विज्ञापन

हिमाचल के पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के भतीजे अकांक्ष की हत्या में हरमेहताब दोषी करार

Panchkula bureauपंचकुला ब्‍यूरो Updated Tue, 19 Nov 2019 02:24 AM IST
ख़बर सुनें
हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा के भतीजे अकांक्ष सेन की हत्या के मामले में सोमवार को चंडीगढ़ के एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज राजीव गोयल की अदालत ने आरोपी हरमेहताब सिंह को आईपीसी की धारा 302 (हत्या) और 34 (कई व्यक्तियों का एक मकसद से किया गया अपराध) के तहत दोषी ठहरा दिया। सजा मंगलवार (19 नवंबर) को सुनाई जाएगी। इस मामले में एक अन्य आरोपी बलराज रंधावा फरार चल रहा है। कोर्ट उसे भगोड़ा घोषित कर चुकी है। उस पर एक लाख का इनाम भी घोषित किया गया है।
विज्ञापन
हरमेहताब उर्फ फरीद पटियाला एंड ईस्ट पंजाब स्टेट्स यूनियन (पेप्सू) के पूर्व मुख्यमंत्री ज्ञान सिंह रारेवाला का पोता है जबकि बलराज रंधावा सोहाना के नजदीक सेक्टर 77 के अकाल आश्रम कालोनी का रहने वाला है। अकांक्ष की हत्या नौ फरवरी 2017 को चंडीगढ़ के पॉश इलाके सेक्टर नौ में की गई थी। दोषी हरमेहताब सिंह के उकसाने पर बलराज सिंह रंधावा ने बीएमडब्ल्यूए कार से कुचलकर अकांक्ष की हत्या की थी। पीड़ित पक्ष के एडवोकेट ने कहा कि इस केस में गवाहों के बयान और चिकित्सा साक्ष्य ने अहम रोल निभाया है। बलराज रंधावा का सरेंडर न करना भी इस केस में अहम कड़ी बना। बचाव पक्ष के वकीलों का कहना है कि फैसला आने के बाद वह हाईकोर्ट में चुनौती देंगे।
दोस्त के चक्कर में हुई थी हत्या
हरमेहताब सिंह रारेवाला और अकांक्ष के दोस्त गगनदीप सिंह शेरगिल उर्फ शेरा के बीच पुरानी दुश्मनी थी। दुश्मनी की शुरुआत मनाली में हुई थी। उसके बाद रारेवाला के लांडरा स्थित फार्म हाउस में भी दोनों के बीच हाथापाई हुई थी। नौ फरवरी साल 2017 को सेक्टर नौ स्थित दीप सिद्धू के घर पर एक पार्टी रखी गई। दीप सिद्धू दोनों ही ग्रुप का कॉमन दोस्त था और उसने पार्टी में दोनों ग्रुप को बुलाया था। उस दिन गगनदीप शेरा और अकांक्ष सेक्टर नौ स्थित बूमबाक्स में बैठे। वहां से वे पार्टी के लिए निकले। उनके साथ अदम्या राठौर व राजन भी थे। पार्टी में दोनों आरोपी हरमेहताब और बलराज आए हुए थे। पुरानी रंजिश के चलते पार्टी में ही शेरा व बलराज के बीच झगड़ा शुरू हो गया। झगड़ा बढ़ता देख अकांक्ष ने दोनों को शांत कराने की कोशिश की। उसके बाद अकांक्ष अपने दोस्त अदम्या के साथ वहां से चला गया। देर रात अकांक्ष, अदम्या और करणयोग फिर दीपसिद्धू के घर यह देखने पहुंचे कि कहीं झगड़ा दोबारा से तो नहीं हो रहा। अकांक्ष को देखकर बलराज रंधावा भड़क गया और कहा कि ‘तू शेरा दा बाडीगार्ड लग्या है, पहलां तैनूं ही ठीक करदे आं’ यह कहते ही रंधावा ने हरमेहताब को अपने साथ बैठाया और बीएमडब्ल्यूए कार से अकांक्ष को कुचल डाला। अभियोजन पक्ष के अनुसार, जब पहली बार में अकांक्ष सेन की मौत नहीं हुई तो हरमेहताब ने बलराज को उकसाया और कहा कि वह अभी तक मरा नहीं है। उसके बाद बलराज ने कई बार अकांक्ष पर कार दौड़ाई।
इनकी गवाही ने केस को मजबूती दी
अदम्या राठौर : अकांक्ष का चचेरा भाई। केस का मुख्य गवाह। वारदात के वक्त मौके पर मौजूद था। अदालत को उसने झगड़े का कारण और झगड़े की जगह के बारे में बताया था।
गगनदीप शेरा : अकांक्ष का दोस्त। उसने कोर्ट को बताया कि वारदात के दिन अदम्या, अकांक्ष, बलराज रंधावा व हरमेहताब मौके पर मौजूद थे। उसका हरमेहताब व बलराज के साथ पुराना झगड़ा था। हरमेहताब ने उसकी एक फोटो वायरल कर दी थी, जिसमें शेरा को खंभे में बांधकर पीटा गया था।
करणयोग : अकांक्ष का दोस्त। वारदात के दौरान अकांक्ष के साथ मौजूद था। उसने गवाही दी कि उसके सामने बलराज रंधावा और हरमेहताब ने अकांक्ष पर तीन से चार बार गाड़ी चढ़ाई। इससे अकांक्ष बुरी तरह से घायल हो गया। बाद में करणयोग व अन्य साथी अकांक्ष को लेकर पीजीआई पहुंचे थे।
राजन पपनेजा : अकांक्ष का दोस्त। हत्या के दौरान मौके पर मौजूद था। राजन ने अदालत को हत्या का आंखों देखा हाल बताया। उसने यह भी बताया कि उसका हरमेहताब के साथ झगड़ा नहीं है और हरमेहताब को झूठे केस में फंसाने का उसके पास कोई मकसद नहीं है।
ये साक्ष्य भी केस के अहम सबूत बने
बीएमडब्ल्यू पर खून के निशान
अकांक्ष की बॉडी पर टायर का निशान मिलना
मौके-ए-वारदात पर खून के धब्बे
मौके पर मौजूद राजन के कपड़ों पर खून के निशान
पुलिस अधिकारियों की गवाही
चिकित्सा साक्ष्यों ने गवाहों की गवाही को सपोर्ट किया
दोषी करार होने के बाद हरमेहताब क्या बोला
अदालत सेे दोषी करार दिए जाने केबाद हरमेहताब के चेहरे का रंग उतर गया। वह मायूस हो गया। उसने अदालत से बाहर जाते वक्त कहा कि जिस तरह से केस में बहस हुई थी, उससे उम्मीद थी कि उसे अदालत से न्याय मिलेगा। करीब तीन साल से वह जेल में ही है। उसे जमानत तक नहीं मिल पाई है।
टाइमलाइन
नौ फरवरी 2017 सेक्टर 9 में अकांक्ष सेन पर चढ़ाई गई गाड़ी। पीजीआई में मृत घोषित
15 फरवरी 2017 हरमेहताब ने चंडीगढ़ अदालत में अग्रिम जमानत याचिका दायर की
16 फरवरी 2017 हरमेहताब को हरिद्वार से गिरफ्तार किया गया
20 फरवरी 2017 हत्या में इस्तेमाल की गई बीएमडब्ल्यू कार मंडी गोबिंदगढ़ से बरामद
05 मार्च 2017 हत्या के अन्य आरोपी बलराज रंधावा को भगोड़ा घोषित किया गया
06 मई 2017 चंडीगढ़ पुलिस ने मामले में चार्जशीट दायर की
18 अगस्त 2017 केस की पहली सुनवाई हुई
28 अक्तूबर 2017 अदालत ने हरमेहताब पर आरोप तय किए
15 अक्तूबर 2019 अदालत में मामले की अंतिम बहस खत्म
18 नवंबर 2019 अदालत ने हरमेहताब को दोषी ठहराया
मंगलवार को फैसला आने के बाद उसका मूल्याकंन किया जाएगा। अदालत ने किस आधार उसे दोषी ठहराया है, उसे समझा जाएगा। उसके बाद ही हाईकोर्ट में फैसले को चैलेंज किया जाएगा।
- सरबजीत सिंह वड़ैच, हरमेहताब के एडवोकेट
जब तक बलराज नहीं पकड़ा जाता और उसे उसके किए की सजा नहीं मिलती, तब तक हम इंसाफ के लिए लड़ते रहेंगे।
-अरुण सेन, अकांक्ष के पिता
विज्ञापन

Recommended

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे
LPU

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक

विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Chandigarh

अज्ञात वाहन की चपेट में आने से दो नाबालिग भाईयों की मौत, सड़क पर चला रहे थे साइकिल

गुलकनी गांव में देर रात घर के बाहर सड़क पर साइकिल लेकर गए दो नाबालिग भाईयों की अज्ञात वाहन की चपेट में आने से मौत हो गई।

26 जनवरी 2020

विज्ञापन

जाने 27 जनवरी का दिन किन राशि वालों के लिए है बेहतर

यहां देखिए क्या कहता है 27 जनवरी का आपका राशिफल इतना ही नहीं अब हर रोज दिन के हिसाब से जानिए अपना राशिफल।

26 जनवरी 2020

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us