पंजाब यूनिवर्सिटी में स्वीकृत पदों के अलावा 900 कर्मियों की हुई तैनाती, पैदा हो रहा आर्थिक संकट

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Sat, 07 Dec 2019 02:37 PM IST
विज्ञापन
punjab university
punjab university
ख़बर सुनें
पंजाब यूनिवर्सिटी प्रशासन हर साल बजट की कमी बताता है, लेकिन उन्हीं की नीतियों के चलते आर्थिक संकट पैदा हो रहा है। कर्मचारियों के स्वीकृत पदों के अलावा लगभग 900 कर्मचारियों की तैनाती कर दी गई। हर साल इन पर लगभग 36 करोड़ रुपये खर्च हो रहे हैं। लगातार पीयू पर आर्थिक भार बढ़ता देख ऑडिट विभाग ने आपत्ति दायर की है। वीसी प्रो. राजकुमार को चिट्ठी लिखी है कि अब कोई कर्मचारी न रखा जाए या फिर स्वीकृत पदों पर नियमानुसार तैनाती की जाए।
विज्ञापन
साथ ही मैनपावर ऑडिट भी कराने की सिफारिश की है ताकि विभागों में यह पता लग जाए कि अतिरिक्त कर्मचारियों की जरूरत है या नहीं। पीयू में कुल 5850 पद स्वीकृत हैं। इसमें शिक्षकों के 1500 और 4350 कर्मचारियों के हैं। पीयू ने इन कर्मचारियों के स्वीकृत पद के अलावा 900 अन्य कर्मचारी रख लिए हैं। इसमें 240 क्लर्क, 322 हेल्पर, 129 सिक्योरिटी गार्ड, अकाउंटेंट आदि शामिल हैं। ये सभी कर्मचारी आउटसॉर्सिंग के जरिये यह रखे गए हैं। हालांकि सरकार के आदेश हैं कि आउटसॉर्सिंग के जरिये कर्मचारी रखे जा सकते हैं, लेकिन यहां लगातार संख्या इनकी बढ़ रही है।

इसको लेकर पीयू पर वजन बढ़ रहा है। बड़ी रकम इन कर्मचारियों पर खर्च हो रही है। ऑडिट विभाग ने साफ कहा है कि बड़ी संख्या में कर्मचारियों को रखने से पीयू पर आर्थिक बोझ बढ़ रहा है। यदि इसे समय रहते कंट्रोल नहीं किया गया तो आगे और भी दिक्कतें होंगी। वीसी से कहा है कि इस पर जल्द से जल्द निर्णय लिया जाए। कहा, मैनपावर आडिट करा लिया जाए ताकि यह पता लग सके कि कहां कितने कर्मचारियों की जरूरत है और कहां नहीं।

दस साल की अवधि वाले कर्मियों को नहीं किया स्थायी
दस साल से डीसी रेट पर अपनी सेवाएं दे रहे कर्मचारियों को स्थाई नहीं किया गया है। उनका भी यही कहना है कि एमटीएस आदि कंपनियों के जरिये अतिरिक्त कर्मचारी रखे जा रहे हैं, इस पर रोक लगनी चाहिए। पुराने कर्मचारियों को स्थाई करते हुए उनका सम्मान करना चाहिए। ऐसा करने से पुराने कर्मचारी बेहतर प्रदर्शन कर पाएंगे। तमाम लोग ऐसे हैं जो सेवानिवृत्त हो गए, लेकिन उन्हें स्थाई नहीं किया गया। पुराने कर्मचारी इसको लेकर वीसी को ज्ञापन देने की योजना बना रहे हैं। जरूरत पड़ने पर आंदोलन भी कर सकते हैं।
विज्ञापन

Recommended

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे
LPU

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे

कराएं वसंत पंचमी पर बासर के सरस्वती मंदिर में पूजा, पढ़ाई व प्रतियोगी परीक्षाओं में मिलती है सफलता :29 जनवरी 2020
Astrology Services

कराएं वसंत पंचमी पर बासर के सरस्वती मंदिर में पूजा, पढ़ाई व प्रतियोगी परीक्षाओं में मिलती है सफलता :29 जनवरी 2020

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Gorakhpur

राष्ट्र वंदन उत्सव: देशभक्ति गीतों से दी शहीदों को श्रद्धांजलि, देखें कैंपस की सात खबरें

राष्ट्र वंदन समिति की ओर से आयोजित राष्ट्र वंदन उत्सव के अंतर्गत मंगलवार को बच्चों ने विंध्यवासिनी पार्क के योगा हॉल में एकल व समूह गायन की प्रस्तुति दी।

28 जनवरी 2020

विज्ञापन

अंडर-19 वर्ल्ड कप 2020: ऑस्ट्रेलिया को हरा भारत 9वीं बार सेमीफाइनल में पहुंचा

अंडर-19 वर्ल्ड कप 2020 में ऑस्ट्रेलिया को हराकर भारत 9वीं बार सेमीफाइनल में पहुंच गया है। देखिए रिपोर्ट

28 जनवरी 2020

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us