विज्ञापन

पीयू की सुरक्षा को लेकर घमासान, मेंबर बोले- दीवारें ऊंची करने से नहीं रुकेंगी घटनाएं

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Sun, 15 Dec 2019 01:15 PM IST
फाइल फोटो
फाइल फोटो - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
पीयू में शनिवार को हुई सीनेट की मीटिंग में सुरक्षा के मुद्दे को लेकर काफी देर तक माहौल गर्माया रहा। सीनेट में पहली बार किसी मुद्दे को लेकर सभी मेंबर एक दिखाई दिए। सभी का कहना था कि प्रोफेसर की पत्नी के साथ हुई घटना निंदनीय है, लेकिन अब आगे ऐसा न हो इसके लिए पुख्ता इंतजाम किए जाएं।
विज्ञापन
मेंबरों ने कहा कि दीवारें ऊंची करने से काम नहीं चलने वाला, इसके लिए पॉलिसी बनाई जानी चाहिए। वीसी प्रो. राजकुमार और रजिस्ट्रार प्रो. करमजीत सिंह ने कहा कि सुरक्षा को लेकर तेजी से काम चल रहा है। जल्द ही इसके परिणाम सामने दिखाई देंगे। मीटिंग में सबसे पहले मेंबर पाम राजपूत ने यह मुद्दा उठाया। उन्होंने पूरी सुरक्षा व्यवस्था को कटघरे में खड़ा कर दिया और कहा कि बॉटनीकल गार्डन में आने-जाने का समय निर्धारित कर दिया है जो कि गलत है।

दीवारें ऊंची करने की बात सामने आ रही है, इससे भी कुछ नहीं होने वाला। सभी को पूरी तरह सुरक्षा मुहैया कराई जाए। कर्मचारी नेता दीपक कौशिक ने कहा कि सुरक्षा कर्मियों के खाली पद भरे जाएं। इसके लिए एमएचआरडी भी मना नहीं करेगा, सबसे पहले सभी की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम जरूरी हैं, क्योंकि सभी को अपनी जान की परवाह होती है। इस पर सभी मेंबरों ने अपने-अपने सुझाव दिए और गुस्सा भी जाहिर किया। रजिस्ट्रार बोले कि दीवार ऊंची करवाकर वहां सीसीटीवी कैमरे लगेंगे और सुरक्षाकर्मी भी तैनात होंगे। 17 दिसंबर को सुरक्षा को लेकर कमेटी की बैठक होगी, उसमें फैसले लिए जाएंगे।

पूर्व वीसी पर सेक्सुअल हैरासमेंट का मामला बंद किया
पूर्व वीसी पर रिसर्च स्कॉलर की ओर से लगाए गए सेक्सुअल हैरासमेंट के आरोपों के मामले पर कुछ मेंबर ने कहा कि यह मामला चांसलर कार्यालय पहुंच चुका है और वीसी भी अब पीयू में नहीं हैं और इस मामले में साक्ष्यों का भी अभाव है, ऐसे में इसे बंद कर देना चाहिए। इस दौरान पीएचडी डिग्री के लिए यूजीसी के मिनिमम स्टैंडर्ड और प्रोसिजर लागू करने के लिए नियम व रेगुलेशन को मंजूरी दी गई और पीएचडी स्कॉलरशिप व फेलोशिप के नियमों में भी आए सुझावों पर अमल करते हुए प्रस्ताव पास कर दिया गया।
विज्ञापन

Recommended

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे
LPU

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक

विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Gorakhpur

‘अपराजिता’ मुहिम के तहत पुलिस की पाठशाला, आते-जाते कोई करे परेशान तो बताएं, पुलिस आप की दोस्त

‘अपराजिता’ 100 मिलियन स्माइल्स अभियान के तहत पुलिस की पाठशाला का आयोजन शुक्रवार को गोरखनाथ स्थित जेपी एजुकेशन एकेडमी में अमर उजाला फाउंडेशन की ओर से किया गया।

24 जनवरी 2020

विज्ञापन

अमर उजाला से खास बातचीत में बोले परमवीर चक्र विजेता बाना सिंह, भारतीय सेना को युवाओं की जरूरत

अमर उजाला ने परमवीर चक्र विजेता बाना सिंह से खास बातचीत की। परमवीर चक्र विजेता बाना सिंह ने कहा की भारतीय सेना को युवाओं की जरुरत है और हमारे देश के युवाओं को आगे बढ़कर सेना में शामिल होना चाहिए।

24 जनवरी 2020

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us