पांच ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी: भारतीय अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने दुबई बना प्लेटफॉर्म, एक्सपो 2020 में 192 देश ले रहे हिस्सा

दुबई से आशीष तिवारी Published by: Harendra Chaudhary Updated Sat, 25 Sep 2021 07:43 PM IST

सार

दुबई में इंडियन पैवेलियन में मौजूद यूएई के राजदूत पवन कपूर ने बताया कि छह महीने तक चलने वाले दुनिया के सबसे बड़े एक्सपो में भारत की ओर से दुनिया के तमाम मुल्कों से बड़े बिजनेस एमओयू साइन होने वाले हैं। एक्सपो की शुरुआत के लिए भारत के कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्टर पीयूष गोयल एक नवंबर को दुबई में मौजूद हैं।
दुबई एक्सपो 2020
दुबई एक्सपो 2020 - फोटो : Amar Ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

कोरोना महामारी ने दुनिया को आर्थिक रूप से बहुत पीछे कर दिया, लेकिन अब इसी पिछड़ी हुई अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए पूरी दुनिया एक बार फिर से एकजुट हुई है। कोविड के बाद पहली बार दुनियाभर के 192 मुल्क दुबई में एक्सपो 2020 में जुट रहे हैं। यहीं से भारत भी अपनी पांच ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था के नए पंखों को आयाम देगा। इसके लिए सारी तैयारियां मुकम्मल हो चुकी हैं। भारत की ओर से दुनिया के कई मुल्कों के साथ बिजनेस करार भी होगा। छह महीने तक चलने वाले दुबई के इस एक्सपो की शुक्रवार को शुरुआत हुई। इस दौरान अपने वर्चुअल संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि एक्सपो 2020 की मेन थीम कनेक्टिंग माइंड्स, क्रिएटिंग द फ्यूचर है। इसकी भावना भारत के प्रयासों में भी दिखाई देती है, क्योंकि हम एक नया भारत बनाने के लिए आगे बढ़ते हैं।
विज्ञापन

दुबई में इंडियन पैवेलियन में मौजूद यूएई के राजदूत पवन कपूर ने अमर उजाला से हुई बातचीत में बताया कि दुबई में एक अक्तूबर से शुरू होने वाले दुनिया के सबसे बड़े एक्सपो को भारत अपनी पांच ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था के लिए सबसे बड़े प्लेटफार्म के तौर पर देख रहा है। छह महीने तक चलने वाले दुनिया के सबसे बड़े एक्सपो में भारत की ओर से दुनिया के तमाम मुल्कों से बड़े बिजनेस एमओयू साइन होने वाले हैं। एंबेसडर कपूर ने बताया कि दुबई से पूरी दुनिया को एक बहुत बड़ी इकोनॉमिक ग्रोथ मिलने वाली है। पवन कपूर के मुताबिक भारत के लिए यह एक मील का पत्थर साबित होगा, बल्कि दुनियाभर के बहुत सारे मुल्क हमारे देश में निवेश करने के लिए भी आगे आएंगे। वह कहते हैं कि इस एक्सपो की शुरुआत में ही कई देशों के साथ एमओयू साइन होने की बातचीत शुरू हो चुकी जो भारत के लिए बहुत ही सकारात्मक कदम है।


फिक्की के सहयोग से होने वाले एक्सपो 2020 में मौजूद फिक्की के सेक्रेटरी जनरल दिलीप चेनॉय ने बताया कि भारत की पांच ट्रिलियन इकोनॉमी के टारगेट को पूरा करने का यह सबसे बड़ा प्लेटफार्म है। सेक्रेटरी जनरल के मुताबिक इंडियन पवेलियन में भारत के कई राज्य हिस्सेदारी कर रहे हैं। यह सभी राज्य दुनियाभर के निवेशकों को न सिर्फ अपनी योजनाओं के बारे में बताएंगे बल्कि बिजनेस प्रक्रिया से भी उनको अवगत कराएंगे। उनके मुताबिक फिक्की इसमें सबसे बड़ा सहयोगी पार्टनर बनकर भारत की पांच ट्रिलियन इकोनॉमी के टारगेट को पूरा करने में ना सिर्फ मदद करेगा बल्कि उसको आगे ले जाने के हर संभव प्रयास भी करता रहेगा।

भारतीय पुरातन चिकित्सा पद्धति भी बनी हिस्सा

इंडियन पवेलियन की डायरेक्टर जी कौर ने बताया कि उनके पवेलियन को भारत के रंग रूप के हिसाब से ढाला गया है। ग्राउंड फ्लोर पर साइंस और इंडियन ट्रेडीशन का मिक्स रूप दिया गया है। इस फ्लोर में भारत की अंतरिक्ष में बढ़ती ताकत के बारे में बताया गया है और भारतीय पुरातन चिकित्सा पद्धति के साथ-साथ योगासन और ग्रीन इंडिया का पूरा कॉन्सेप्ट तैयार किया गया है। फिक्की के डायरेक्टर जनरल दिलीप और पवेलियन डायरेक्टर जी कौर ने बताया की पहले फ्लोर पर आर्ट एंड कल्चर को समाहित किया गया है। जबकि दूसरे फ्लोर पर भारत के सभी राज्यों को स्थान दिया गया है, ताकि वह निवेशकों को अपनी और आकर्षित कर सके और अपनी योजनाओं से उनको अवगत करा सकें। जबकि इंडियन पवेलियन के तीसरे फ्लोर पर मेक इन इंडिया काॉन्सेप्ट को पूरी तरीके से समझाया गया है। यूएई में भारत के राजदूत पवन कपूर कहते हैं कि एक्सपो 2020 में दुनियाभर के निवेशकों को आकर्षित करने के लिए इंडियन पवेलियन पूरी तरीके से तैयार है। इस दौरान राज्यों की अपनी सहभागिता के साथ-साथ केंद्र सरकार की पूरी मदद मिल रही है। उम्मीद की जा रही है कि इससे भारत की अर्थव्यवस्था को और ज्यादा गति मिलेगी।

दुबई के आउटर में तैयार किया गया है दस किलोमीटर में एक्सपो

दुबई एक्सपो की घोषणा 2013 में कर दी गई थी। इस एक्सपो की भव्यता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दुबई ने अपने 10 किलोमीटर क्षेत्रफल में बनने वाले एक्सपो का विस्तार करते हुए इसको दुबई का एक नया जिला घोषित कर दिया है। दुबई एडमिनिस्ट्रेशन के टाउन प्लानिंग विभाग के असिस्टेंट चीफ टाउन प्लानर महबूब अल कुरेशी ने अमर उजाला से बताया कि दुबई म्युनिसिपल कारपोरेशन की ओर से एक्सपो साइट को "डिस्ट्रिक 2020" के नाम से नया जिला तैयार कर दिया गया है।

वे कहते हैं कि इस एक्सपो की घोषणा के बाद से ही यहां पर काम शुरू कर दिया गया था। तकरीबन सात साल पहले शुरू हुए इस काम को कोविड के दौरान जरूर रोका गया लेकिन अब यह पूरी तरीके से बनकर तैयार हो चुका है। यूएई में भारत के राजदूत पवन कपूर कहते हैं की इंडियन पवेलियन अब इस एक्सपो साइट पर हमेशा के लिए बना रहेगा। कपूर ने भी बताया कि इस साइट को डिस्ट्रिक्ट 2020 के नाम से दुबई में नया जिला घोषित किया है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00