विज्ञापन
विज्ञापन

तेजस एक्सप्रेस के यात्रियों को मिलेंगी ये खास सुविधाएं, टिकट के साथ ही बुक कर सकेंगे कैब, होटल

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Wed, 11 Sep 2019 06:04 PM IST
Tejas express
Tejas express
ख़बर सुनें
अगले महीने से शुरू होने वाली देश की पहली निजी ट्रेन तेजस एक्सप्रेस के यात्रियों को आईआरसीटीसी बड़ी सौगात देने जा रहा है। इसके तहत यात्रियों को टिकट बुक करते समय ही कैब, होटल और सामान को बुक करने की सुविधा मिलेगी। 

आईआरसीटीसी ने दिया प्रस्ताव

फाइनेंशियल एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, आईआरसीटीसी ने रेलवे बोर्ड को यह प्रस्ताव दिया है। आईआरसीटीसी ने जो प्रस्ताव दिया है, उसके मुताबिक दिल्ली-लखनऊ और मुंबई-अहमदाबाद रूट पर चलने वाली पहली निजी तेजस एक्सप्रेस में यात्री टिकट बुक कराते वक्त घर से स्टेशन और स्टेशन से घर तक कैब बुकिंग, सफर के दौरान अपनी पसंद का भोजन और व्हीलचेयर सुविधा का लाभ ले सकते हैं। हालांकि अभी इस प्रस्ताव को रेलवे बोर्ड से मंजूरी नहीं मिली है। 

किराया निर्धारित करने का अधिकार रेलवे के पास

हालांकि इन ट्रेनों में किराया तय करने का अधिकार रेलवे बोर्ड के पास रहेगा। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वी के यादव ने कहा कि अन्य कंपनियों को ट्रेन चलाने की मंजूरी देने से पहले एक नियामक का गठन होगा। यह नियामक किराये पर अंकुश लगाएगा, ताकि त्योहार के वक्त कंपनियां किराये को ज्यादा न बढ़ा सके। नियामक का कार्य बिलकुल विमानन क्षेत्र में कार्यरत नियामक की तरह होगा।  

कई कंपनियों ने दिखाई रूचि

निजी ट्रेन चलाने के लिए कंई कंपनियों ने अपनी रूचि दिखाई है। रेलवे एक पारदर्शी नीलामी व्यवस्था के तहत ट्रेन और रूटों को दिया जाएगा। यह ट्रेनें प्रमुख रूटों पर चलेंगी, जब 90 फीसदी मालगाड़ियों को डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर पर शिफ्ट कर दिया जाएगा। देश में पूर्वी और पश्चिमी फ्रेट कॉरिडोर दिसंबर 2021 तक तैयार हो जाएंगे। 

मिलेंगी यह सुविधाएं

रेलवे बोर्ड की तरफ से तैयार कराए गए ब्लू प्रिंट के मुताबिक, आईआरसीटीसी को इन ट्रेनों की जिम्मेदारी तीन साल के लिए एक पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर सौंपी जा रही है। सप्ताह में छह दिन चलने वाली इन ट्रेनों में रेलवे की तरफ से दी जाने वाली कोई रियायत, मासिक पास, किराया छूट या अन्य विशेषाधिकार का लाभ नहीं दिया जाएगा। साथ ही इन दोनों ट्रेन में टिकट चेकिंग की व्यवस्था भी रेलवे के बजाय आईआरसीटीसी अपने स्तर पर करेगा।

मिलेगा यूनिक नंबर

इन दोनों ट्रेनों को यूनिक नंबर दिया जाएगा और इनका संचालन रेलवे का संचालक स्टाफ (लोको, पायलट, गार्ड और स्टेशन मास्टर) ही संभालेंगे। लेकिन इन ट्रेनों के मेंटिनेंस और स्पेयर-पार्ट्स का खर्च आईआरसीटीसी को ही चुकाना होगा।

दुर्घटना के वक्त मुआवजा देगा रेलवे

भले ही ट्रेन संचालन में सभी जिम्मेदारियां आईआरसीटीसी की होगी, लेकिन किसी भी प्रकार की दुर्घटना की स्थिति में इन दोनों ट्रेन के यात्रियों को मिलने वाले किसी भी प्रकार के मुआवजे की जिम्मेदारी रेलवे की ही होगी। साथ ही ट्रेन का संचालन दोबारा शुरू करने में भी रेलवे की तरफ से आईआरसीटीसी की मदद की जाएगी।
विज्ञापन
विज्ञापन

Recommended

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन
Oppo Reno2

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2019 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Property

रियल एस्टेट में मुश्किलों का दौर जारी, नोटबंदी के समय वाले स्तर पर पहुंचा सूचकांक

रियल एस्टेट क्षेत्र मकान खरीदारों में भरोसा नहीं जगा पा रहा है। यही कारण है कि रियल एस्टेट बाजार के धारणा सूचकांक में गिरावट आई है। खास बात है कि यह गिरावट उस स्तर पर पहुंच गई है, जितनी नोटबंदी के दौरान आई थी।

17 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

अयोध्या केस की कवरेज पर NBSA ने जारी की एडवाइजरी, टीवी चैनलों को दिया सख्त निर्देश

अयोध्या केस की कवरेज पर एनबीएसए ने टीवी चैनलों को एडवायजरी जारी की है। एडवायजरी में एनबीएसए ने क्या कुछ कहा है देखिए ये रिपोर्ट

17 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree