इंडिगो के मैनजर की हत्या पर गरमाई सियासत, तेज प्रताप बोले-'महाजंगलराज का महाराजा' इस्तीफा दो

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पटना Updated Thu, 14 Jan 2021 04:17 AM IST
विज्ञापन
Indigo manager Rupesh Singh
Indigo manager Rupesh Singh - फोटो : सोशल मीडिया

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
बिहार की राजधानी पटना में मंगलवार शाम हुई इंडिगो के मैनेजर रूपेश कुमार सिंह की हत्या पर सियासी संग्राम छिड़ गया है। हत्या को लेकर राजद और कांग्रेस के साथ साथ भाजपा ने भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जोरदार हमला बोला है। वहीं, नीतीश कुमार ने बिहार के डीजीपी को तलब कर हत्यारों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का निर्देश दिया है। साथ ही लापरवाही बरतने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है।
विज्ञापन


इस बीच, डीजीपी ने पटना एसएसपी के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया है। पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है। एसआईटी में शामिल डीएसपी राजेश सिंह प्रभाकर ने बुधवार को बताया, टीम को कुछ अहम सुराग मिले हैं, जिसके बाद जल्द ही हत्या में शामिल लोगों को पकड़ लिया जाएगा।



जिस समय यह वारदात हुई, उस समय रूपेश पटना एयरपोर्ट से अपने घर जा रहे थे। जैसे ही वे अपने अपार्टमेंट के गेट पर पहुंचे अपराधियों ने उन्हें गोलियों से छलनी कर दिया। पुलिस की एक टीम दोपहर को एयरपोर्ट पहुंची और मंगलवार की सीसीटीवी फुटेज खंगाली। सूत्रों के मुताबिक, हत्यारे एयरपोर्ट से ही रूपेश का पीछा कर रहे थे।


राज्य नहीं संभल रहा तो इस्तीफा दें नीतीश
बिहार गलत हाथों में चला गया है। नीतीश कुमार पूरी तरह से थक चुके हैं। अब उनसे बिहार संभल नहीं रहा है, इसलिए वे इस्तीफा दें। बिहार में पूरी तरह से जंगलराज है और यहां के महाराजा नीतीश हैं। अब रूपेश के घर वाले छठ पर्व मना सकते हैं यह बात दिल्ली में बैठे पीएम मोदी से पूछनी चाहिए। पीएम इस मामले पर चुप क्यों हैं? - तेजस्वी यादव, नेता प्रतिपक्ष

बिहार में कानून व्यवस्था नहीं
बिहार में सरकार भाजपा के समर्थन से चल रही है, लेकिन राज्य की बेहतरी के लिए यह कहना जरूरी है कि कानून-व्यवस्था पर सरकार का नियंत्रण नहीं है। हमें उम्मीद थी कि चौथी बार मुख्यमंत्री बनने के बाद नीतीश कुमार कानून-व्यवस्था पर सख्ती से काम करेंगे और राजनीति से ऊपर उठकर लोगों के बारे में सोचेंगे। लेकिन अपराधियों का बेखौफ घूमना दिखाता है कि राज्य का भविष्य उज्ज्वल नहीं है। - गोपाल नारायण,  भाजपा सांसद

सीएम का नियंत्रण नहीं
यह घटना सबूत है कि कानून-व्यवस्था पर नीतीश कुमार का कोई नियंत्रण नहीं रहा है।- तारिक अनवर, कांग्रेस नेता

सीबीआई जांच की मांग तेज
इंडिगो के स्टेशन मैनेजर रूपेश कुमार सिंह की हत्या के बाद बिहार में सियासी पारा चढ़ने लगा है। रूपेश हत्याकांड की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। पप्पू यादव ने सीबीआई जांच की मांग की है, तो भाजपा के सांसद विवेक ठाकुर ने अपनी ही सरकार पर सवाल उठाए हैं। विवेक ठाकुर ने कहा है कि या तो बिहार सरकार 3 से 5 दिन के भीतर अपराधियों को पकड़े या फिर ये मामला सीबीआई को सौंपे।

आरजेडी नेता तेजप्रताप ने कहा कि इंडिगो के सीनियर मैनेजर को पटना में उनके घर के बाहर दिनदहाड़े गोलियों से छलनी कर दिया गया। बेहतरीन इंसान थे रूपेश। एयरपोर्ट पर सबसे मिलनसार व मददगार लोगों में थे। भगवान उनकी आत्मा को शांति दें। ये हत्या बिहार के लॉ एंड आर्डर पर बहुत गंभीर सवाल पैदा करती है। तेज प्रताप ने नीतीश कुमार के इस्तीफे की मांग करते हुए ट्वीट किया, ''महाजंगलराज का महाराजा इस्तीफा दो।''

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X