गेटिंग ग्रोथ बैक: पीएम मोदी ने कहा, पटरी पर जरूर लौटेगी हमारी अर्थव्यवस्था

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: ‌डिंपल अलवधी Updated Tue, 02 Jun 2020 12:47 PM IST
Annual Session Of CII live update PM Narendra Modi Addressing To Bring Economy Back On Track
PM Narendra modi - फोटो : ANI
विज्ञापन

खास बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्योग संगठन भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के वार्षिक सत्र को संबोधित किया। यह कार्यक्रम सीआईआई की स्थापना के 125 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया। बता दें कि उद्योग संगठन की स्थापना 1895 में हुई थी। सीआईआई 125वें वार्षिक सत्र का मुख्य विषय 'गेटिंग ग्रोथ बैक' यानी वृद्धि की राह पर लौटना था। 
विज्ञापन

लाइव अपडेट

11:45 AM, 02-Jun-2020
देश को आत्मनिर्भर बनाने का संकल्प लें। इस संकल्प को पूरा करने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दें। सरकार आपके साथ खड़ी है, आप देश के लक्ष्यों के साथ खड़े हों।
11:45 AM, 02-Jun-2020
हमारी सरकार प्राइवेट सेक्टर को देश की विकास यात्रा का साझेदार मानती है। आत्मनिर्भर भारत अभियान से जुड़ी आपकी हर आवश्यकता का ध्यान रखा जाएगा। आपसे, सभी स्टेकहोल्डर्स (हितधारकों) से मैं लगातार संवाद करता हूं और ये सिलसिला आगे भी जारी रहेगा।
11:45 AM, 02-Jun-2020
ग्रामीण अर्थव्यवस्था में निवेश और किसानों के साथ साझेदारी का रास्ता खुलने का भी पूरा लाभ उठाएं। अब तो गांव के पास ही लोकल एग्रो प्रोडक्ट्स के क्लस्टर्स के लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है। इसमें सीआईआई के तमाम मेंबर्स के लिए बहुत अवसर हैं। 
11:45 AM, 02-Jun-2020
अब जरूरत है कि देश में ऐसे उत्पाद बनें जो 'मेड इन इंडिया' हों, 'मेड फॉर वर्ल्ड' हों। कैसे हम देश का आयात कम से कम करें, इसे लेकर क्या नए लक्ष्य तय किए जा सकते हैं? हमें तमाम सेक्टर्स में उत्पादन बढ़ाने के लिए अपने टार्गेट तय करने ही होंगे। मैं बहुत गर्व से कहूंगा कि सिर्फ तीन महीने के भीतर ही पीपीई की सैकड़ों करोड़ की इंडस्ट्री आपने ही खड़ी की है। 
11:44 AM, 02-Jun-2020
आत्मनिर्भर भारत वैश्विक अर्थव्यवस्था के साथ के साथ पूरी तरह एकीकृत भी होगा और सहायक भी। हमें अब एक ऐसी मजबूत स्थानीय आपूर्ति श्रृंखला के निर्माण में निवेश करना है, जो वैश्विक सप्लाई चेन में भारत की हिस्सेदारी को मजबूत करे। 
11:33 AM, 02-Jun-2020
'गेटिंग ग्रोथ बैक' इतना मुश्किल भी नहीं है और सबसे बड़ी बात कि अब आपके पास, भारतीय इंडस्ट्री के पास, एक साफ रास्ता है, आत्मनिर्भर भारत का रास्ता। देश को आत्मनिर्भर भारत बनाने का संकल्प लें। 
 

 
11:30 AM, 02-Jun-2020
स्वभाविक है कि इस समय नए सिरे से मंथन चल रहा है और ऐसे समय में भारत से दुनिया की अपेक्षा और बढ़ी है। आज दुनिया का भारत पर विश्वास भी बढ़ा है और नई आशा का संचार भी हुआ है। विश्व एक विश्वसनीय साथी की तलाश में है। भारत में क्षमता और ताकत है। आज पूरे विश्व में भारत के प्रति जो विश्वास पैदा हुआ है, उसका आप सभी को पूरा फायदा उठाना चाहिए।
11:26 AM, 02-Jun-2020
सरकार जिस दिशा में बढ़ रही है, उससे हमारे माइनिंग सेक्टर, एनर्जी सेक्टर, या रिसर्च और टेक्नोलॉजी, हर क्षेत्र में इंडस्ट्री और युवा के लिए नए अवसर खुलेंगे। एमएसएमई की परिभाषा स्पष्ट करने की मांग लंबे समय से उद्योग जगत कर रहा था, वो पूरी हो चुकी है। इससे एमएसएमई बिना किसी चिंता के विकास कर पाएंगे और उनको एमएसएमई का स्टेट्स बनाए रखने के लिए दूसरे रास्तों पर चलने की जरूरत नहीं रहेगी।
11:23 AM, 02-Jun-2020
हमारे श्रमिकों के कल्याण को ध्यान में रखते हुए, रोजगार के अवसरों को बढ़ाने के लिए श्रमिक सुधार भी किए जा रहे हैं। जिन गैर-रणनीतिक क्षेत्र में निजी सेक्टर को इजाजत ही नहीं थी, उन्हें भी खोला गया है।
11:20 AM, 02-Jun-2020
पीएम मोदी ने कहा कि सरकार आज ऐसे पॉलिसी रिफॉर्म भी कर रही है जिनकी देश ने उम्मीद छोड़ दी थी। अगर मैं कृषि क्षेत्र की बात करूं तो हमारे यहां आजादी के बाद जो नियम-कायदे बने, उसमें किसानों को बिचौलियों के हाथों में छोड़ दिया गया था।
11:19 AM, 02-Jun-2020
भारत को तेज विकास के पथ पर लाने के लिए पांच बातें बहुत जरूरी हैं - इंटेंट, इंक्लूजन, इंफ्रास्ट्रक्चर, इन्वेस्टमेंट और इनोवेशन। हाल में कई फैसले लिए गए हैं। इसमें इसकी झलक दिख जाएगी। भारत बड़ी उड़ान के लिए तैयार है। हमारे लिए सुधार का मतलब है, फैसले लेने का साहस करना। 
11:16 AM, 02-Jun-2020
पीएम मोदी ने कहा कि गरीब परिवारों को 53,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की वित्तीय मदद की जा चुकी है। महिलाओं, दिव्यांगों, बुजुर्गों, श्रमिकों को इससे लाभ मिला है। लॉकडाउन के दौरान सरकार ने गरीबों को आठ करोड़ से ज्यादा गैस सिलिंडर उनके घरों तक मुफ्त पहुंचाए। निजी क्षेत्र के करीब 50 लाख कर्मचारियों के खाते में 24 फीसदी ईपीएफ का योगदान किया गया है। 
11:13 AM, 02-Jun-2020
आज देश की सबसे बड़ी सच्चाई यही है कि भारत लॉकडाउन को पीछे छोड़ अनलॉक फेज 1 में प्रवेश कर चुका है। अर्थव्यवस्था का काफी हिस्सा खुल चुका है। आठ जून के बाद और भी खुलेगा। जब दुनिया में कोरोना वायरस पैर फैला रहा था तभी भारत ने सही समय पर सही तरीके से सही कदम उठाए। दुनिया के तमाम देशों से तुलना करें तो आज हमें पता चलता है कि भारत में लॉकडाउन का कितना प्रभाव पड़ा है। भारत ने कोरोना से लड़ने के लिए फिजिकल रिसोर्स को तैयार किया। 
11:05 AM, 02-Jun-2020
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहा कि कोरोना संकट में लोगों के जीवन का बचाने के साथ-साथ अर्थव्यवस्था में भी गति लाना है। अर्थव्यवस्था को फिर से मजबूत करना सबसे जरूरी है। भारत की अर्थव्यवस्था पटरी पर जरूर लौटेगी। इसके लिए सरकार लगातार कदम उठा रही है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना से गरीबों को तुरंत लाभ मिला। 74 करोड़ लोगों के घर राशन पहुंचाया गया है। 
10:35 AM, 02-Jun-2020

गेटिंग ग्रोथ बैक: पीएम मोदी ने कहा, पटरी पर जरूर लौटेगी हमारी अर्थव्यवस्था

कार्यक्रम का आयोजन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया गया है। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण देश की आर्थिक रफ्तार में कमी आई है। पीएम मोदी का यह संबोधन इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि सरकार लॉकडाउन में ढील देते हुए कंपनियों को फिर से खोलने की अनुमति देने लगी है।
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और Budget 2022 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00