बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

रिलायंस-फेसबुक डील : 700 अरब डॉलर के कारोबार पर अंबानी की नजर

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, मुंबई Published by: संदीप भट्ट Updated Thu, 23 Apr 2020 05:57 AM IST

सार

  • रिलायंस-फेसबुक डील : भारतीय किराना स्टोर पर दोनों कंपनियों की निगाह
  • 80 फीसदी हिस्सेदारी है किराना स्टोर्स की भारतीय खुदरा बाजार में
  • जियो प्लेटफॉर्म का मूल्यांकन करीब 4.75 लाख करोड़ रुपये हो जाएगा।
  • इस डील से जियो पर करीब 400 करोड़ डॉलर का कर्ज घटेगा।
  • अब जियो और फेसबुक की इस डील से एयरटेल-गूगल को टक्कर मिलेगी।
विज्ञापन
रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख मुकेश अंबानी
रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख मुकेश अंबानी
ख़बर सुनें

विस्तार

फेसबुक के साथ टेक क्षेत्र की सबसे बड़ी डील करने के पीछे रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख मुकेश अंबानी का मकसद 700 अरब डॉलर के असंगठित खुदरा क्षेत्र पर काबिज होना है। इस डील के जरिए रिलायंस और फेसबुक गली-मोहल्लों में स्थापित किराना स्टोर्स से ग्राहकों तक संपर्क बनाएंगे।
विज्ञापन


क्षेत्र का जानकारों का कहना है कि ग्राहक फेसबुक और वॉट्सएप के जरिए रिलायंस जियो मार्ट्स पर खरीदारी करेंगे। रिलायंस ने स्पष्ट कहा कि उनकी निगाह 6 करोड़ एमएसएमई, 12 करोड़ किसानों, 3 करोड़ छोटे दुकानदारों और लाखों लघु एवं मध्यम कंपनियों पर है, जो असंगठित क्षेत्र से जुड़े हैं। दोनों कंपनियों के लिए यह डील इसलिए भी बड़ा मौका है क्योंकि देश के खुदरा उद्योग में किराना स्टोर्स की भागीदारी 80 फीसदी है।


अंबानी ने पिछले साल सालाना आम बैठक में कहा था कि न्यू कॉमर्स भारत में 700 अरब डॉलर के कारोबारी अवसर पैदा करता है। रिलायंस रिटेल भारत का सबसे बड़ा खुदरा प्लेटफॉर्म है, जहां सभी तरह की उपभोक्ता वस्तुओं का भंडार है।

क्या हैं डील के कारोबारी मायने...

  • जियो प्लेटफॉर्म का मूल्यांकन करीब 4.75 लाख करोड़ रुपये हो जाएगा।
  • इस डील से जियो पर करीब 400 करोड़ डॉलर का कर्ज घटेगा।
  • टेक इंडस्ट्री, टेलीकॉम बिजनेस और सोशल मीडिया प्लेटफॉम बिजनेस के लिए कारोबार के बड़े मौके पैदा होंगे।
  • एयरटेल और गूगल क्लाउड के बीच इस साल पार्टनरशिप हुई थी, जो छोटे और मझोले कारोबारियों को जी-सूट मुहैया कराने के लिए थी।
  • अब जियो और फेसबुक की इस डील से एयरटेल-गूगल को टक्कर मिलेगी।
 

भारत में कितने हैं ग्राहक...

  • 40 करोड़ वॉट्सअप
  • 38.8 करोड़ जियो
  • 25 करोड़ फेसबुक

भारत के लिए बेहतर...

शाबाश मुकेश अंबानी। जियो और फेसबुक की डील सिर्फ इन दो कंपनियों के लिए नहीं बल्कि पूरी भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए बेहतर है। यह कोरोना संकट के बाद कारोबार के लिहाज से भारत की मजबूत आर्थिक स्थिति को भी दर्शाता है।-आनंद महिंद्रा, चेयरमैन, महिंद्रा समूह

 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X