विज्ञापन
विज्ञापन

100 दिन में एक करोड़ नए किसान क्रेडिट कार्ड जारी करेगी सरकार

अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली Updated Fri, 14 Jun 2019 06:06 AM IST
Government will issue 10 million new Kisan credit cards in the next 100 days
ख़बर सुनें
आगामी रबी की फसल की बुवाई के दौरान किसानों को बैंक से कर्ज लेने में अप परेशानी नहीं होगी। इसके लिए सरकार ने आगामी 100 दिनों के अंदर कम-से-कम एक करोड़ किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) उपलब्ध कराने का फैसला लिया है। किसानों को आसानी से यह कार्ड मिल सके, इसके लिए बैंकों को आवेदन मिलने के दो सप्ताह के अंदर न सिर्फ यह कार्ड जारी करने को कहा गया है बल्कि उन्हें विशेष शिविर लगाकर भी इसके वितरण का आदेश दिया गया है। इस कार्य में केंद्र ने सभी राज्यों से सहयोग मांगा है।
विज्ञापन
विज्ञापन
कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बृहस्पतिवार को इस संबंध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी राज्यों के कृषि मंत्रियों से बातचीत की। इस दौरान प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, लघु एवं सीमांत किसानों के लिए किसान पेंशन योजना और कुछ अन्य योजनाओं पर चर्चा हुई। हालांकि, सबसे अधिक जोर किसान क्रेडिट कार्ड पर रहा। उन्होंने 100 दिनों के अंदर केंद्र सरकार के इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए राज्यों से सहयोग मांगा। वर्तमान में देश में करीब 6.95 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड ही सक्रिय हैं।
 

बैंकों को तेजी से काम करने के निर्देश

सरकार ने बैंकों से इस दिशा में तेजी से काम करने को कहा है। इससे पहले इस संबंध में कृषि एवं वित्त मंत्रालय के उच्च अधिकारियों की बैठक हो चुकी है। इस योजना से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि अब भी करोड़ों किसानों के पास खेती करने के लिए सांस्थानिक वित्त की उपलब्धता नहीं है। वे मजबूरीवश सूदखोरों या महाजनों के चंगुल में फंसते हैं। इसलिए सरकार चाहती है कि जिस तरह फाइनेंशियल इंक्लूजन के जरिए आम लोगों का खाता खुलवाया गया, उसी तरह किसानों को भी केसीसी जारी किया जाए। 

ग्रामीण इलाकों में शिविर लगाकर कार्ड बांटेंगे बैंक

वित्त मंत्रालय के एक अधिकारी ने बातया कि बैंकों को ग्रामीण और कस्बाई इलाकों में शिविर लगाकर किसान क्रेडिट कार्ड बनाने का अभियान चलाने को कहा गया है। शिविर का आयोजन कैसे होगा, यह जिला स्तरीय बैंकर्स कमेटी (डीएलबीसी) तय करेगा। यही कमेटी तिथिवार कार्यक्रम भी बनाएगी कि किस गांव में कब शिविर लगाना है। उनमें कौन-कौन बैंक शामिल होंगे। उनका कहना है कि इसके लिए संबंधित किसान का आधार संख्या अनिवार्य रूप से लिया जाएगा।

केसीसी से चार फीसदी ब्याज पर लोन

किसान यदि महाजन से उधार लेता है तो उसे सालाना करीब 24 फीसदी ब्याज चुकाना पड़ता है, लेकिन केसीसी के जरिए लोन लेने पर उसे सालाना महज चार फीसदी ही ब्याज देना होता है। उदाहरण के लिए, यदि इस समय बैंक फसली ऋण पर सालाना नौ फीसदी सलाना ब्याज वसूलते हैं तो किसानों को सिर्फ चार फीसदी ब्याज ही देना होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि शुरू में ही ब्याज में दो फीसदी की सब्सिडी मिल जाती है। उसके बाद यदि किसान समय पर ऋण का भुगतान करते हैं तो उन्हें ब्याज में तीन फीसदी की और छूट दी जाती है। 
 

Recommended

'अभिरुचि' एक नई पहल जो बना रही है छात्रों का भविष्य
Invertis university

'अभिरुचि' एक नई पहल जो बना रही है छात्रों का भविष्य

लंबी आयु और अच्छी सेहत के लिए इस सावन महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक - 22/ जुलाई/2019
Astrology

लंबी आयु और अच्छी सेहत के लिए इस सावन महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक - 22/ जुलाई/2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2019 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Business

सरकार ने एयर इंडिया से सभी नियुक्ति और पदोन्नति रोकने को कहा

निजीकरण की बातों के बीच अब सरकार ने एयर इंडिया से सभी नियुक्ति और पदोन्नति रोकने को कहा है।

21 जुलाई 2019

विज्ञापन

यूपी की जेल होगी पूरी तरह सुरक्षित, देखिए अमर उजाला से बातचीत में क्या बोले डीजी जेल आनंद कुमार

पिछले कई दिनों से यूपी से क्राइम की एक के बाद एक खबरें सामने आ रही हैं। कई जेलों के अंदर अपराधियों की पार्टी करने की तस्वीरें भी सामने आईं। प्रदेश की लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति को लेकर अमर उजाला ने खास बातचीत की डीजी जेल आनंद कुमार से।

21 जुलाई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree