विज्ञापन
विज्ञापन

साइकिल के बाद अब ऑटो सेक्टर में रालको टायर ने मचाई धूम, बनाया नया रिकॉर्ड

ऑटो डेस्क, अमर उजाला Updated Fri, 26 Apr 2019 08:10 PM IST
Ralco tyres
Ralco tyres
ख़बर सुनें
रालसन की स्थापना 1974 में स्वर्गीय ओ.पी पाहवा और संत प्रकाश पाहवा ने की थी। रालसन अपनी यात्रा में गुणवत्ता के साथ ही टेक्नोलॉजी में भी परिवर्तन करता रहा है। आज देश-विदेश में साइकिल टायर के मामले में इसकी पहचान बन गई है। अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक संजीव पाहवा के निर्देशन में कंपनी सफलता के नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है। आज रालसन एक ऐसा नाम है जो शक्ति और निर्भरता के लिए खड़ा है और भारतीय समेत अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों में शानदार पहचान बना रहा है। इनोवेशन, निर्भरता, स्थायित्व से ब्रांड की उत्पादन रेंज देश भर में फैली हुई है। फिलहाल रालसन रोजाना 1.25 से ज्यादा साइकिल टायर और 1.50 लाख ट्यूब का निर्माण कर रही है। 
विज्ञापन
विज्ञापन
 

हमेशा करती रही है इनोवेशन

रालसन हमेशा से इनोवेशन पर विश्वास करती रही है, जिससे हर परिस्थिति के लिए टायरों का निर्माण कर रही है। इसमें माउंटेन, रेसिंग और इलेक्ट्रिक बाइक के टायर भी शामिल हैं। हाल ही में रालसन ने अपने साइकिल डिवीजन में मल्टीकलर, पंचररोधी और फोल्ड होने वाले टायरों का निर्माण भी शुरू कर दिया है। 
 

उच्च श्रेणी के इन टायरों का निर्माण

रालसन कई श्रेणी के टायरों का निर्माण कर रही है। फिलहाल भारत में रालसन पहली ऐसी कंपनी है, जिसने उच्च क्षमता के टायरों का निर्माण करना शुरू किया था। इसमें स्किनवॉल टायर भी शामिल है, जिसे कई साइज जैसे (700x35सी, 700x40सी, 700x42सी, 27.5x2.10 और 29x2.10) शामिल हैं। इसके अलावा कंपनी ने नए साइज जैसे कि 26x4, 20x3,16x2.40, 20x2.40 and 24x2.40 को भी लांच किया है। 
 

ऑटो कंपनियों के लिए भी टायर का निर्माण

रालसन ऑटो कंपनियों के लिए भी उच्च गुणवत्ता वाले ट्यूबलैस टायरों का निर्माण कर रही है, जिससे इसकी ख्याति यहां पर भी पहुंच गई है। कंपनी ने स्कूटर, मोपेड और मोटर साइकिल के लिए नए टायर साइज रेंज निकाली है। इसमें 120/70-14 एडवेंचर टीएल, 2.75-16 मोटो डस्टर, 2.75-17 शाप शाप, 80/90-17 ब्लास्टर एसटी टीएल शामिल हैं। 
 
इसके अलावा कंपनी ने डर्ट बाइकिंग और क्रॉस कंट्री एक्सप्लोर करने वालों के लिए 120/80-18 टायर लांच किया है, जो गड्ढों, फिसलन भरे ट्रेक्स और स्लश से भी निकालने में मदद करता है। 3.75-12 साइज में लांच के साथ ही कंपनी इलेक्ट्रिक तिपहिया बनाने वाली कंपनियों की पहली पसंद बन गई है। 
 
वहीं ब्रांड राल्को दो पहिया, तिपहिया, एलसीवी और ट्रै्क्टर सेगमेंट में कंपनियों की मदद कर रही है। राल्को आज विश्व के कई महाद्वीप में लोगों की पहली पसंद बन गया है। कंपनी के फिलहाल तीन प्लांट हैं, जिसमें से दो में केवल ऑटोमोबाइल सेक्टर के लिए टायरों का निर्माण हो रहा है। कंपनी ब्रांड इमेज को आगे ले जाने के लिए कई तरह की ब्रांड प्रमोशन कर रही है।
 
 

Recommended

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए
Lovely Professional University

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए

बात करें इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से और पाइये अपनी समस्या का समाधान |
Astrology

बात करें इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से और पाइये अपनी समस्या का समाधान |

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें ऑटोमोबाइल समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। ऑटोमोबाइल जगत की अन्य खबरें जैसे लेटेस्ट कार न्यूज़, लेटेस्ट बाइक न्यूज़, सभी कार रिव्यू और बाइक रिव्यू आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Auto News

हीरो की इस बाइक को मिला देश का पहला बीएस6 सर्टिफिकेशन

बीएस-6 उत्सर्जन मानक अगले साल अप्रैल 2020 से लागू होने हैं, लेकिन उससे पहले ही कंपनियां ने अपनी गाड़ियों में बीएस-6 इंजन देने शुरू दिया है। हीरो मोटरकॉर्प ने एलान किया है कि वह बीएस-6 सर्टिफिकेशन वाली देश की पहली कंपनी बन गई है।

10 जून 2019

विज्ञापन

मेट्रो में महिलाओं को मुफ्त सफर कराने के मुद्दे पर दिल्ली सरकार और मेट्रो मैन ई श्रीधरन आमने-सामने

मेट्रो में महिलाओं को मुफ्त सफर कराने के मुद्दे पर दिल्ली सरकार की योजना को ई श्रीधरन ने झटका दे दिया है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को चिट्ठी भी लिखी है। इस चिट्ठी के जवाब में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने अपना पक्ष रखा है।

15 जून 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
सबसे तेज अनुभव के लिए
अमर उजाला लाइट ऐप चुनें
Add to Home Screen
Election