लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Electric Vehicles Ban: यह देश कर रहा इलेक्ट्रिक वाहनों पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी, जानें क्या है कारण

ऑटो डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: समीर गोयल Updated Tue, 06 Dec 2022 11:22 AM IST
For Reference Only
1 of 7
विज्ञापन

दुनियाभर के देश वाहनों से होने वाले प्रदूषण से परेशान हैं। इसलिए ज्यादातर देश इलेक्ट्रिक वाहनों पर फोकस कर रहे हैं। लेकिन दुनिया का एक देश ऐसा भी है जहां पर इलेक्ट्रिक वाहनों पर बैन लगाने की तैयारी की जा रही है। हम इस खबर में उस देश की जानकारी दे रहे हैं। साथ ही यह भी बता रहे हैं कि आखिर क्यों वहां पर इलेक्ट्रिक वाहनों पर बैन लगाया जा रहा है।

किस देश में लगेगा बैन

For Reference Only
2 of 7
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्विट्जरलैंड सर्दियों में पूरे देश में इलेक्ट्रिक वाहनों पर बैन लगाने पर विचार कर रहा है। अगर देश में इलेक्ट्रिक वाहनों पर बैन लगाया जाता है तो यह पूरी दुनिया में पहला ऐसा देश होगा जहां पर ईवी पर बैन लगाया जाएगा।

यह भी पढ़ें-  Diesel Autorickshaw: दिल्ली-एनसीआर में बंद होने वाले हैं डीजल ऑटो रिक्शा, केंद्र सरकार ने तैयार की योजना
विज्ञापन

क्यों लगा सकता है बैन

For Reference Only
3 of 7
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्विट्जरलैंड ऐसा देश है जहां पर सर्दियों के मौसम में तापमान बेहद कम हो जाता है। पूरे देश के कई इलाकों में भारी बर्फ भी पड़ती है। जिस कारण वहां पर बिजली की सप्लाई भी प्रभावित हो जाती है। बिजली की किल्लत की संभावना को देखते हुए देश में इलेक्ट्रिक वाहनों पर बैन लगाने पर विचार किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें- Maruti Suzuki: मारुति लाएगी खास तकनीक वाली डिजायर और स्विफ्ट, मिलेगा 40 से ज्यादा का एवरेज

बिजली के लिए दूसरे देशों पर निर्भर है देश

For Reference Only
4 of 7
स्विट्जरलैंड में बिजली की सप्लाई फ्रांस, जर्मनी जैसे देशों से होती है। सर्दियों के समय ज्यादातर यूरोपिय देशों में भारी बर्फबारी होती है। ऐसे में उन देशों में भी बिजली की खपत बढ़ जाती है। लेकिन इस साल कुछ यूरोपिय देश खुद बिजली की परेशानी से जूझ रहे हैं। ऐसे में उम्मीद कम है कि स्विट्जरलैंड को र्प्याप्त मात्रा में बिजली की सप्लाई बाकी देशों से हो पाए।

यह भी पढ़ें- Budget Cars: इन नौ सस्ती कारों में मिलता है बेहतरीन ग्राउंड क्लियरेंस, जानें इससे क्या होता है फायदा?
विज्ञापन
विज्ञापन

रूस-यूक्रेन के कारण भी है परेशानी

For Reference Only
5 of 7
रूस और यूक्रेन के बीच साल 2022 की शुरूआत से ही युद्ध चल रहा है। जिससे यूरोपिय देशों में गैस की किल्लत भी हो रही है। इन दोनों देशों से पूरे यूरोप को गैस की सप्लाई सहित अन्य जरूरी सामानों की सप्लाई की जाती है। लेकिन दोनों के बीच युद्ध के कारण सभी तरह की सप्लाई प्रभावित है जिसमें गैस की सप्लाई भी शामिल है। यूरोपिय देशों में गैस से सर्दियों में बिजली बनाई जाती है जिससे घरों को गर्म रखा जाता है।

यह भी पढ़ें- Lamboeghini Huracan: लैम्बॉर्गिनी ने पेश की नई सुपरकार हुराकान स्टेराटो, जानें क्या हैं खासियत
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें ऑटोमोबाइल समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। ऑटोमोबाइल जगत की अन्य खबरें जैसे लेटेस्ट कार न्यूज़, लेटेस्ट बाइक न्यूज़, सभी कार रिव्यू और बाइक रिव्यू आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00