विज्ञापन

रुड़की में 81 शिक्षकों के प्रमाणपत्रों की जांच शुरू

Dehradun Bureau Updated Thu, 13 Sep 2018 12:25 AM IST
ब्यूरो/अमर उजाला, रुड़की
विज्ञापन
एसआईटी के आदेश पर रुड़की तहसील में 81 शिक्षकों के प्रमाणपत्रों की जांच शुरू हो गई है। एसआईटी की ओर से प्रमाणपत्रों की जांच में हो रही देरी के बाद ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नितिका खंडेलवाल ने अब कानूनगो और लेखपालों को जांच सौंपी है। माना जा रहा है कि एक सप्ताह के भीतर अधिकांश शिक्षकों के प्रमाणपत्रों की जांच पूरी हो जाएगी। अभी तक की जांच में जिस तरह फर्जी शिक्षकों के मामले में हरिद्वार जिला नंबर एक पर है, उससे माना जा रहा है कि कई और शिक्षकों के प्रमाणपत्र फर्जी हो सकते हैं।
कई शिक्षकों की डिग्री फर्जी होने के अमर उजाला के खुलासे के बाद शासन ने एसआईटी गठित कर प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पिछले दस वर्षों में नियुक्त हुए सभी शिक्षकों के शैक्षिक प्रमाणपत्रों की जांच कराने के आदेश दिए थे। इसके बाद जिला शिक्षा अधिकारी ब्रह्मपाल सिंह सैनी ने सभी उपशिक्षा अधिकारियों को शिक्षकों के प्रमाणपत्रों की संबंधित बोर्ड, विश्वविद्यालयों आदि से ढाई माह के भीतर जांच कर रिपोर्ट देने के आदेश दिए थे। एसआईटी ने भी 20 जुलाई 2018 को शिक्षकों के स्थायी निवास प्रमाणपत्रों और जाति प्रमाणपत्रों की जांच के लिए जिला प्रशासन को पत्र लिखा था, लेकिन दो माह बाद भी जांच का काम पूरा नहीं होने पर एसआईटी ने नाराजगी भी जताई।
इसके बाद जिला प्रशासन ने 27 अगस्त को 37 शिक्षकों के जाति प्रमाणपत्रों की जांच के आदेश दिए। साथ ही दूसरा आदेश चार सितंबर को आया, जिसमें 44 शिक्षकों के स्थायी प्रमाणपत्रों की जांच को कहा गया। इसके बाद ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नितिका खंडेलवाल ने कानूनगो और लेखपालों को उनके क्षेत्र से संबंधित शिक्षकों के प्रमाणपत्रों की जांच करने को कहा है। वहीं, पूर्व में हुई जांच में हरिद्वार जिले में सबसे अधिक लगभग 18 फर्जी शिक्षक पाए गए हैं। इनमें से कई के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो चुका है। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नितिका खंडेवाल ने बताया कि जांच की समीक्षा की जा रही है। कुछ मामलों में जांच पूरी हो चुकी है। एक सप्ताह में अधिकांश जांच पूरी ली जाएगी।

Recommended

Spotlight

Most Popular

Related Videos

विज्ञापन
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।