Auto Expo 2018: पांच किलो हाइड्रोजन गैस से 700 किलोमीटर का सफर

अमर उजाला ब्यूरो, ग्रेटर नोएडा Updated Fri, 09 Feb 2018 05:21 AM IST
Auto Expo 2018: 700 kilometer journey from five kilos of hydrogen gas only
Auto Expo 2018, Honda Amaze
अगर सबकुछ प्लान के मुताबिक रहा तो आने वाले 10 वर्षों में आप इलेक्ट्रिक के साथ ही हाइड्रोजन ईंधन से चलने वाली कारों का मजा ले सकेंगे। इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि एक किलोग्राम हाइड्रोजन से 120-130 किलोमीटर तक का सफर कर सकेंगे। दरअसल, जापान और अमेरिका में हाइड्रोजन की उपलब्धता है। इसलिए वहां हाइड्रोजन से चलने वाली कारें इजाद हो चुकी हैं। वहां पांच किलोग्राम का टैंक पुल कराने पर करीब 700 किलोमीटर का सफर कर सकते हैं। इससे प्रदूषण भी नहीं होगा। 
अड़चन यह है, कि अपने देश में हाइड्रोजन ईंधन की उपलब्धता फिलहाल नहीं है। ऑटोमोबाइल सेक्टर सरकार की तरफ उम्मीद से देख रहा है। एक और अड़चन कीमत को लेकर है। हाइड्रोजन कारें पेट्रोल की तुलना में ज्यादा महंगी होती हैं, जबकि अपने देश में महंगी कारें खरीदने वालों की तादाद बहुत कम है। ऐसे में हाइड्रोजन से चलने वाली कारों की कीमत कम करना भी ऑटोमोबाइल सेक्टर के लिए चुनौती है। 

अगले दस वर्षों में आ सकती हैं हाइड्रोजन से चलने वाली कारें

होंडा कंपनी के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट (मार्केटिंग एंड सेल) ज्ञानेश्वर सेन का कहना है कि हाइड्रोजन ईंधन उपलब्ध कराना एक नीतिगत निर्णय है। सरकार इस दिशा में काम कर रही है। अगर इसमें सफल रहे तो यह ऑटोमोबाइल के लिए एक नया आयाम होगा। इससे देश में डीजल-पेट्रोल की खपत के साथ प्रदूषण रोकने में भी सफलता मिलेगी। वे 2018 में अगले जनरेशन की होंडा अमेज के बारे में जानकारी दे रहे थे।

ड्राइवर लेस कार पर भी फोकस

बिना ड्राइवर के आपकी कार आपके गंतव्य तक पहुंचाकर वापस अपनी जगह आकर खड़ी हो जाए तो कितना बढिय़ा होगा। ऑटो मोबाइल सेक्टर ड्राइवर लेस कारों पर भी तेजी से काम कर रहा है।महानगरों में जिस तेजी से पार्किंग की समस्या बढ़ रही है आने वाले दिनों में कार खड़ी करने की जगह मिलना मुश्किल हो जाएगा। इस समस्या को दूर करेगी ड्राइवर लेस कार।

होंडा कंपनी के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट (मार्केटिंग एंड सेल) ज्ञानेश्वर सेन कहते हैं, कि आने वाले दिनों में तकनीक के अनुसार कारें इतनी अपग्रेड हो जाएंगी कि कारें आपके इच्छा के अनुसार खुद चलेंगी।खासकर सुरक्षा फीचर्स पर ज्यादा जोर रहेगा। जैसे अगर आगे कोई खतरा है तो उसका इंडीकेटर पहले ही मिल जाएगा। आपने अगर लेन चेंज किया है तो उसका भी इंडीकेशन मिल जाएगा। ऐसे तमाम फीचर देखने को मिलेंगे।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Automobiles News in Hindi related to car and bike reviews, latest car and bike diaries and auto news in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from automobiles and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Automobiles

इस डोंगल के जरिए पुरानी कार में भी चला सकेंगे इंटरनेट

सैमसंग के दावे के मुताबिक इस डोंगल को ऑन बोर्ड डायग्नोस्टिक 2 पोर्ट वाली सभी गाड़ियों से कनेक्ट किया जा सकता है। इसकी मदद से आप कार की लोकेशन समेत फ्यूल मॉनिटरिंग, जियो-फेंसिंग तथा ड्राइविंग सेफ्टी के बारे में जानकारी ले सकेंगे।

19 फरवरी 2018

Related Videos

Video: देखिए कैसे काम करता है हाइपर लूप वन

वर्जिन हाइपरलूप वन और महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई और पुणे के बीच हाइपरलूप सेवाएं चलाने के एक करार पर दस्तखत किए हैं। रिचर्ड ब्रानसन की कंपनी हाइपलूप वन की इस योजना के अमल में आने के बाद मुंबई से पुणे की दूरी 14 से 25 मिनट के बीच में तय हो सकेगी।

19 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen