विज्ञापन
विज्ञापन

Maruti के नक्शेकदम पर Mahindra & Mahindra, 1,500 कर्मचारियों को किया बाहर

ऑटो डेस्क, अमर उजाला Updated Mon, 19 Aug 2019 12:51 PM IST
Mahindra Car Plant
Mahindra Car Plant - फोटो : File Photo (Twitter)
ख़बर सुनें
ऑटो सेक्टर में बढ़ती मंदी को देखते हुए मारुति की तर्ज पर दूसरी कंपनियां भी कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा रही है। यूटिलिटी व्हीकल्स बनाने वाले कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा ने भी खुलासा किया है उसने अप्रैल से लेकर अभी तक कई सौ अस्थाई कर्मचारियों की छंटनी की है।

1,500 कर्मचारियों की छंटनी

इससे पहले देश की सबसे बड़ी वाहन निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी ने खुलासा किया था कि मंदी के चलते उसने 3,000 अस्थाई कर्मचारियों को नौकरी से बाहर कर दिया है। महिंद्रा एंड महिंद्रा के प्रबंध निदेशक पवन गोयनका ने खुलासा किया है कि कंपनी 01 अप्रैल से लेकर अभी तक 1,500 अस्थाई कर्मचारियों की छंटनी कर चुकी है।

सप्लायर, डीलर भी कर रहे तैयारी

श्रीलंका में कंपनी के पहले स्थानीय असेंबलिंग प्लांट के उद्घाटन के मौके पर गोयनका ने आगे कहा कि उनकी कोशिश रहेगी कि और लोगों को न हटाया जाए, लेकिन मंदी आगे भी जारी रही, तो और भी कर्मचारियों को हटाया जा सकता है। इस महीने की शुरुआत में गोयनका ने यह मद्दा उठाया था और कहा था कि सप्लायर, डीलर और मूल उपकरण निर्माता लोगों की छंटनी की तैयारी कर रहे हैं।

दिवालिया घोषित करने के लिए तैयार

उन्होंने आगे कहा कि आगामी त्यौहारी सीजन भारतीय ऑटो इंडस्ट्री के लिए काफी अहम है, और उस दौरान भी मंदी का दौर जारी रहता है, तो नौकरियों और निवेश पर तो संकट गहराएगा ही, साथ ही कई सप्लायर खुद को दिवालिया घोषित कर देंगे। उन्होंने उद्योग को मंदी से बचाने के लिए सरकार से समर्थन मांगते हुए कहा कि सरकार अगर छह से आठ महीने तक इंडस्ट्री की मदद कर दे, तो कई बड़े बदलाव देखने को मिल सकते हैं।

19 साल की सबसे बड़ी गिरावट

इस जुलाई में यात्री वाहनों की बिक्री में 19 साल की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज हुई है, जब बिक्री घटकर 18.71 फीसदी तक पहुंच गई है। ऑटोमोटिव कंपोनेंट मैन्यूफैक्चरर्स एसोसिएशन यानी एक्मा ने अंदेशा जताया है कि अगर मांग में सुधार नहीं आया, तो 10 लाख नौकरियां जा सकती है। वहीं फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन का कहना है कि पिछले तीन महीने में दो लाख लागों की छंटनी हो चुकी है।

मारुति ने निकाले 3,000 कर्मचारी

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी Maruti Suzuki ने बिक्री घटने के चलते अपने 3,000 अस्थायी कर्मचारियों की छंटनी कर दी है इतना ही नहीं नई भर्तियों को रोकने की योजना बनाई है। मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड के चेयरमैन आरसी भार्गव के मुताबिक मंदी के चलते अस्थार् कर्मियों के कॉन्ट्रैक्ट को रिन्यू नहीं किया जा रहा है, लेकिन स्थाई कर्मचारियों को हटाने की फिलहाल कोई योजना नहीं है।

टोयोटा और ह्यूंदै ने घटाया उत्पादन

दूसरी तरफ मारुति के बाद टोयोटा और ह्यूंदै ने गाड़ियों के उत्पादन में कटौती की है। टोयोटा ने कर्नाटक स्थित प्लांट में इनोवा क्रिस्टा और फॉर्च्यूनर का उत्पादन घटा दिया है। वहीं प्लांट कुल क्षमता का 50-55 फीसदी उत्पादन कर रहा है। वहीं ह्यूंदै ने भी अपने चेन्नई स्थित प्लांट में कटौती की है।  
विज्ञापन
विज्ञापन

Recommended

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश
Dholpur fresh

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें ऑटोमोबाइल समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। ऑटोमोबाइल जगत की अन्य खबरें जैसे लेटेस्ट कार न्यूज़, लेटेस्ट बाइक न्यूज़, सभी कार रिव्यू और बाइक रिव्यू आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Auto News

Karwa Chauth 2019: अपनी वाइफ को गिफ्ट कीजिये ये खास स्टाइलिश स्कूटर

यदि आप इस करवा चौथ अपनी पत्नी को कोई स्पेशल गिफ्ट देने की सोच रहे हैं ? तो यहां हम आपको कुछ खास और स्टाइलिश स्कूटर्स के बारे में बता रहे हैं जो आपकी पत्नी को पसंद आ सकते हैं।

17 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

कांग्रेस अपने परिवार में भारत रत्न समेटना चाहती है: रविशंकर प्रसाद

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा की वीर सावरकर को भारत रत्न मिलना चाहिए। कांग्रेस सिर्फ अपने परिवार में भारत रत्न समेंटना चाहती है।

16 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree