विज्ञापन
विज्ञापन

दोहरा लाभ कमाने का मौका, त्योहारों पर खर्च के लिए EMI से बेहतर है एसआईपी में निवेश

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Wed, 23 Oct 2019 09:18 AM IST
invest in SIP for more profit than taking EMI during festivals
ख़बर सुनें
अक्सर लोग बड़ी खरीदारी के लिए त्योहारों का इंतजार करते हैं और नकदी के अभाव में इस खर्च को पूरा करने के लिए उन्हें या तो क्रेडिट कार्ड पर निर्भर होना पड़ता है अथवा कर्ज लेते हैं। दोनों ही परिस्थितियों में ईएमआई चुकाने के लिए बैंक को भारी-भरकम ब्याज चुकाना होता है। इसके उलट अगर खरीदारी के लिए योजना बनाएं और पहले ही एसआईपी के जरिये निवेश शुरू कर दें तो ग्राहक दोहरा लाभ उठा सकते हैं। 
विज्ञापन
दरअसल, त्योहारों की शुरुआत होने के साथ ही ई-कॉमर्स, स्टोर और खुदरा दुकानों पर आकर्षक ऑफर व छूट की भरमार भी शुरू हो गई है। बैंक भी त्योहारी खर्च के लिए आसानी से कर्ज दे रहे हैं। साथ ही अलग-अलग क्रेडिट और डेबिट कार्ड पर भी कई तरह की छूट की पेशकश की जा रही है। त्योहारी सीजन में खर्च बढ़ने के साथ हमारे पास नकदी की कमी हो जाती और बड़ी खरीदारी के लिए क्रेडिट कार्ड या कर्ज पर निर्भर होना पड़ता है, जो न चाहते हुए भी आपको कर्ज के जाल में उलझा देते हैं। इसके उलट निवेश की आदत से आपको दोहरा लाभ मिल सकता है।

यह भी पढ़ें: त्योहारों से पहले मोदी सरकार बेच रही है इतना सस्ता सोना, फटाफट उठाएं लाभ

ईएमआई और एसआईपी में अंतर

आपके मोटे खर्च को वसूलने के लिए बैंक कुल राशि को ईएमआई में बदल देते हैं और लंबे समय तक उपभोक्ता से मोटा ब्याज वसूलते हैं। इससे आपकी जरूरत उस समय तो पूरी हो जाती है, लेकिन लंबी अवधि तक आप ईएमआई के जाल में फंसे रह जाते हैं। दूसरी ओर, अगर उपभोक्ता सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (सिप) के जरिये म्यूचुअल फंड में उतनी ही राशि हर महीने निवेश करे तो जितने समय की ईएमआई करानी है, उतनी ही अवधि में बड़ी राशि एकत्र हो जाएगी। यह कदम न सिर्फ आपको कर्ज के बोझ से बचाएगा, बल्कि आपके निवेश पर ब्याज के रूप में मोटा रिटर्न भी मिलेगा। सबसे जरूरी बात यह है कि ईएमआई चुकाने के लिए भी आपको आमदनी में से निश्चित राशि खर्च करनी होगी और निवेश के लिए भी यही राशि लगा सकते हैं। 

ऐसे समझें पूरा गणित

मान लीजिए आप दिवाली पर आईफोन का नया मॉडल खरीदना चाहते हैं, जिसकी कीमत करीब 1.20 लाख रुपये है। इसके लिए क्रेडिट कार्ड से भुगतान किया गया, बैंक से सालाना 12 फीसदी की दर से फाइनेंस कराया और भुगतान के लिए 36 महीने की ईएमआई बनाई गई तो हर महीने करीब 4,160 रुपये का भुगतान करना होगा। ऐसे में आपका कुल भुगतान करीब 1.50 लाख रुपये आएगा। यानी इस खरीद पर बैंक ने आपसे ब्याज के रूप में 30 हजार रुपये अधिक वसूले। वहीं, इसी राशि को आप 36 महीने तक एसआईपी के जरिये निवेश करते हैं, तो सालाना 12 फीसदी ब्याज मिलेगा और कुल पूंजी 1.75 लाख रुपये की तैयार हो जाएगी। इस तरह आपको दोहरा लाभ कमाने का मौका मिलेगा। 
विज्ञापन

Recommended

महिलाओं के लिए स्वच्छता क्यों आवश्यक है?
NIINE

महिलाओं के लिए स्वच्छता क्यों आवश्यक है?

विनायक चतुर्थी पर सिद्धिविनायक मंदिर(मुंबई ) में भगवान गणेश की पूजा से खत्म होगी पैसों की किल्लत 30-नवंबर-2019
Astrology Services

विनायक चतुर्थी पर सिद्धिविनायक मंदिर(मुंबई ) में भगवान गणेश की पूजा से खत्म होगी पैसों की किल्लत 30-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2019 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Business Diary

UIDAI का तोहफा, अब चुटकियों में होगा आधार में बदलाव, बस करना होगा ये काम

आम जनता को ज्यादा से ज्यादा सेवाएं मुहैया कराने के लिए आधार कार्ड जारी करने वाली संस्था भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने ट्वीट कर ग्राहकों को अहम जानकारी दी है।

22 नवंबर 2019

विज्ञापन

1 दिसंबर से सभी राष्ट्रीय राजमार्गों पर फास्टैग की सुविधा, अब टोल प्लाजा पर अब नहीं लगेगा जाम

1 दिसंबर से आपको टोल प्लाजा पर टोल टैक्स देने के लिए रुकने की जरूरत नहीं क्योंकि अब सभी एनएच पर फास्टैग की सुविधा मिलेगी। यहां जानिए क्या है फास्टैग और कैसे करेगा ये काम।

22 नवंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election