विज्ञापन

बैग का बोझ कमः महाराष्ट्र-तेलंगाना की तर्ज पर तैयार होगा एजूकेशन सिस्टम, खाका हो रहा तैयार

अनुभव अवस्थी, न्यूज डेस्क, चंडीगढ़ Updated Mon, 03 Dec 2018 03:10 PM IST
ख़बर सुनें
मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से स्टूडेंट्स के बैग का बोझ कम किए जाने का फरमान जारी होने के बाद यूटी प्रशासन ने इस पर अमल करना शुरू कर दिया है। यूटी का शिक्षा विभाग शहर में शिक्षा व्यवस्था को बेहतर करने के लिए महाराष्ट्र और तेलंगाना की तर्ज पर एजूकेशन पैटर्न लागू करेगा। इसके लिए शिक्षा सचिव बीएल शर्मा की ओर से डिपार्टमेंट को एक माह के अंदर दोनों राज्यों की शिक्षा प्रणाली का पूरा खाका तैयार करने के लिए कहा गया है।
विज्ञापन
सब कुछ ठीक रहा तो नए सत्र से यूटी के सरकारी स्कूलों की शिक्षा में बदलाव देखने को मिलेंगे। यह गुणवत्ता परक शिक्षा के हिसाब से टीचर्स और स्टूडेंट्स दोनों के लिए सुविधाजनक होगा। इस संदर्भ में यूटी प्रशासन के एजुकेशन सेक्रेटरी बीएल शर्मा ने बताया कि सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए अगले शैक्षणिक वर्ष में शिक्षा विभाग की तरफ से कई महत्वपूर्ण कदम उठाए जाएंगे।

खास बात यह है कि राज्य की स्कूली शिक्षा को महाराष्ट्र और तेलंगाना की तर्ज पर विकसित किया जाएगा। इसके लिए शिक्षा विभाग को जल्द पूरा खाका तैयार करने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया कि स्कूल नहीं जाने वाले बच्चों को स्कूल तक पहुंचाने के लिए शिक्षा विभाग कई योजनाएं बना रहा है। शिक्षा विभाग स्कूलों में डिजिटल व्यवस्था लागू करने सहित शिक्षकों व स्कूलों के उन्नयन पर जोर दे रहा है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

स्कूल न जाने वाले बच्चों पर नजर

विज्ञापन

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

युवाओं के लिए सरकारी नौकरी का मौका, ये विभाग भरेगा 146 पद

हिमाचल के दस जमा दो पास युवाओं को जेल विभाग में भर्ती होने का सुनहरा मौका है।

12 दिसंबर 2018

विज्ञापन

अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ पर कसा तंज, सुनिए क्या कहा

अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि अगर वो सभी भगवानों की जाति बता दें तो हमारा काम आसान हो जाएगा। इसके आगे उत्तर प्रदेश में सरकार के काम की भी आलोचना की। सुनिए अखिलेश ने इसके आगे क्या कहा।

13 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree