शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

आत्महत्या के लिए पटरी पर लेटी महिला को देख ट्रेन में लगाई ब्रेक

लखनऊ ब्यूरो Updated Sat, 17 Aug 2019 10:24 PM IST
रायबरेली। 110 किमी. प्रति घंटा की रफ्तार में आ रही ट्रेन के सामने खुदकुशी करने के लिए एक महिला रेल ट्रैक पर लेट गई। लोको पायलट ने इमरजेंसी ब्रेक लगा दिए, इस पर ट्रेन महिला के बिल्कुल नजदीक आकर रुक गई। लोको पायलट की सूझबूझ से महिला की जान बच गई। ये घटना शनिवार को रायबरेली से जौनपुर जा रही इंटरसिटी एक्सप्रेस के साथ सुबह लगभग 07.30 बजे की है। महिला को आरपीएफ के सुपुर्द कर दिया गया है।
विज्ञापन
रायबरेली रेलवे स्टेशन से यहीं पर तैनात लोको पायलट अयाजुद्दीन अहमद शनिवार सुबह अपने सहयोगी असिस्टेंट लोको पायलट अनिल कश्यप के साथ गाड़ी संख्या 14202 इंटरसिटी एक्सप्रेस लेकर निकले। इस ट्रेन का रायबरेली के बाद जायस और फिर गौरीगंज में स्टॉपेज है। जायस से छूटने के बाद ट्रेन ने बनी स्टेशन क्रॉस किया। फिर गौरीगंज स्टेशन कुछ दूर पहले ही एक महिला आत्महत्या करने के मकसद से रेल ट्रैक पर लेटी नजर आई। उस वक्त ट्रेन की स्पीड करीब 110 किलोमीटर प्रतिघंटा थी।
इतनी तेज स्पीड में ट्रेन रोकना मुश्किल था, लेकिन महिला की जान बचाने के लिए लोको पायलट ने इमरजेंसी ब्रेक लगाने के साथ ही कई बार हॉर्न बजाया। इस पर भी महिला रेल ट्रैक से नहीं हटी। महिला से चंद कदम की दूरी पर ट्रेन आखिरकार रुक गई। इसके बाद लोको पायलट ने महिला से ट्रैक से हटने को कहा, मगर वह ट्रैक से हटने को तैयार नहीं थी।
इस पर लोको पायलट ने यात्रियों की मदद से महिला को ट्रैक से हटाया और ट्रेन में ही बैठा लिया। करीब 15 मिनट बाद गाड़ी रवाना हुई। गौरीगंज स्टेशन पहुंचकर लोको पायलट ने महिला को रेलवे सुरक्षा बल के सुपुर्द कर दिया। लोको पायलट ने उत्तर रेलवे मंडल लखनऊ के सेक्शन कंट्रोलर/पावर कंट्रोलर को गौरीगंज के स्टेशन मास्टर के माध्यम से मेमो भेजकर घटनाक्रम से अवगत कराया है। महिला की उम्र लगभग 30 वर्ष बताई गई है।
बनी से गौरीगंज स्टेशन के बीच किमी संख्या 949/2 से 949/3 के बीच एक महिला आत्महत्या करने के इरादे से रेल ट्रैक पर लेट गई। उस वक्त 110 किमी. प्रति घंटा की रफ्तार से फर्राटा भर रही रायबरेली-जौनपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस को रोकने के लिए इमरजेंसी ब्रेक का प्रयोग करना पड़ा। महिला को ट्रैक से हटाकर ट्रेन में बैठा लिया गया, जिसे गौरीगंज में आरपीएफ के सुपुर्द किया गया।
-अयाजुद्दीन अहमद, लोको पायलट
विज्ञापन

Recommended

Suicide 1

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।