...तो इसलिए थी सऊदी अरब में महिलाओं की ड्राइविंग पर रोक

Home›   Gulf Countries›   this is why saudi arabia is not allowing women to drive

बीबीसी, हिन्दी

this is why saudi arabia is not allowing women to drivePC: बीबीसी हिंदी

एक ऐतिहासिक फैसले में सऊदी अरब में महिलाओं को ड्राइविंग की इजाजत दी गई है। सऊदी शाह सलमान ने आदेश जारी कर महिलाओं पर से ड्राइविंग की पाबंदी हटाने को कहा है। सऊदी प्रेस एजेंसी के मुताबिक, सऊदी मंत्रालयों को इस मामले में तीस दिन के अंदर रिपोर्ट तैयार करनी है और ये आदेश जून 2018 से लागू होगा। सऊदी अरब में महिलाओं के गाड़ी चालने पर प्रतिबंध पहले चलन के रूप में था, जिसे यहां की सरकार ने 1990 में कानूनी रूप दिया। यहीं से इसका विरोध शुरू हुआ। विरोध का पहल पहली बार 6 नवंबर, 1990 को 47 महिलाओं ने सार्वजनिक रूप से इस कानून का बहिष्कार किया। उन्होंने विरोध में रियाद प्रांत की सड़कों पर गाड़ी चलाई। जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार भी किया गया था। इसके बाद वरिष्ठ इस्लामिक विद्वानों के परिषद् ने फतवा जारी कर महिलाओं के ड्राइविंग पर रोक लगा दी। फतवा में इसे अशुभ और नकारात्मक परिणामों को आमंत्रण देने वाला बताया गया था। पढ़ें: जानिए, क्यों व्हाट्सएप से बैन हटाना चाहता है सऊदी अरब यह कहा गया कि इससे महिलाएं की नजदीकी पुरुषों के साथ बढ़ेगी। वे विपरीत सेक्स के प्रति आकर्षित होंगी। इसका विरोध करने वाली महिलाओं को गिरफ्तार किया जाने लगा और उनके पासपोर्ट तक जब्त किए जाने लगें। इसके बावजूद महिलाएं इस कानून के खिलाफ आवाज उठाती रहीं।
आगे पढ़ें >>

सोशल मीडिया और अभियान

Share this article
Tags: saudi arabia , car driving , women to drive , passport , womens life in saudi arabia , driving licenses ,

Most Popular

एक्स ब्वॉयफ्रेंड ने देखी अनुष्‍का की हनीमून फोटो, फिर तुरंत दिया कुछ ऐसा रिएक्‍शन

विराट-अनुष्का की शादी में एक मेहमान का खर्च था 1 करोड़, पूरी शादी का खर्च सुन दिमाग हिल जाएगा

अनुष्‍का-विराट की हनीमून फोटो पर 1 घंटे में 9 लाख से ज्यादा लाइक, तेजी से हो रही वायरल

रायन के माली ने खोला बहुत बड़ा राज, हत्या के वक्त आसपास भी नहीं था बस कंडक्टर

संसद परिसर में हुआ कुछ ऐसा कि आडवाणी के लिए भीड़ से बाहर आए राहुल और पकड़ लिया उनका हाथ

चश्मदीद की जुबानी, प्रद्युम्न की हत्या वाले दिन की कहानी