लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Chandigarh ›   Brother and sister died in a road accident in Muktsar

मुक्तसर में दर्दनाक सड़क हादसा: भाई-बहन की मौत, छोटा भाई गंभीर, अस्पताल में भर्ती

संवाद न्यूज एजेंसी, मुक्तसर (पंजाब) Published by: ajay kumar Updated Wed, 07 Dec 2022 06:18 PM IST
सार

गुरसेवक 10वीं कक्षा तो प्रभजोत सातवीं कक्षा में पढ़ती थी। दोनों का छोटा भाई आठ वर्षीय नवतेज भी गंभीर रूप से जख्मी था। उसे भुच्चो के निजी अस्पताल रेफर कर दिया गया। नवतेज पहली कक्षा का छात्र है।

गुरसेवक सिंह, नवतेज सिंह और प्रभजोत कौर।
गुरसेवक सिंह, नवतेज सिंह और प्रभजोत कौर। - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी
विज्ञापन

विस्तार

पंजाब के मुक्तसर में बुधवार की सुबह जलालाबाद रोड पर सड़क हादसे में गांव कबरवाला के रहने वाले सगे भाई-बहन की मौत हो गई जबकि छोटा भाई गंभीर रूप से जख्मी हो गया। उसे भुच्चो के निजी अस्पताल रेफर कर दिया गया है। तीनों भाई-बहन सुबह घर से मोटरसाइकिल से अपने स्कूल अकाल अकादमी जा रहे थे। अचानक रास्ते में ट्रक चालक ने ओवरटेक किया। यही हादसे का वजह बना। बताते हैं कि ट्रक भी ओवरलोड था। धुंध के कारण हादसा हुआ। 



मुक्तसर की अकाल अकादमी में पढ़ने वाले तीनों विद्यार्थी मोटरसाइकिल से स्कूल आ रहे थे। तीनों गांव से निकलकर जलालाबाद रोड यादगारी गेट के पास पहुंचे थे कि ट्रक ने ओवरटेक कर उनकी मोटरसाइकिल को अपनी चपेट में ले लिया। मोटरसाइकिल का संतुलन बिगड़ने से तीनों गिर पड़े। तीनों को जलालाबाद रोड स्थित निजी अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टरों ने 15 वर्षीय छात्र गुरसेवक सिंह पुत्र हरिंदर सिंह व उसकी 12 वर्षीय छोटी बहन प्रभजोत कौर को मृत घोषित कर दिया। 


गुरसेवक 10वीं कक्षा तो प्रभजोत सातवीं कक्षा में पढ़ती थी। दोनों का छोटा भाई आठ वर्षीय नवतेज भी गंभीर रूप से जख्मी था। उसे भुच्चो के निजी अस्पताल रेफर कर दिया गया। नवतेज पहली कक्षा का छात्र है। उसकी हालत भी गंभीर बनी है। हादसे की सूचना मिलते ही जहां परिजन व रिश्तेदार अस्पताल पहुंचे। वहीं डीएसपी राजेश स्नेही भी पुलिस टीम सहित पहुंच चुके थे और मामले की जांच शुरू कर दी। ट्रक चालक हादसे को अंजाम देकर घटनास्थल पर ट्रक छोड़कर फरार हो गया था। पुलिस ने ट्रक कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है।

बता दें कि इसी रोड पर कुछ महीने पहले एक निजी स्कूल के छात्र की भी मौत हो चुकी है। अनेक बार नाबालिग बच्चों को वाहन देने के कारण सड़क हादसे आम बात हो गई है। इसके बावजूद अभिभावक इन घटनाओं से सबक नहीं ले रहे और बच्चों को वाहन दे देते हैं। हालांकि इस मामले में ट्रक चालक की लापरवाही सामने आ रही है। मगर तीनों विद्यार्थी भी नाबालिग थे। अभिभावकों को भी ऐसे हादसों से सबक लेते हुए अपने नाबालिग बच्चों को वाहन नहीं चलाने देना चाहिए ताकि सड़क हादसों से बचाव हो सके। 

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00