of train in Mandi Gobindgarh

मंडी गोबिंदगढ़: सरपंच ने ट्रेन के आगे कूदकर की आत्महत्या, गांव के ही कुछ लोगों पर परेशान करने का आरोप

संवाद न्यूज एजेंसी, मंडी गोबिंदगढ़ (पंजाब) Published by: ajay kumar Updated Wed, 28 Sep 2022 06:42 PM IST
सार

भाई भीम सिंह ने बताया कि उक्त लोगों ने उनके भाई बलकार सिंह को यह धमकी दी थी कि वह उसे छोड़ेंगे नहीं। इससे आहत होकर उसका भाई कई दिनों से लापता चल रहा था, जिसने रेलवे ट्रैक पर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। उन्होंने सुसाइड नोट में दर्ज सभी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की।
 

मृतक सरपंच की फाइल फोटो।
मृतक सरपंच की फाइल फोटो। - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

पंजाब के अमलोह के गांव बडगुजरां में पिछले तीन-चार दिन से लापता चल रहे सरपंच का शव खन्ना के रेलवे स्टेशन स्थित रेलवे ट्रैक पर खून से लथपथ मिला है। खन्ना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया है। मृतक की पहचान बलकार सिंह (51) पुत्र बाबू सिंह निवासी गांव बडगुजरां निवासी अमलोह के तौर पर हुई है। 



मृतक के भाई भीम सिंह और उसके दो बेटों ने बताया कि बुधवार सुबह ही सरपंच बलकार सिंह के बारे में उन्हें खन्ना से फोन आया तो उन्होंने जाकर बलकार सिंह की शिनाख्त की। परिवार के लोगों ने यह भी बताया कि बलकार सिंह पिछले काफी दिनों से गांव के ही चार-पांच लोगों से परेशान चल रहा था। उसने एक फोन रिकॉर्डिंग और एक सुसाइड नोट में गांव के लोगों का जिक्र किया है जो उसे बेहद परेशान करते थे। 


भाई भीम सिंह ने यह भी बताया कि उक्त लोगों ने उनके भाई बलकार सिंह को यह धमकी दी थी कि वह उसे छोड़ेंगे नहीं। इससे आहत होकर उसका भाई कई दिनों से लापता चल रहा था, जिसने रेलवे ट्रैक पर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। उन्होंने सुसाइड नोट में दर्ज सभी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की।
 
उधर, खन्ना रेलवे पुलिस के पास कार्रवाई की मांग को लेकर अमलोह के विभिन्न गांवों के पंच-सरपंचों ने जमकर प्रदर्शन किया और रेलवे रोड पर कार्रवाई को लेकर पुलिस प्रशासन पर दबाव बनाया। वहीं पंच-सरपंचों और पारिवारिक सदस्यों ने एफआईआर में 174 के बजाय उन लोगों पर हत्या के लिए मजबूर करने की कार्रवाई की मांगी जिनका नाम सुसाइड नोट में और वायस रिकॉर्डिंग में बार-बार मृतक बलकार सिंह ने रहा है। उधर, खबर लिखे जाने तक खन्ना में प्रदर्शन जारी था और पुलिस इस मामले में कार्रवाई करने में जुटी थी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00