भाजपा के एससी मोर्चा के प्रदेश सचिव पर अकाली नेता ने दागी गोली, इस बात पर विवाद

ब्यूरो/अमर उजाला, जालंधर(पंजाब) Updated Fri, 02 Feb 2018 09:34 AM IST
Jalandhar News
Jalandhar News
ख़बर सुनें
जालंधर के अली मोहल्ला में बुधवार देर रात वाल्मीकि समाज के नेताओं में टकराव हो गया। इस दौरान भाजपा के एससी मोर्चा के प्रदेश सचिव दीपक तेलू गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें निजी अस्पताल में दाखिल करवाया गया है। थाना नंबर दो की पुलिस ने वीरवार को अकाली दल के दलित विंग के पूर्व उपाध्यक्ष सुभाष सोंधी, उनके भाई धर्मेंद्र सोंधी, बेटे हिमांशु सोंधी, अंकुश सोंधी, राजू खोसला, गोबा, पिंदा, सिकंदर, राहुल, सुरिंदर समेत अज्ञात पर केस दर्ज किया है। 
पुलिस ने अकाली दल के नेता सुभाष सोंधी और राजू खोसला को गिरफ्तार कर कड़ी सुरक्षा में कोर्ट में पेश किया। यहां से उन्हें दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। वाल्मीकि समाज के अग्रणी नेताओं में खूनी टकराव से शहर के सभी हिस्सों में पुलिस ने सुरक्षा सख्त कर दी है। 

छह फायर किए
घटनास्थल से मिली जानकारी के अनुसार अली मोहल्ला में राजू खोसला के पिता सुदेश खोसला की रिटायरमेंट पार्टी चल रही थी। इस दौरान कुछ लोग जबरन अंदर आ गए, जिन्होंने आते ही बेवजह गाली-गलौच और हंगामा करना शुरू कर दिया। विरोध करने पर उक्त लोगों ने करीब 6 फायर कर दिए। इस हमले में आरोपी सिकंदर के हाथ पर भी चोट लगी है। उसको अस्पताल दाखिल करवाया गया है।

सोंधी के समर्थक पहुंचे थाने
शिअद नेता सुभाष सोंधी के पक्ष में वीरवार को लोग थाने पहुंचे। उन्होंने कहा कि पुलिस ने धक्केशाही कर एक पक्ष पर मामला दर्ज किया है। वहीं हमला दूसरे पक्ष ने किया है। इसकी निष्पक्ष जांच की जानी चाहिए।
आगे पढ़ें

ऐसे बढ़ा विवाद

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

Una

धू-धू के जल रहे उपमंडल बंगाणा के जंगल

धू-धू के जल रहे उपमंडल बंगाणा के जंगल

24 मई 2018

Related Videos

VIDEO: इस एलान के बाद अब मुसलमान सिर्फ मस्जिद में पढ़ सकेंगे नमाज

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने नमाज को लेकर बयान दिया है। खट्टर ने कहा है कि हरियाणा में सार्वजनिक जगहों पर नमाज नहीं पढ़ी जाएगी। सिर्फ मस्जिदों में ही नमाज पढ़ी जाए।

6 मई 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen