विज्ञापन
विज्ञापन

वोडा-Idea को झटका, आयकर विभाग ने 7000 करोड़ का रिफंड देने से किया इंकार

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 19 Nov 2019 08:43 PM IST
vodafone-idea needs 7k crore tax refund, income tax department becomes hesitant
ख़बर सुनें
देश की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी वोडाफोन-आइडिया की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। 50 हजार करोड़ से अधिक का घाटा दर्ज करने के बाद अब आयकर विभाग का भी कंपनी पर 7000 करोड़ रुपये का बकाया है, जो उसने रिफंड के नाम पर पिछले कई सालों में वसूला था। विभाग ने कंपनी से कहा है कि इसे सरकारी देनदारियों की भरपाई करने के लिए प्रयोग में लाया जाएगा। 

नहीं देगी रिफंड

आयकर विभाग ने साफ कह दिया है कि कंपनी को करीब 44150 करोड़ रुपये सरकार को देना है। सात हजार करोड़ जो विभाग को रिफंड के नाम पर कंपनी को देने हैं, उनका इस्तेमाल इस बकाए को जमा करने के लिए किया जा सकता है। वोडाफोन-आइडिया को आयकर विभाग के मुंबई कार्यालय से एक हजार करोड़ रुपये और दिल्ली कार्यालय से करीब छह हजार करोड़ रुपये मिलने हैं। हालांकि कंपनी ने विभाग से गुजारिश की है कि वो इस रिफंड को दें दे, क्योंकि इसके लिए कई हाईकोर्ट और अपीलीय प्राधिकरण भी उनके पक्ष में फैसला दे चुके हैं। 

वित्त, दूरसंचार मंत्रालय लेंगे फैसला

कंपनी को 7000 करोड़ रुपये देने हैं या नहीं, इसके लिए आयकर विभाग ने वित्त और दूरसंचार मंत्रालय से कहा है कि इस मसले पर सलाह करके जल्द फैसला लें।  
विज्ञापन
हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने वोडाफोन आइडिया व एयरटेल को झटका दिया था। कोर्ट ने कहा था कि इन कंपनियों को समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) का भुगतान करना होगा, जिसके बाद टेलीकॉम कंपनियों को बड़ा झटका लगा है। लेकिन अब वोडाफोन आइडिया की एजीआर संबंधी 44,200 करोड़ रुपये की देनदारी में और बढ़ोतरी हो सकती है, जिससे कंपनी को अतिरिक्त प्रोविजनिंग करनी पड़ेगी। साथ ही वोडाफोन आइडिया की बैलेंस शीट पर भी दबाव बढ़ेगा।

देनदारी में हो सकती है बढ़ोतरी

इस एजीआर संबंधित देनदारी में बढ़ोतरी हो सकती है। ब्रोकरेज फर्म ने कहा है कि कंपनी ने टेलीकॉम डिपार्टमेंट से मिले नोटिस के आधार पर एजीआर की मूल रकम के 11,100 करोड़ रुपये होने का अनुमान लगाया है। वहीं, पिछले 2-3 साल का अनुमान कंपनी ने खुद लगाया है। ब्रोकरेज फर्म क्रेडिट सुइस के अनुसार, वोडाफोन आइडिया की एजीआर संबंधित देनदारी 54,200 करोड़ रुपये रह सकती है। ऐसे में टेलीकॉम कंपनी को 10,100 करोड़ रुपये की अतिरिक्त प्रोविजनिंग एजीआर के लिए करनी पड़ेगी। सुप्रीम कोर्ट ने कंपनी को तीन महीने के अंदर इस रकम का भुगतान करने का आदेश दिया है।

कंपनी को हुआ 50,921 करोड़ का घाटा

वोडाफोन आइडिया को दूसरी तिमाही में 50, 921 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। इससे पहले पिछले साल की दूसरी तिमाही में कंपनी को 4,947 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। यह भारत के कॉर्पोरेट इतिहास में अभी तक का सबसे बड़ा तिमाही घाटा है।
विज्ञापन

Recommended

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश
Dholpur Fresh

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश

नएवर्ष में कराएं महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का एक माह तक जलाभिषेक, होगी परिवारजनों के अच्छे स्वास्थ्य की प्राप्ति
Astrology Services

नएवर्ष में कराएं महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का एक माह तक जलाभिषेक, होगी परिवारजनों के अच्छे स्वास्थ्य की प्राप्ति

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2019 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Business Diary

बजट 2020 के तैयारियां तेज, कल से वित्त मंत्री शुरू करेंगी प्री-बजट बैठक

16 दिसंबर से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण विभिन्न पक्षों के साथ प्री-बजट बैठकों का सिलसिला शुरू करने जा रही हैं।

15 दिसंबर 2019

विज्ञापन

16 दिसंबर 2019 का दिन इन राशि वालों के लिए है बेहद खास

16 दिसंबर का दिन आपके लिए कैसा रहने वाला है और क्या इस दिन कोई रुका कार्य होने की उम्मीद है। इसके साथ ही क्या कहती है आपकी राशि देखिए यहां।

15 दिसंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls
Safalta

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us