विज्ञापन

पंजाब यूनिवर्सिटी ने स्टूडेंट्स को दी बहुत बड़ी राहत, 20 फीसदी अटेंडेंस बोनस में मिलेगी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Tue, 04 Dec 2018 02:53 PM IST
पंजाब यूनिवर्सिटी
पंजाब यूनिवर्सिटी
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पंजाब यूनिवर्सिटी के छात्रों के लिए राहत की खबर है। यदि उनकी अटेंडेंस किन्हीं कारणों से कम है तो उसकी पूर्ति पीयू प्रशासन कर देगा। वह एक तरह से बोनस के रूप में 20 फीसदी तक हाजिरी अपनी ओर से विद्यार्थियों को देगा। एक माह से आंदोलन कर रहे स्टूडेंट्स की एक डिमांड थी कि अटेंडेंस 75 फीसदी से कम करके 50 फीसदी की जाएं। पीयू प्रशासन पर दबाव पड़ा तो इसको लेकर बैठक बुलाई गई। इसमें डीयूआई प्रो. शंकरजी झा, प्रो. एके भंडारी, प्रो. नवदीप गोयल, प्रो. इमैनुअल नाहर, प्रो. नीना कप्लास आदि शामिल हुए। इस बैठक में पीयूसीएससी अध्यक्ष कनुप्रिया की ओर से दिए गए पत्र पर निर्णय लिया गया।
विज्ञापन
बैठक में तय हुआ कि सालाना फेस्ट में जो भी स्टूडेंट लगेंगे उनको दस फीसदी अटेंडेंस पीयू प्रशासन की ओर से दी जाएंगी या फिर अन्य कार्यक्रमों की तैयारियों में लगे स्टूडेंट्स को भी यही लाभ मिलेगा। इसके अलावा दस फीसदी हाजिरी विभागीय चेयरपर्सन अपनी ओर से उन विद्यार्थियों को देंगे जो विभागीय एक्टिविटीज में जुटे होंगे। यह भी तय हुआ कि जिन विभागों की रेगुलेटरी बॉडीज स्टूडेंट्स की अटेंडेंस 75 फीसदी अनिवार्य मांगती हैं वह उतना ही फीसदी रहेंगी, क्योंकि स्टूडेंट्स की डिग्रियां उन्हीं 75 फीसदी हाजिरी के बेस पर जारी की जाती हैं। इस बैठक में लिए गए निर्णय वाइस चांसलर को भेजे गए हैं।

वीसी को सौंपा मांगपत्र
सिंडिकेट की बैठक में स्टूडेंट्स का मांगपत्र शामिल हो, इसके लिए सोमवार को स्टूडेंट लीडर कनुप्रिया, आइसा अध्यक्ष विजय कुमार, एसएफएस पदाधिकारी हरमन, हसनप्रीत, पीएसयू ललकार की पदाधिकारी अमनदीप कौर ने डीएसडब्ल्यू को डिमांडपत्र सौंपा। इसमें 24 घंटे गर्ल्स हॉस्टल खोलने, दस नंबर हॉस्टल का चार्ज सही करने, बाहरी कारों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने आदि मांगें शामिल हैं। यह डिमांड सिंडिकेट के एजेंडे में वीसी शामिल करवाएंगे। यदि मांगें शामिल नहीं होंगी तो स्टूडेंट्स विरोध भी करेंगे। उनका कहना है कि मांगों को मनवाने के लिए वह हर स्तर पर जाएंगे। पीयू प्रशासन को रात 11.00 बजे के बाद भी लड़कियों को हॉस्टल से बाहर जाने की अनुमति देनी होगी।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

स्कूल शिक्षा बोर्ड देगा डॉ. राधाकृष्णन छात्रवृत्ति, इस दिन तक करें आवेदन

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड दसवीं और जमा दो के 14-14 छात्रों को डॉ. राधाकृष्णन छात्रवृत्ति देगा।

10 दिसंबर 2018

विज्ञापन

Birthday Special: दिलीप कुमार का फिल्मी सफर

दिलीप कुमार का जन्म 11 दिसंबर 1922 को पेशावर में हुआ। साल 1930 में उनका परिवार मुंबई में आकर बस गया था।

10 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election