लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Vikram Kirloskar: टोयोटा को भारत में ब्रांड बनाने में विक्रम किर्लोस्कर का था अहम रोल, ला चुके बेहतरीन SUV

ऑटो डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: समीर गोयल Updated Wed, 30 Nov 2022 01:12 PM IST
For Reference Only
1 of 5
विज्ञापन

टोयोटा किर्लोस्कर के वाइस चेयरमैन का मंगलवार को निधन हो गया। लेकिन ऑटो जगत हमेशा उनके योगदान के लिए आभारी रहेगा। उन्होंने ही भारत में एसयूवी के ट्रेंड को आगे बढ़ाया और एसयूवी और एमपीवी सेगमेंट के कई बेहतरीन वाहनों को भारत में पेश किया। हम इस खबर में उनके मार्गदर्शन में लाई गई कुछ बेहतरीन एसयूवी और एमपीवी सेगमेंट के वाहनों की जानकारी दे रहे हैं।

सालों पहले भांप गए थे एसयूवी की अहमियत

For Reference Only
2 of 5
साल 2000 से पहले भारत में छोटी और सेडान कारों को ही ज्यादा पसंद किया जाता था। उस दौरान में टाटा की ओर से सूमो, सफारी और सिएरा जैसी एमपीवी और एसयूवी ही भारतीय बाजार में मौजूद थीं। उस समय ऐसे वाहनों को शौकीन या धनी परिवारों के लोग ही खरीदना पसंद करते थे। इसका सबसे बड़ा कारण था कि इन वाहनों की मेंटिनेंस और रनिंग कॉस्ट काफी ज्यादा थी। लेकिन विक्रम किर्लोस्कर उस दौर में ही एसूयवी और एमपीवी की अहमियत को पहचान गए थे।

यह भी पढ़ें - Car Care Tips: कार में क्लच का होता है महत्वपूर्ण काम, इन पांच तरीकों से बढ़ाएं क्लच की उम्र
विज्ञापन

टोयोटा ने पेश की थी क्वालिस

For Reference Only
3 of 5
एसयूवी और एमपीवी सेगमेंट की अहमियत को पहचान कर ही विक्रम ने साल 1999 में देश में टोयोटा के साथ मिलकर पहली एमपीवी कम एसयूवी क्वालिस को पेश किया था। बॉक्सी डिजाइन वाली क्वालिस को शुरूआत में तो लोगों ने ज्यादा पसंद नहीं किया लेकिन जिसने भी क्वालिस को एक बार चलाया, उसे एमपीवी काफी ज्यादा पसंद आई। ज्यादा एवरेज, कम मेंटिनेंस जैसी खूबियों ने ही क्वालिस को हर वर्ग का पसंदीदा वाहन बना दिया। निजी इस्तेमाल के साथ ही क्वालिस को कर्मशियल और सरकारी वाहन के तौर पर भी काफी उपयोग किया गया। इसी कारण एक समय में डिजाइन के कारण कम पसंद की गई क्वालिस बाद में सबसे ज्यादा बिकने वाली गाडि़यों की लिस्ट में शामिल हो गई। विक्रम किर्लोस्कर की मेहनत और रणनीति के कारण ही क्वालिस अपने दौर की सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली गाड़ी थी।

यह भी पढ़ें -  CNG: कार में बाहर से सीएनजी लगवाना कितना नुकसानदेह, सिर्फ पांच पॉइंट्स में जानें हर बात

क्वालिस के बाद आया इनोवा का दौर

For Reference Only
4 of 5
क्वालिस के साथ ही भारतीय कार बाजार में टोयोटा किर्लोस्कर बेहद मजबूत ब्रॉन्ड के तौर पर स्थापित हो चुका था। क्वालिस के बाद विक्रम किर्लोस्कर ने साल 2005 में दूसरी बेहतरीन एमपीवी इनोवा को पेश किया। क्वालिस की तरह ही शुरूआत में इनोवा की सेल्स भी कम रहीं। लेकिन करीब दो के अंदर ही इनोवा ने भी बिक्री के रिकॉर्ड तोड़ने शुरू कर दिए। क्वालिस के बॉक्सी डिजाइन के मुकाबले इनोवा का डिजाइन एयरोडाइनैमिक था। बेहतरीन इंजन और नई तकनीक वाली बॉडी के कारण इसे बड़े परिवार की पसंदीदा कार के तौर पर प्रमोट किया गया। खास बात यह है कि तब से अब तक इनोवा को अपने सेगमेंट में काफी ज्यादा पसंद किया जाता है। हाल में ही कंपनी ने विक्रम के मार्गदर्शन में इनोवा हाईक्रॉस को भी भारतीय बाजार में पेश किया था।

यह भी पढ़ें - Fuel Type: पेट्रोल, डीजल, सीएनजी और ईवी, जानें कौन सी कार खरीदना होगी समझदारी
विज्ञापन
विज्ञापन

एमपीवी के बाद लाए बेहतरीन एसयूवी

For Reference Only
5 of 5
विक्रम किर्लोस्कर ही क्वालिस और इनोवा जैसी बेहतरीन गाडि़यां भारत में लाने के बाद देश की सबसे ज्यादा पसंदीदा एसयूवी को लाए। साल 2009 में उनके मार्गदर्शन में टोयोटा किर्लोस्कर ने पहली बार फॉर्च्यूनर को पेश किया। दमदार इंजन, डिजाइन, बेहतरीन फीचर्स, स्पेस वाली इस एसयूवी को लॉन्च के बाद से ही शानदार रिस्पांस मिला। नेता हों या फिर ऑफ रोडिंग के शौकीन हर किसी को फॉर्च्यूनर में चलना पसंद है।

यह भी पढ़ें - Car Care Tips: जरूरत से ज्यादा धुआं फेंक रही है आपकी कार तो न हों परेशान, सिर्फ पांच पॉइंट में इसकी वजह
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें ऑटोमोबाइल समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। ऑटोमोबाइल जगत की अन्य खबरें जैसे लेटेस्ट कार न्यूज़, लेटेस्ट बाइक न्यूज़, सभी कार रिव्यू और बाइक रिव्यू आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00