शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

कमलेश तिवारी की हत्या की खबर से नई बाजार उत्तरी वार्ड में पसरा मातमी सन्नाटा

लखनऊ ब्यूरो Updated Fri, 18 Oct 2019 11:51 PM IST
सीतापुर। प्रखर हिंदूवादी नेता पूर्व हिंदू महासभा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या की सूचना मिलते ही यहां उनके परिवार में कोहराम मच गया। जबकि नई बाजार उत्तरी वार्ड में मातमी सन्नाटा पसर गया। इस सूचना पर तहसील प्रशासन भी चौकन्ना हो गया।
विज्ञापन
कमलेश की मां, भाई व बेटे को पूरी सुरक्षा के बीच पुलिस महमूदाबाद से लखनऊ उनके निवास पर ले गई। एहतियात के तौर पर नगर के सार्वजनिक स्थानों पर कई थानों की पुलिस व पीएससी तैनात की गई है।
नगर के नई बाजार उत्तरी वार्ड स्थित रामजानकी मंदिर के महंत बाबा रामदास के भतीजे प्रखर हिंदूवादी नेता पूर्व हिंदू महासभा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कमलेश तिवारी हिंदू समाज पार्टी का गठन करने के बाद पार्टी के प्रचार-प्रसार के लिए लखनऊ के खुर्शीद बाग में रहते थे।
लखनऊ में शुक्रवार दोपहर कमलेश की दो अज्ञात बदमाशों ने धारदार हथियार से निर्ममता पूर्वक गला रेतकर हत्या कर दी। चालीस वर्षीय कमलेश ने करीब दो दशक पूर्व हिंदू टाइगर फोर्स का गठन किया था।
इसके बाद उनके संबंध हिंदू महासभा से हो गए और बाद में हिंदू महासभा ने उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाया। इसी बीच उनके समुदाय विशेष के विरुद्ध अमर्यादित टिप्पणी किए जाने पर तत्कालीन सपा सरकार ने उन पर रासुका तामील की थी।
रासुका अभी कुछ दिन पहले हटी थी। कमलेश ने गत लोकसभा चुनाव में फैजाबाद सीट से चुनाव भी लड़ा था। कमलेश पिता रामसरन दास, मां कुसमा, भाई कौशल उर्फ सोनू के साथ वर्ष 1980 में अपने पैतृक ग्राम पारा कोठवा थाना संदना जिला सीतापुर से महमूदाबाद के नई बाजार उत्तरी वार्ड स्थित रामजानकी मंदिर में रहनेे लगे थे।
कमलेश हिंदू महासभा से जुड़ने के बाद से लखनऊ में खुर्शीद बाग स्थित आवास पर पत्नी किरन व दो बेटे ऋषि (18) व मृदुल (16) के साथ रहते थे। उनका बड़ा बेटा सत्यम जिसे उनके चाचा बाबा रामदास ने गोद ले रखा था, उन्हीं के साथ रहकर कानून की पढ़ाई कर रहा है।
शुक्रवार दोपहर कमलेश के लखनऊ आवास पर दो अज्ञात हमलावरों द्वारा धारदार हथियार से गला रेतकर तथा गोली मारकर हत्या किए जाने की सूचना मिलते ही यहां उनके परिवार में कोहराम मच गया।
कमलेश के चाचा बाबा रामदास ने बताया कि परिवार को ही नहीं बल्कि पूरे महमूदाबाद को कमलेश पर गर्व था। उनकी हत्या की सूचना ने हम सबको तोड़ दिया है। कमलेश की हत्या करने वाले कौन हो सकते हैं, इसका कोई अंदाजा नहीं है।
उनके चाहने वाले सैकड़ों लोग यहां आ चुके हैं। तमाम लोग लखनऊ भी गए हैं। बताया कि कमलेश का अंतिम संस्कार मंदिर से जुड़े रामपुर-मथुरा मार्ग स्थित बाग में किया जाएगा। कमलेश की हत्या पर कई हिंदूवादी संगठनों ने गहरा आक्रोश जताते हुए हत्यारों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर कड़ी सजा दिए जाने की मांग की है।
विज्ञापन

Recommended

kamlesh's murder

Spotlight

विज्ञापन

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।