विज्ञापन

छोटे वाक्यों का प्रयोग कर सीख सकते है संस्कृत

Dehradun Bureau Updated Thu, 13 Sep 2018 12:25 AM IST
ब्यूरो/अमर उजाला, रुड़की
विज्ञापन
कन्या पाठशाला इंटर कॉलेज में आयोजित दस दिवसीय संस्कृत समभाषण (वार्तालाप) शिविर का समापन हो गया। इस दौरान वक्ताओं ने बच्चों को संस्कृत भाषा की जानकारी देते हुए इसके प्रचार-प्रसार पर जोर दिया।
पिछले दस दिन से दिव्य भारतम् एवं संस्कृत भारती के तत्वाधान में दस दिवसीय शिविर का आयोजन कन्या पाठशाला में किया जा रहा था। शिविर में रोजाना दो-दो घंटे छात्राओं को संस्कृत भाषा की जानकारी दी गई। बुधवार को समापन मौके पर स्कूल के अध्यक्ष सतेंद्र कुमार ने कहा कि संस्कृत भाषा हिंदी की जननी है। संस्कृत का प्रयोग बच्चों को सामान्य भाषा में करना चाहिए ताकि संस्कृत का और अधिक उत्थान हो सके। इस दौरान दिव्य भारतम् एवं संस्कृत भारती के चेयरमैन नवल किशोर पंत ने कहा कि छोटे-छोटे वाक्यों का प्रयोग कर संस्कृत भाषा आसानी से सीखी जा सकती है। उन्होंने बताया कि 18 सितंबर से एसडी पीजी गर्ल्स डिग्री कॉलेज में भी शिविर का आयोजन किया जा रहा है। संस्कृत अध्यापक विजयलक्ष्मी ने कहा कि संस्कृत भाषा के प्रचार-प्रसार के उद्देश्य से समय-समय पर ऐसे शिविरों का आयोजन होते रहना चाहिए। इस दौरान प्रधानाचार्य अंजोला देवी, शालनी गुप्ता, करुणा गुप्ता आदि मौजूद रहीं।

Recommended

Spotlight

Most Popular

Related Videos

विज्ञापन
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।