विज्ञापन

बारिश से धान की फसल चौपट

Moradabad Bureau Updated Thu, 13 Sep 2018 12:46 AM IST
दढ़ियाल। मंगलवार की रात तेज हवा के साथ हुई बारिश ने किसानों की कमर तोड़ दी है। पकने को तैयार खड़ी धान की फसल पर बारिश आफत बनकर टूटी है। अधिकांश किसानों की धान की फसल खेत में गिरकर खराब हो गई है। वहीं बारिश से गन्ना और उड़द की फसल को भी काफी नुकसान हुआ है। इससे किसानों में मायूसी छा गई है। बार बार हो रही बारिश धान की फसल की लिए काफी नुकसानदेह साबित हो रही है। मंगलवार की रात हवा के साथ हुई बारिश ने धान की फसल को सबसे अधिक नुकसान पहुंचाया। एक अनुमान के अनुसार बारिश से कस्बे सहित नरायनपुर, जटपुरा, सीरका, रूपापुर, पीपलीनायक, सरकथल, लालपुर, मुवाना, महुआखेड़ा, लोदीपुरनायक, धीमरखेड़ा, कैथोला, कुंडेसरा, मोहब्बत नगर आदि गावों के किसानों की लगभग 70 प्रतिशत धान की फसल बर्बाद हो गई है। पानी भरे खेत में फसल गिरने से धान के दाने के जमने का खतरा बढ़ गया है। ऐसे में किसानों को लागत पूंजी के निकलने की चिंता भी सताने लगी है। बारिश से गन्ने की फसल भी गिरने से नुकसान हुआ है। वहीं उड़द के खेतों में पानी भरने से फसल को नुकसान पहुंचा है। भाकियू के जिला सचिव पूरन सिंह चौहान व तहसील अध्यक्ष राशिद चौधरी ने प्रशासन से किसानों को हुए नुकसान का सर्वे कराकर मुआवजा दिलाने की मांग की है।
विज्ञापन

Recommended

Spotlight

Most Popular

Related Videos

विज्ञापन
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।