विज्ञापन
विज्ञापन

देश में 65 फीसदी बढ़ा मलयेशिया से पाम ऑयल का आयात, घरेलू उद्योग के लिए खतरा

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Fri, 14 Jun 2019 08:41 PM IST
palm oil import from Malaysia rises by 65 percent in may
ख़बर सुनें

खास बातें

  • कम हो रहा सूर्यमुखी और सोया तेल का आयात 
  • 8,18,149 टन हुआ पाम ऑयल का आयात मई में
  • 42 फीसदी की कमी देखी गई सोया ऑयल के आयात में
  • घरेलू उद्योग के लिए खतरनाक है मलयेशिया से पाम ऑयल का आयात
भारत के पाम ऑयल आयात में इस साल मई में 65 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है। एक प्रमुख उद्योग निकाय ने शुक्रवार को बताया कि आयात शुल्क कम होने और कीमतों में गिरावट के कारण दोगुना से अधिक रिफाइंड पाम ऑयल का आयात किया गया। सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन (एसईए) ने एक बयान में कहा कि पिछले महीने 8,18,149 टन पाम ऑयल का आयात हुआ था। इसमें 3,71,060 टन रिफाइंड पाम ऑयल का आयात भी शामिल है। एक साल पहले की समान अवधि में 1,57,832 टन रिफाइंड पाम ऑयल का आयात हुआ था। 
विज्ञापन
विज्ञापन
भारत खाद्य तेलों का दुनिया में सबसे बड़ा खरीदार है। कुल आयात में पाम ऑयल की हिस्सेदारी 60 फीसदी से अधिक है। एसईए के मुताबिक, कुल वनस्पति तेल का आयात मई में घटकर 12,21,989 टन रहा। एक साल पहले की समान अवधि में 12,86,240 टन वनस्पति तेल का आयात हुआ था। इसके अलावा सूर्यमुखी तेल के आयात में भी 61 फीसदी की गिरावट रही। पिछले महीने 1,30,634 टन सूर्यमुखी तेल का आयात किया गया। 

रिफाइंड उत्पाद खरीदना आसान

 एसईए ने कहा, ‘मलयेशिया से रिफाइंड पाम ऑयल पर शुल्क में कटौती के भारत के फैसले ने रिफाइंड और पाम ऑयल के बीच शुल्क का अंतर पांच फीसदी बढ़ा दिया। इससे आयातकों के लिए दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों से रिफाइंड उत्पाद खरीदना आसान हो गया है। भारत सरकार ने इस साल जनवरी में मलयेशिया से आयातित रिफाइंड पाम ऑयल पर आयात शुल्क को 54 फीसदी से घटाकर 45 फीसदी कर दिया था। भारत और मलयेशिया के बीच करीब एक दशक पहले हुए व्यापक आर्थिक सहयोग समझौते (सीईसीए) के तहत आयात शुल्क में कटौती की गई थी। 

सोया ऑयल के आयात में कमी

एसईए ने एक बयान में कहा कि पाम ऑयल वर्तमान में बहुत प्रतिस्पर्धी बना हुआ है। इसलिए आयातक सूर्यमुखी और सोया तेल का आयात कम कर रहे हैं। पिछले महीने देश का सोया ऑयल आयात 42 फीसदी घटकर 2,32,003 टन रहा। भारत पाम ऑयल का आयात प्रमुख रूप से इंडोनेशिया और मलयेशिया से करता है। वहीं, अर्जेंटीना एवं ब्राजील से सोया ऑयल, यूक्रेन एवं रूस से सूर्यमुखी तेल और कनाडा से कैनोला ऑयल का आयात करता है।

आयात शुल्क बढ़ाने को पीएम को लिखा पत्र

भारतीय खाद्य तेल रिफाइनरों ने दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों से बढ़ रहे आयात को देखते हुए स्थानीय उद्योग की रक्षा के लिए मलयेशिया से आयातित रिफाइंड पाम ऑयल पर आयात शुल्क बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखा है। एसईए ने मोदी को लिखे पत्र में कहा है कि रिफाइंड पाम ऑयल का आयात अप्रैल के 2,38,479 टन के मुकाबले मई में बढ़कर 3,71,060 टन पहुंच गया। यह स्थानीय उद्योग के लिए खतरनाक है। एसईए ने कहा, ‘हम सरकार से अपील करते हैं कि मलयेशिया के साथ हुए सीएसीए समझौते को तत्काल प्रभाव से समाप्त करे। साथ ही स्थानीय उद्योगों की रक्षा के लिए पाम ऑयल पर अधिक आयात शुल्क लगाया जाए।’

Recommended

इन्वर्टिस यूनिवर्सिटी में 'अभिरुचि' से निखारी जाती है छात्रों की प्रतिभा
Invertis university

इन्वर्टिस यूनिवर्सिटी में 'अभिरुचि' से निखारी जाती है छात्रों की प्रतिभा

समस्या कैसे भी हो, हमारे ज्योतिषी से पूछें सवाल और पाएं जवाब मात्र 99 रूपये में
Astrology

समस्या कैसे भी हो, हमारे ज्योतिषी से पूछें सवाल और पाएं जवाब मात्र 99 रूपये में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2019 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Business Diary

यस बैंक के संस्थापक के डूब गए 7000 करोड़ रुपये, 11 महीने में 78 फीसदी गिरा शेयर

प्राइवेट सेक्टर के दिग्गज बैंकों में शुमार रहा यस बैंक का शेयर पिछले 11 महीनों में 78 फीसदी तक गिर गया है।

18 जुलाई 2019

विज्ञापन

बिजली चोरी रोकने के लिए मोदी सरकार का मेगा प्लान तैयार

बिजली चोरी रोक कर 24 घंटे बिजली सप्लाई करने का बड़ा प्लान नरेंद्र मोदी सरकार ने तैयार किया है। खबरों की माने तो मोदी सरकार 3 स्तरीय प्लान में ईमानदार बिजली ग्राहकों को 24 घंटे बिजली सप्लाई करेगी।

18 जुलाई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree