विज्ञापन

पंजाब यूनिवर्सिटी में छात्राओं की आजादी को लेकर विरोध प्रदर्शन में कूदे 15 राज्यों के आंदोलनकर्ता

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Tue, 04 Dec 2018 02:15 PM IST
पंजाब यूनिवर्सिटी
पंजाब यूनिवर्सिटी - फोटो : amar ujala
ख़बर सुनें
संविधान सम्मान यात्रा को लेकर पीयू पहुंचे 15 राज्यों के प्रतिनिधि सोमवार रात 24 घंटे गर्ल्स हॉस्टल की मांग को लेकर चल रहे प्रोटेस्ट स्थल पर पहुंच गए। उन्होंने वहां छात्राओं की मांग का समर्थन करते हुए ऐलान किया कि गर्ल्स हॉस्टल 24 घंटे नहीं खोले तो आंदोलन और बड़ा होगा। इस दौरान संघ व भाजपा के खिलाफ भी नारेबाजी हुई। वक्ताओं ने कहा कि संघ की विचारधारा से पीयू में काम नहीं होने देंगे। स्टूडेंट्स के हित करके ही जिम्मेदार लोग आगे बढ़ें। 36वें दिन स्टूडेंट्स का प्रोटेस्ट गर्ल्स हॉस्टल नंबर तीन के सामने चल रहा था।
विज्ञापन
विज्ञापन
रात आठ बजे अचानक 15 राज्यों के ऐसे लोग पहुंचे जो अपने-अपने राज्यों में जनता के हितों के लिए आंदोलन चलाए हुए हैं। चाहे वह नर्मदा बचाओ आंदोलन हो या फिर सर्वाहारा आंदोलन। महाराष्ट्र से पहुंचे मुंबई यूनिवर्सिटी के पूर्व डीन संजय ने कहा कि देश में महिलाओं की आजादी की बात की जाती है लेकिन पीयू में आकर देखा तो उल्टा मिला। यहां छात्राओं को शाम होते ही हॉस्टल में रहना पड़ता है। उन्होंने कहा कि छात्राओं की ओर से चलाए जा रहे आंदोलन को वह आगे बढ़ाएंगे। यह मुहिम पूरे देश में नया रंग लाएगी।

इनके अलावा प्रोटेस्ट को उड़ीसा के मानस, झारखंड के राजीव मिश्रा, उड़ीसा के मधुसूदन, उत्तराखंड के विमल, उत्तर प्रदेश के सतीश, इनायत, मध्य प्रदेश के रविंद्र ठाकुर, दिल्ली के आर्यमन आदि ने संबोधित किया। सभी ने एक स्वर में कहा कि इस आंदोलन को खत्म न होने दिया जाएगा। यही संघर्ष स्टूडेंट्स को फायदा देगा। उन्होंने कहा कि संघ की विचारधारा से यदि कोई व्यक्ति किसी संस्थान में काम करने लगता है तो वहां दिक्कतें खड़ी होती हैं। छात्राओं को आजादी दिलाने के लिए उनका पूरा समर्थन है।

इस दौरान स्टूडेंट काउंसिल अध्यक्ष कनुप्रिया, आइसा अध्यक्ष विजय कुमार ने भी सभी को आश्वासन दिया कि अब यह आंदोलन तभी खत्म होगा जब उनकी मांगें पूरी तरह मान ली जाएंगी। उन्होंने कहा कि 24 घंटे हॉस्टल खोलने को लेकर पीयू प्रशासन ने कुछ नियम बदलें हैं, लेकिन वह किसी हाल में नहीं माने जाएंगे। छात्राओं को पूरी तरह आजादी मिलनी चाहिए। रात 11 बजे के बाद बिना किसी रजिस्टर में हस्ताक्षर किए वह बाहर जा सकें। सभी आंदोलनकर्ताओं ने कैंपस में रैली भी निकाली।

इसी सप्ताह देशभर के कई सामाजिक कार्यकर्ता आएंगे पीयू
24 घंटे गर्ल्स हॉस्टल खुलवाने की मांग को लेकर चल रहे प्रोटेस्ट में शामिल होने के लिए कई प्रदेशों के सामाजिक कार्यकर्ता शामिल होंगे। सूत्रों का कहना है कि आने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओं की बदौलत बड़े-बड़े आंदोलन सफल हुए हैं। सरकारों तक ने उनके आगे हार मानी है। वह यहां विचार रखेंगे। साथ ही रैली भी निकालेंगे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Lucknow

उर्दू विवि में पीएचडी के आवेदन कल से, ये होंगे सब्जेक्ट्स

ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती उर्दू, अरबी-फारसी विश्वविद्यालय में पीएचडी के आवेदन फॉर्म बुधवार से भरे जा सकेंगे। आवेदन प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन होगी।

11 दिसंबर 2018

विज्ञापन

विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत पर बोले यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का बेहतर प्रदर्शन देखने को मिला। बीजेपी की हार और कांग्रेस की जीत पर यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बयान दिया है। मौर्य ने कहा कि इस हार का असर लोकसभा चुनाव 2019 पर नहीं पड़ेगा।

11 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election