विज्ञापन
विज्ञापन

इंफोसिसः 6.5 साल में पहली बार 16 फीसदी टूटा शेयर, निवेशकों के डूबे 55 हजार करोड़ रुपये

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 22 Oct 2019 06:04 PM IST
infosys share down by 16 percent made investor loosing 55k crore rupees
ख़बर सुनें

खास बातें

  • व्हिसलब्लोअर की शिकायत का असर, शेयर में साढ़े छह साल की बड़ी गिरावट
  • सीईओ और सीएफओ पर राजस्व और मुनाफा बढ़ा-चढ़ाकर दिखाने के लगे आरोप 
  • बड़े सौदों में समीक्षाओं और मंजूरियों को दरकिनार करने के भी आरोप
  • इंफोसिस कर रही मामले की जांच, 16 फीसदी टूटा शेयर 
देश की दूसरी बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी इंफोसिस के सीईओ और सीएफओ पर राजस्व और मुनाफा बढ़ा-चढ़ाकर दिखाने के आरोपों से कंपनी के शेयर में लगभग साढ़े छह साल की बड़ी गिरावट दर्ज की गई। इंफोसिस का शेयर लगभग 16.21 फीसदी कमजोर होकर 643.30 रुपये पर आ गया। यह शेयर में अप्रैल, 2013 के बाद की सबसे बड़ी गिरावट है। इससे कंपनी की बाजार पूंजी में लगभग 55 हजार करोड़ रुपये की कमी देखने को मिली।
विज्ञापन
दिन के कारोबार के दौरान इंफोसिस ने लगभग 17 फीसदी की गिरावट के साथ 638.30 रुपये का निचला स्तर छूआ। इंफोसिस चेयरमैन नंदन नीलेकणी ने एक बयान में कहा कि कंपनी की ऑडिट समिति आरोपों पर एक स्वतंत्र जांच कराएगी। 

कंपनी ने इस मसले पर स्वतंत्र आंतरिक ऑडिटर्स ईवाई के साथ बातचीत शुरू कर दी है। नीलेकणी ने कहा कि विधि कंपनी शार्दुल अमरचंद मंगलदास एंड कंपनी को स्वतंत्र जांच का काम सौंप दिया गया है। इससे पारेख और सीएफओ रॉय को अलग रखा गया है। लगभग दो साल पहले भी कंपनी पर प्रशासनिक खामियों के आरोप लगे थे, जिसके चलते तत्कालीन सीईओ विशाल सिक्का को इस्तीफा देना पड़ा था। इसके बाद ही वर्ष 2018 में पारेख ने सीईओ का पद संभाला था।

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के प्रमुख (खुदरा शोध) दीपक जैसानी ने कहा, ‘कंपनी प्रशासन के मामले में इंफोसिस को बेहतर कंपनी माना जाता रहा है। दो साल में दो शिकायतों से निवेशकों का भरोसा अस्थायी तौर पर हिल गया है।’

बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया मुनाफा

गौरतलब है कि खुद को ‘नैतिक कर्मचारी’ बताने वाले कुछ व्हिशलब्लोअर्स के एक समूह ने इंफोसिस के सीईओ सलिल पारेख पर मुनाफा घटने की आशंका से समीक्षाओं और मंजूरियों को दरकिनार करने का आरोप लगाया। इसका कंपनी के शेयर पर नकारात्मक असर पड़ा। इस पूरे मामले को लेकर व्हिसलब्लोअर ने 20 सितंबर को और अमेरिकी रेग्युलेटर यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन को 27 सितंबर को पत्र लिखा। 

अरबों डॉलर के सौदों में नहीं हुई कमाई

शिकायत के मुताबिक, ‘पिछली कुछ तिमाहियों के दौरान हुईं अरबों डॉलर के सौदों में कंपनी को कोई मार्जिन नहीं मिला।’ इसका मतलब है कि कंपनी को इन सौदों से कोई मुनाफा नहीं हुआ। इसके साथ ही बेंगलूरू की कंपनी ने मुनाफे को बढ़ा-चढ़ाकर पेश करने के लिए वीजा लागत जैसे खर्चों को खाते में शामिल नहीं किया। साथ ही एक सौदे में 5 करोड़ डॉलर के अग्रिम भुगतान के वापस आने को दर्ज नहीं किए जाने के लिए भी दबाव बनाया गया, जो लेखा प्रक्रियाओं के विपरीत है। इस मसले पर सीईओ सलिल पारेख की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली।

4019 करोड़ का हुआ था मुनाफा

जुलाई-सितंबर, 2019 तिमाही में कंपनी का मुनाफा 5.8 फीसदी बढ़कर 4,019 करोड़ रुपये हो गया था। वहीं कंपनी ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए गाइडेंस बढ़ाकर 9-10 फीसदी कर दिया था। इससे पहले यह 8.5-10 फीसदी के आसपास रहा था। वहीं का राजस्व 7 फीसदी बढ़कर 23,255 करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया था।
विज्ञापन

Recommended

सफलता क्लास ने सरकारी नौकरियों के लिए शुरू किया नया फाउंडेशन कोर्स
safalta

सफलता क्लास ने सरकारी नौकरियों के लिए शुरू किया नया फाउंडेशन कोर्स

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019
Astrology Services

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2019 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Corporate

Vodafone-Idea को हुआ कॉर्पोरेट इतिहास में सबसे बड़ा 50,921 करोड़ रुपये का घाटा

समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) की वजह से वोडाफोन आइडिया को दूसरी तिमाही में 50, 921 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है।

14 नवंबर 2019

विज्ञापन

'मरजावां' के स्टार कास्ट से खास बातचीत, सिद्धार्थ ने बताई फिल्म की खासियत

सिद्धार्थ मल्होत्रा और तारा सुतारिया की फिल्म मरजावां 15 नवंबर को रिलीज होने वाली है। लेकिन उससे पहले फिल्म की स्टार कास्ट से खास बातचीत।

14 नवंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election