विज्ञापन
विज्ञापन

सीईओ संवाद-नई वाहन पॉलिसी में नीति, नीयत और न्याय का हो मिश्रण

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Mon, 17 Jun 2019 07:03 AM IST
y s guleria
y s guleria - फोटो : Social Media
ख़बर सुनें
भारतीय मोटर वाहन बाजार में पिछले साल से आई सुस्ती के कारण दोपहिया वाहन उद्योग भी परेशानी से गुजर रहा है। सरकार ने कहा है कि 2025 से सिर्फ 150 सीसी क्षमता वाले ई-दोपहिया वाहनों की बिक्री होगी। ऐसे में दोपहिया बनाने वाली देश की दूसरी बड़ी कंपनी होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया लिमिटेड (एचएमएसआई) अपने भविष्य के निवेश कार्यक्रमों की समीक्षा पर विचार कर रही है। इन विषयों पर एचएमएसआई के सीनियर वीपी (सेल्स एंड मार्केटिंग) वाई एस गुलेरिया से बातचीत के अंश। ब्यूरो
विज्ञापन
विज्ञापन
घरेलू मोटर वाहन बाजार में सुस्ती है और आगामी अप्रैल से बीएस-6 मानक लागू हो रहे हैं। ऐसे में एचएमएसआई की निवेश की क्या रणनीति होगी?

मोटर वाहन बाजार में सुस्ती और बीएस-6 मानक की ओर उठे कदम से सभी कंपनियों पर असर पड़ा है। लेकिन हम अपने गुजरात प्लांट में करीब 600 करोड़ रुपये के निवेश से जो नया प्रोडक्शन लाइन लगा रहे हैं, उस पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। हां... नए निवेश के फैसले पर हम सरकार की नई नीति की प्रतीक्षा करेंगे और उसके हिसाब से ही निर्णय लेंगे।

सरकार ने कहा है कि अप्रैल, 2023 से सिर्फ ई-तिपहिया और अप्रैल, 2025 से 150 सीसी तक की श्रेणी में सिर्फ ई-दोपहिया की बिक्री होगी। इसका कंपनी पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

हमें भी इस बारे में मीडिया से ही जानकारी मिली है। इस बारे में कोई औपचारिक नीति नहीं बनी है। लेकिन, मैं कहना चाहूंगा कि यदि इस तरह की नीति बनती है तो उसमें हमारा भी पक्ष सुना जाए। मुझे तो लगता है कि कोई भी पॉलिसी तभी सफल होती है, जब उसमें नीति, नीयत और न्याय तीनों का सम्मिश्रण हो।

होंडा के पास ई-वाहन तकनीक है। फिर उसे यहां लाने में परेशानी क्या है? 

यहां कोई भी तकनीक लाने में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं है। लेकिन, यहां सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि उस तकनीक की यहां कीमत क्या होगी। भारत एक ऐसा बाजार है, जहां ग्राहक कीमत के बारेे में बेहद संवेदनशील होते हैं। किसी भी नए उत्पाद को यहां लाने से पहले उसकी कीमत और यहां के ग्राहक उसे खरीद सकते हैं या नहीं, उस पर भी विचार करना जरूरी है।

इस साल मोटर वाहनों के लिए बाजार ठीक नहीं रहा है। स्थितियां कब तक बेहतर होने की उम्मीद है?

उम्मीद पर ही दुनिया कायम है। हमें लगता है कि जनवरी-मार्च तिमाही में जो कुछ हुआ, उससे अगले कुछ महीने में निजात मिलेगी। मानसून सामान्य रहा तो त्योहारी मौसम से पहले ही बाजार में स्थिति में सुधार आने की उम्मीद है। 

नई सरकार वित्त वर्ष 2019-20 के लिए बजट पेश करने वाली है। इससे होंडा की क्या अपेक्षा है?

बजट में हम लोगों की तरफ से सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर (सियाम) ने सरकार को प्रतिवेदन दे दिया है। बजट से आम आदमी की तरह उद्योग जगत को भी कुछ-न-कुछ बेहतरी की ही उम्मीद है। हम भी चाहते हैं कि मोटर वाहन क्षेत्र को 28 फीसदी जीएसटी से राहत मिले। देखिए... दोपहिया वाहन कभी  विलासिता की वस्तु रही होगी , लेकिन आज तो यह आवश्यकता है। इस पर 18 फीसदी की दर से ही जीएसटी वसूली हो तो बेहतर होगा।

Recommended

'अभिरुचि' एक नई पहल जो बना रही है छात्रों का भविष्य
Invertis university

'अभिरुचि' एक नई पहल जो बना रही है छात्रों का भविष्य

लंबी आयु और अच्छी सेहत के लिए इस सावन महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक - 22/ जुलाई/2019
Astrology

लंबी आयु और अच्छी सेहत के लिए इस सावन महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक - 22/ जुलाई/2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2019 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Business

फ्लैट खरीदारों के हित में असीम शक्ति का प्रयोग करेगा सुप्रीम कोर्ट, अनुच्छेद 142 का हो सकता इस्तेमाल

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर जेपी इंफ्राटेक के 21 हजार से अधिक होम बायर्स की परेशानी सुलाझने का प्रयास नहीं किया गया तो उसे संविधान के अनुच्छेद-142 के तहत उसे होम बायर्स के हितों की रक्षा करने की असीम शक्ति है।

12 जुलाई 2019

विज्ञापन

मुंबई में कांग्रेस नेता का हाईवोल्टेज ड्रामा, अस्पताल में डॉक्टर और पुलिस से भिड़ीं यशोमती ठाकुर

कांग्रेस नेता यशोमती ठाकुर ने शुक्रवार को सेंट जॉर्ज अस्पताल पहुंचकर खूब हंगामा किया। यहां वो पुलिस और डॉक्टर से भिड़ गईं। कांग्रेस विधायक श्रीमंत पाटिल से मिलने की बात पर यशोमती ठाकुर अड़ गईं।

20 जुलाई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree