Covid-19: जन्म तिथि के प्रमाण के रूप में आधार कार्ड को स्वीकार करेगा ईपीएफओ

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: संजीव कुमार झा Updated Mon, 06 Apr 2020 12:53 AM IST
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) जन्म तिथि के तौर पर आधार कार्ड को ऑनलाइन स्वीकार करेगा ताकि खाते के केवाईसी (अपने ग्राहक को जानो) अनुपालन को सुनिश्चित किया जा सके।
विज्ञापन


श्रम मंत्रालय ने रविवार को कहा, कोविड-19 महामारी को देखते हुए ऑनलाइन सेवाओं की पहुंच व उपलब्धता बढ़ाने के लिए ईपीएफओ ने अपने क्षेत्रीय कार्यालयों को संशोधित निर्देश जारी किए हैं।


इसके तहत पीएफ खाताधारक ईपीएफओ रिकॉर्ड में अपनी जन्म तिथि आसानी से सुधार सकेंगे। इससे यह सुनिश्चित होगा कि यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) केवाईसी का अनुपालन करता है।

आधार कार्ड में अंकित जन्म तिथि को अब वैध साक्ष्य माना जाएगा, लेकिन इसमें शर्त है कि तारीखों में अंतर तीन साल से कम हो। इसके लिए खाताधारक ऑनलाइन अनुरोध कर सकते हैं। इससे ईपीएफओ भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) के साथ तत्काल ऑनलाइन जन्म तिथि का सत्यापन कर सकेगा। 

मंत्रालय ने कहा, इससे महामारी व लॉकडाउन के कारण भविष्य निधि के सदस्यों को अपने खाते से पैसा निकालने को लेकर ऑनलाइन आवेदन में कोई समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00