विज्ञापन

पीयू के दो सौ शिक्षकों को पीएचडी इंक्रीमेंट फिलहाल मिलने के आसार नहीं, न ही कोई सोल्यूशन

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Thu, 06 Dec 2018 05:13 PM IST
salary increament
salary increament - फोटो : social media
ख़बर सुनें
पंजाब विश्वविद्यालय के करीब 200 शिक्षकों को पीएचडी इंक्रीमेंट मिलने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। पीयू प्रशासन ने यूजीसी की गाइड लाइन का दोबारा अध्ययन किया, लेकिन उसमें कोई रास्ता नहीं निकल रहा है। शिक्षकों को पीएचडी इंक्रीमेंट पहले दिया जाता था, लेकिन यूजीसी की गाइड लाइन के बाद जिन शिक्षकों ने 2014 तक पीएचडी की डिग्री ली है उनको इसका लाभ देना बंद कर दिया। यूजीसी ने सभी विश्वविद्यालयों को आदेश जारी किए हैं कि वर्ष 2015 के बाद पीएचडी करने वाले शिक्षकों को इंक्रीमेंट का लाभ दिया जाए।
विज्ञापन
विज्ञापन
यह आदेश पीयू प्रशासन के पास भी पहुंचे तो शिक्षकों का इंक्रीमेंट रोक दिया गया, जबकि सीनेट और सिंडिकेट में यह प्रकरण मंजूर हो गया था। हालांकि नियमों की दुहाई देते हुए ऑडिट के स्तर से रोक लगा दी गई थी। मामला फिर शिक्षकों ने उठाया तो गाइड लाइन का फिर से अध्ययन करने की बात सामने आई। सूत्रों का कहना है कि पीयू प्रशासन ने फिर से गाइड लाइन देखीं, लेकिन उनमें कहीं भी लचीलापन नजर नहीं आ रहा है। हालांकि अब मामला कोर्ट में चला गया।

पदोन्नति भी पांच साल में
यूजीसी की नई गाइड लाइन में यह भी प्रावधान किया है कि वर्ष 2014 से पहले के पीएचडीधारी शिक्षकों को पदोन्नति पांच साल में मिलेगी। वहीं वर्ष 2015 के बाद के पीएचडी करने वाले शिक्षकों को चार साल में लाभ मिलेगा। यूजीसी का मानना है कि वर्ष 2015 के बाद की पीएचडी डिग्री अधिक प्रभावी है। उनके रिसर्च में गहराई है। साथ ही उनका चयन नियमत: किया गया है। सूत्र कहते हैं कि इससे पहले की डिग्रियों को शक की दृष्टि से देखा गया है।

शिक्षकों के वेतन के लिए हो सकता है बजट का टोटा
चालू वित्तीय वर्ष का बजट लगभग 500 करोड़ रुपये का रहा है। इसमें शिक्षकों का भी वेतन है। इस बजट में लगभग 226 करोड़ रुपये केंद्र सरकार देती है। बाकी बजट का इंतजाम पीयू अपने से करता है। सूत्र बताते हैं कि शिक्षकों के वेतन के लिए बजट जनवरी के बाद कम पड़ सकता है। दो माह के वेतन की दिक्कत खड़ी हो सकती है। हालांकि पीयू प्रशासन वेतन का हिस्सा किसी दूसरे मद से निकालने की संभावना तलाश रहा है ताकि शिक्षकों को परेशानी का सामना न करना पड़े। 

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Chandigarh

कड़ा फरमानः स्कूलों से बाहर अब बच्चों से कोई भी काम कराया तो गुरु जी की खैर नहीं, संभल जाएं

अब गुरु जी विद्यार्थियों से स्कूलों के बाहर किसी भी तरह का काम नहीं करा सकेंगे। रैली निकालने जैसे काम भी नहीं करा सकेंगे, कड़ा फरमान जारी किया गया है।

13 दिसंबर 2018

विज्ञापन

आज छत्तीसगढ़ के CM का एलान सहित 5 बड़ी खबरें

अमर उजाला टीवी पर देश-दुनिया की राजनीति, खेल, क्राइम, सिनेमा, फैशन और धर्म से जुड़ी खबरें। देखिए LIVE BULLETINS - सुबह 9 बजे, दोपहर 1 बजे और शाम 5 बजे।

15 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree