विज्ञापन
विज्ञापन

अब आप भी कर सकेंगे अपनी प्राइवेट कार से कमाई, सरकार लाने जा रही ये खास पॉलिसी

ऑटो डेस्क, अमर उजाला Updated Mon, 16 Sep 2019 06:12 PM IST
carpooling
carpooling - फोटो : सांकेतिक
ख़बर सुनें
सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय शेयर्ड मोबिलिटी को बढ़ावा देने के लिए नई कारपूल (carpooling) नीति पर काम कर रहा है। अगर यह नीति अमल में आती है कि प्राइवेट कार मालिक भी कार पूलिंग कर सकेंगे। सरकार की योजना है कि सड़कों से गाड़ियों की संख्या कम करने और प्रदूषण घटाने में कार पूलिंग पॉलिसी अहम साबित हो सकती है।

एप से कर सकेंगे कारपूलिंग

सरकार इस संबंध में कार पूलिंग ड्राफ्ट गाइडलाइन लाने की तैयारी कर रही है। सूत्रों के मुताबिक ड्राफ्ट गाइडडलाइन के तहत कार मालिक एक दिन में अधिकतम चार बार ही कार पूलिंग कर सकेंगे और राइडर्स का केवाईसी अनिवार्य होगा। जल्द ही इस ड़्राफ्ट गाइडलाइन को आम जनता की प्रतिक्रिया जानने के लिए रखा जाएगा। योजना के तहत कार पूलिंग के लिए सरकार की तरफ से एक एप तैयार किया जाएगा और कार मालिक केवल एप से ही कार पूलिंग कर पाएंगे।

कारपूलिंग नो प्रॉफिट-नो लॉस पर आधारित

वहीं कार पूलिंग के लिए बेसिक गाइडलाइंस होंगी और राज्य सरकारें अपने विवेक से इसे लागू कर सकेंगी। सूत्रों का कहना है कि सरकार चाहती है कि कार पूलिंग नो प्रॉफिट-नो लॉस (कोई मुनाफा नहीं, कोई घाटा नहीं) को ध्यान में रख कर लागू हो और केवल लागत का खर्च ही वसूला जाए। हम चाहते हैं कि इस व्यवस्था के तहत कोई कमर्शियल गतिविधियां न हों।

क्या हैं कारपूलिंग के फायदे

कार पूलिंग सिस्टम में अगर आप दिल्ली से गुरुग्राम जा रहे हैं, तो ट्रिप को एप प शेयर करना होगा। जिसके बाद उस तरफ जाने वाले लोग साथ आपके साथ चलने के लिए अपनी सहमति दे सकते हैं। सफर के दौरान पेट्रोल, टोल आदि पर आने वाले खर्च को कार मालिक और राइडर्स आपस में शेयर कर सकते हैं।

केवाईसी करना जरूरी होगा

कार पूलिंग के लिए ग्राहक और वाहन मालिक का केवीआई (नो योर कस्टमर) नियम का पालन करना जरूरी होगा। साथ ही एप पर निजी वाहन मालिक को किसी भी राइड की पूरी जानकारी ट्रिप शुरू करने से पहले ही देनी होगी। वहीं सरकार इस गाइडलाइन के जरिये चाहती है कि राज्य सरकारों को भी आमदनी का कुछ हिस्सा मिले। नहीं तो ये एप्स बंद हो जाएंगी और रेवेन्यू मिलने के लालच में राज्य सरकारें इनकी मदद करती रहेंगी।

अलग से प्लेटफॉर्म देना होगा

वहीं सरकार के इस कदम के बाद दूसरी कार पूलिंग एप्स क्विक राइड (Quick Ride) और ब्लाब्ला कार (BlaBlaCar) अपनी एप्स को नई जरूरतों के मुताबिक ढालने में जुट गई हैं। साथ ही ओला और उबर जैसी बड़ी कैब एग्रीगेटर एप्स को भी अलग से प्लेटफॉर्म मुहैया कराना होगा, क्योंकि मौजूदा सेटअप में ये संभव नहीं है। इससे पहले इसी साल जून में कर्नाटक राज्य परिवहन विभाग ने ओला, उबर से राइड शेयरिंग फीचर को बंद करनने का आदेश दिया, ताकि कैब ड्राइवर्स की आमदनी प्रभावित न हो।
विज्ञापन
विज्ञापन

Recommended

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश
Dholpur fresh

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें ऑटोमोबाइल समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। ऑटोमोबाइल जगत की अन्य खबरें जैसे लेटेस्ट कार न्यूज़, लेटेस्ट बाइक न्यूज़, सभी कार रिव्यू और बाइक रिव्यू आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Auto News

Bajaj Chetak इलेक्ट्रिक स्कूटर भारत में हुआ पेश, 95km की देगा माइलेज

नए चेतक में दो ड्राइव मोड्स (eco, sport) दिए गए हैं। इको मोड में यह 95 किलोमीटर तक चलेगा। वहीं, स्पोर्ट मोड में यह स्कूटर 85 किलोमीटर की रेंज देगा।

16 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

कांग्रेस अपने परिवार में भारत रत्न समेंटना चाहती है: रविशंकर प्रसाद

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा की वीर सावरकर को भारत रत्न मिलना चाहिए। कांग्रेस सिर्फ अपने परिवार में भारत रत्न समेंटना चाहती है।

16 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree