विज्ञापन
विज्ञापन

रियल एस्टेट क्षेत्र में नियम सख्त होने से 51 फीसदी घटी बिल्डरों की संख्या

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Mon, 08 Jul 2019 10:23 AM IST
fall in number of builders due to tough rules of real estate sector
ख़बर सुनें
भारतीय रियल एस्टेट बाजार समेकन के दौर से गुजर रहा है। डाटा एनालिटिक कंपनी प्रोपइक्विटी का कहना है कि साल-दर-साल बड़ी गिरावट और सख्त नियमों से रियल एस्टेट क्षेत्र के छोटे खिलाड़ी (बिल्डर) खत्म हो रहे हैं। देश के प्रमुख नौ शहरों में 2011-12 की तुलना में आधे से अधिक बिल्डर इस उद्योग से बाहर हो गए या फिर उन्होंने बड़े बिल्डरों से हाथ मिला लिया। ये नौ शहर गुरुग्राम, नोएडा, मुंबई, थाणे, पुणे, बंगलूरू, हैदराबाद, चेन्नई और कोलकाता हैं। 

एक साल में 51 फीसदी घटी बिल्डरों की संख्या

प्रोपइक्विटी की रिपोर्ट में बताया गया है कि इन नौ शहरों में बिल्डरों की संख्या 2017-18 में 51 फीसदी घटकर 1,745 रह गई, जबकि 2011-12 में बिल्डरों की संख्या 3,538 थी। यह छह साल में रियल एस्टेट क्षेत्र में 50 फीसदी से अधिक का समेकन दर्शाता है।

इन शहरों में बिल्डरों की संख्या में 70-80 फीसदी की गिरावट

आंकड़ों के मुताबिक, समीक्षाधीन अवधि के दौरान गुरुग्राम, नोएडा और चेन्नई में बिल्डरों की संख्या में 70-80 फीसदी की गिरावट आई है। कोलकाता, बंगलूरू और हैदराबाद में 60-65 फीसदी की गिरावट देखी गई है। वहीं, थाणे में बिल्डरों की संख्या में 48 फीसदी, मुंबई में 32 फीसदी और पुणे में 19 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। इस समेकन के कारण सभी नौ शहरों में शीर्ष-10 बिल्डरों की बिक्री में इजाफा हुआ है। साथ ही परियोजनाओं के लांच होने की संख्या में भी वृद्धि देखी गई है।

पूंजी डूबने का खतरा कम

रियल एस्टेट क्षेत्र में टाटा, महिंद्रा, गोदरेज, पिरामल और अडानी जैसे बड़े कॉरपोरेट घरानों की एंट्री और रियल्टी कंपनियों की ओर से मकान खरीदारों को समय पर डिलीवरी नहीं करना इस समेकन प्रक्रिया में बड़े उत्प्रेरक का काम कर रहा है। प्रोपइक्विटी के संस्थापक एवं एमडी समीर जसूजा का कहना है कि उपभोक्ता अब बिल्डरों के उत्कृष्ट ट्रैक रिकॉर्ड और गुणवत्ता के आधार पर ही रियल एस्टेट में निवेश कर रहे हैं। बड़े कॉरपोरेट घरानों के आने से मकान खरीदारों की पूंजी डूबने का खतरा कम हो जाएगा।
विज्ञापन
विज्ञापन

Recommended

बायोमेडिकल एवं लाइफ साइंस में लेना है एडमिशन, ये है सबसे नामी संस्था
Dolphin PG

बायोमेडिकल एवं लाइफ साइंस में लेना है एडमिशन, ये है सबसे नामी संस्था

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को
Astrology Services

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं राधा-कृष्ण युगल पूजा, 24 अगस्त को

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2019 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Property

कोर्ट में रजिस्टर कराना होगा किरायानामा, सरकार ने तैयार किया मॉडल ड्रॉफ्ट

अब घर या दुकान किराये पर लेने से पहले किरायानामा को कोर्ट में रजिस्टर कराना होगा। कोर्ट में किरायेनामे को रजिस्टर कराने के बाद ही व्यक्ति उस घर या फिर दुकान का प्रयोग कर सकेगा।

20 अगस्त 2019

विज्ञापन

केले के रेशे से बने इस पैड को 122 बार धोकर कर सकते हैं इस्तेमाल

आईआईटी दिल्ली के दो छात्रों ने केले के फाइबर से सेनेटरी पैड बनाने की तकनीक तैयार की है। इस पैड को 122 बार धोकर दो साल तक प्रयोग किया जा सकता है। बार-बार प्रयोग के बाद भी इससे किसी प्रकार के इंफेक्शन का खतरा नहीं है।

22 अगस्त 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree