विज्ञापन

15 जुलाई को 415 छात्र देंगे पुलेट की परीक्षा, पीयू परीक्षा नियंत्रक ने जारी की गाइडलाइन

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Fri, 13 Jul 2018 09:48 AM IST
पंजाब यूनिवर्सिटी
पंजाब यूनिवर्सिटी - फोटो : Amar Ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पंजाब यूनिवर्सिटी लेटरल इंजीनियरिंग एंट्रेंस टेस्ट (पुलेट) परीक्षा 15 जुलाई को होगी। पीयू के परीक्षा नियंत्रक परविंदर सिंह ने बताया कि पीयू में तीन सेंटर बनाए जाएंगे। इसके अलावा एसएसजी पीयू क्षेत्रीय केंद्र होशियारपुर में परीक्षा का आयोजन होगा। इसके लिए निर्देश जारी कर दिए गए हैं। परीक्षा में 415 छात्र बैठेंगे। छात्रों को परीक्षा शुरू होने से 25 मिनट पहले अपने संबंधित टेस्ट सेंटर में पहुंचना होगा। परीक्षा शुरू होने के 15 मिनट बाद रिपोर्ट करने वाले छात्र को परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी।
विज्ञापन
दिव्यांगों को 30 मिनट अतिरिक्त समय दिया जाएगा। छात्रों को अपने साथ अस्थायी ई-प्रवेश पत्र लाना होगा। इसके अलावा पहचान पत्र लाना आवश्यक है। छात्रों को सवालों का जवाब देने के लिए केवल ब्लैक जेल पेन का उपयोग करना होगा। कैलकुलेटर के उपयोग की अनुमति नहीं दी जाएगी। इस परीक्षा में निगेटिव मार्किंग होगी। केंद्र के परिवर्तन की भी अनुमति नहीं दी जाएगी।

उम्मीदवारों को परीक्षा कक्ष के अंदर मोबाइल फोन, पेजर, वायरलेस सेट, तार रहित फोन जैसे किसी भी उपकरण को ले जाने की अनुमति नहीं होगी। परीक्षा केंद्र के बाहर रखे ऐसे उपकरणों के नुकसान के लिए विश्वविद्यालय जिम्मेवार नहीं होगा। जो छात्र परीक्षा नियम का पालन नहीं करेंगे, वह परीक्षा देने के लिए अयोग्य घोषित किए जाएंगे। 

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

एनआईओएस ने जारी किया डीएलएड परीक्षाओं का शेडयूल

राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान (एनआईओएस) से डीएलएड करने वाले अप्रशिक्षित सेवारत शिक्षकों की द्वितीय चरण की परीक्षा 25 से 29 सितंबर तक होगी।

19 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

TRIPLE TALAQ हुआ गैर कानूनी, अब तीन तलाक देने पर मिलेगी सजा

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को तीन तलाक यानी तलाक-ए-बिद्दत को दंडनीय अपराध बनाने संबंधी अध्यादेश को मंजूरी दे दी। ऐसे में आपको बताते हैं कि तीन तलाक विधेयक में क्या-क्या बदलाव हुए और क्या होता है अध्यादेश।

19 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree