शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

यूपी: कुर्सी के लिए सियासी सरगर्मियां तेज, मंत्री बनने को पश्चिम के विधायकों में जोर आजमाइश 

अनुज मित्तल, अमर उजाला, मेरठ Updated Sun, 18 Aug 2019 03:14 PM IST
सीएम योगी - फोटो : अमर उजाला (फाइल फोटो)

खास बातें

  • मेरठ से 4 विधायक हैं दावेदारी में, किसी एक की खुल सकती है लॉटरी
  • 52 विधायक हैं भाजपा के 71 विधानसभा सीटों पर 
  • 3 मंडलों के 14 जिले आते हैं पश्चिम क्षेत्र में
  • 7 मंत्री हैं वर्तमान में पश्चिम से यूपी मंत्रिमंडल में
उत्तर प्रदेश सरकार में बदलाव के साथ ही मंत्रिमंडल विस्तार की कवायद शुरू हो चुकी है। इसे लेकर दिल्ली और लखनऊ में पिछले दो दिनों से लगातार मंथन चल रहा है।यूपी कैबिनेट का सोमवार को विस्तार होने की खबरों के बीच पश्चिमी क्षेत्र के विधायकों में जोर आजमाइश चरम पर है। चर्चा है कि जहां पश्चिम से 44 में से केवल एक विधायक की ही लॉटरी लग सकती है तो वहीं मेरठ को फिर से मायूसी हाथ लग सकती है।  

भाजपा के संगठनात्मक दृष्टिकोण से यूपी के पश्चिमी क्षेत्र में तीन मंडलाें के 14 जिले आते हैं। 71 विधानसभा सीटों पर भाजपा के 52 विधायक हैं, इनमें सात मंत्री हैं। यूपी सरकार के मंत्रिमंडल में इस समय पश्चिम क्षेत्र से आठ मंत्री चेतन चौहान, बलदेव सिंह ओलख, गुलाबो देवी, भूपेंद्र चौधरी, अतुल गर्ग, धर्म सिंह सैनी और सुरेश राणा हैं।
विज्ञापन

पिछले दिनों लोकसभा चुनाव के बाद रीता बहुगुणा जोशी और एसपी सिंह बघेल यूपी मंत्रिमंडल में शामिल थे, जो अब सांसद निर्वाचित होकर लोकसभा में पहुंच चुके हैं। जबकि स्वतंत्र देव सिंह अब संगठन में प्रदेश अध्यक्ष बना दिए गए हैं। 

ऐसे में इन तीनों मंत्रियों के विभागों पर नई तैनाती के साथ कुछ अन्य विभागों में भी मंत्रिमंडल को विस्तार देना है। इसके तहत जातिगत और क्षेत्रीय संतुलन को कायम रखना संगठन की प्राथमिकता है। मंत्रिमंडल विस्तार की कवायद में कुछ के कद जहां बढ़ेंगे और घटेंगे तो कुछ विधायकों और एमएलसी को मंत्रिमंडल में जगह दी जानी है। 

चर्चाओं में सियासी समीकरण
शुक्रवार को दिल्ली में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल की मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर आला नेताओं से चर्चा हुई।

इसके बाद शनिवार को भी चर्चा रही कि मुख्यमंत्री ने दिल्ली से लौटकर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात करने के साथ ही शाम को एक बार फिर प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश महामंत्री संगठन के साथ बैठक की। दो दिन से चल रहे सियासी समीकरणों के बीच मंत्रिमंडल विस्तार में संभावितों को लेकर चर्चा तेज हो गई है। 

पश्चिम में कहां क्या समीकरण
वेस्ट यूपी ही नहीं पूरे मंत्रिमंडल में यदि जातिगत संतुलन को देखें तो एक भी गुर्जर विधायक मंत्रिमंडल में शामिल नहीं है। जबकि एक एमएलसी अशोक कटारिया सहित पांच गुर्जर विधायक भाजपा से हैं। ऐसे में पार्टी के मूल कैडर बेस के आधार पर एमएलसी अशोक कटारिया और दक्षिण विधायक डॉ. सोमेंद्र तोमर के बीच खींचतान मानी जा रही है।

वहीं, पूर्व मंत्री और बुलंदशहर सीट से विधायक वीरेंद्र सिंह सिरोही का नाम भी चर्चा में है। क्योंकि एमएलसी और पंचायत राज मंत्री भूपेंद्र सिंह मुरादाबाद से हैं और पश्चिम क्षेत्र के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। लेकिन लोकसभा चुनाव में उनके मुरादाबाद मंडल में एक भी सीट पर भाजपा को जीत हासिल नहीं हुई।

ऐसे में चर्चा है कि उन्हें मंत्रिमंडल से मुक्त कर वीरेंद्र सिंह को शामिल किया जा सकता है और भूपेंद्र सिंह को फिर से संगठन में जिम्मेदारी दी जा सकती है। ऐसे में चर्चा है कि पश्चिम क्षेत्र से मंत्रिमंडल विस्तार में सिर्फ एक नाम और बढ़ सकता है। 
विज्ञापन

Recommended

विधायक legislators minister मंत्री मंत्रिमंडल यूपी कैबिनेट विधानसभा भाजपा exclusive

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Related

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।