शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

बैंक में ग्राहकों के खातों से निकाले लाखों रुपए, शाखा प्रबंधक को हिरासत में लेकर पूछताछ, जमकर हंगामा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मुजफ्फरनगर Updated Thu, 20 Jun 2019 02:07 AM IST
बैंक के सामने हंगामा करते ग्राहक - फोटो : अमर उजाला
मुजफ्फरनगर के गांव ककरौली में भारतीय स्टेट बैंक के ग्राहकों के खातों से लाखों रुपयों की रकम निकालने का मामला प्रकाश में आया है। ग्राहकों ने घपलेबाजी को लेकर बैंक में जमकर हंगामा किया। ग्राहकों की बैंक कर्मचारियों के साथ नोकझोंक भी हुई। ग्राहकों ने पुलिस को बैंक द्वारा उनके खातों से लाखों रुपयों निकालने की तहरीर दी। पुलिस ने तहरीर पर शाखा प्रबंधक और कर्मचारियों को हिरासत में ले लिया। इसके बाद बैंक के उच्चाधिकारी थाने पहुंचे। बैंक के अधिकारियों ने पुलिस को जांचकर कार्रवाई करने का आश्वासन देकर प्रबंधक व कर्मचारियों को छुड़वाया। 

ककरौली के एसबीआई शाखा के ग्राहक जिला पंचायत सदस्य बबलू, जावेद तेवड़ा, अमित कुमार बेहड़ा सादात, भरत सिंह पुत्र खचेडू दरियापुर, ओमवीर सिंह पुत्र खचेडू, ओमप्रकाश पुत्र चंदरू बेहड़ा सादात, शकुंतला पत्नी ओमप्रकाश बेहड़ा सादात, मनोज पुत्र चतर सिंह दरियापुर, महकार सिंह पुत्र हरिराम बेहड़ा सादात, मोहम्मद यूनुस पुत्र रफीक तेवड़ा, मोहम्मद यामीन पुत्र यासीन ककरौली, सुशील कुमार पुत्र ब्रहम सिंह खाईखेड़ा आदि लोगों के खातों से लाखों रुपये निकाल लिए गए हैं। इन ग्राहकों ने बुधवार को शाखा पर पहुंचकर हंगामा खड़ा कर दिया।

वहीं हंगामे की सूचना पर ककरौली थानाध्यक्ष जितेंद्र कुमार अंबावत पुलिस टीम के साथ पहुंचे। पुलिस ने ग्राहकों से बातचीत करके उनकी समस्या सुनी। थानाध्यक्ष ने बैंक के शाखा प्रबंधक और कर्मचारियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। सूचना मिलने पर एसबीआई के उच्चाधिकारी थाने में पहुंचे। अधिकारियों ने पुलिस को आश्वस्त किया कि वे इस पूरे मामले की जांच पड़ताल कर कार्रवाई करेंगे। इसके बाद पुलिस ने प्रबंधक व कर्मचारियों को थाने से छोड़ दिया।
विज्ञापन

इन ग्राहकों के लाखों रुपये खाते से निकाले
गांव बेहड़ा सादात निवासी अशोक कुमार ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि उसके खाते से वर्ष 2018 में तीन बार तीन लाख 61 हजार रुपये निकाले गए। इसके अलावा वर्ष 2019 में माह जनवरी में दो लाख रुपये की नकदी निकाली। गांव खाईखेड़ा के अबाद के खाते से 33 हजार रुपये की नगदी निकाली। ग्राम प्रधान प्रकाशवीर ने बताया कि इस तरह से ही क्षेत्र के गांवों के लोगों के खाते से हजारों रुपयों की नकदी निकाली गई। प्रधान का आरोप है कि शाखा प्रबंधक कार्रवाई से बचने के लिए ग्राहकों के रुपये देने के लिए संपर्क करना शुरू कर दिया है।

ककरौली के एसबीआई शाखा में घपलेबाजी की जानकारी मिली है। इसके लिए टीम गठित कर दी गई है। जांच पड़ताल में दोषी पाए जाने पर शाखा प्रबंधक व कर्मचारियों के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। - अमित गुंदेला, एलडीएम।

ककरौली के एसबीआई शाखा में लाखों रुपयों की घपलेबाजी की शिकायत मिली है। जांच के बाद शाखा प्रबंधक व कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। - मुकेश कुमार, क्षेत्रीय प्रबंधक।

ग्राहकों की ओर से प्रबंधक व कर्मचारियों के विरुद्ध लाखों रुपयों निकालने की तहरीर दी गई है। शाखा प्रबंधक और कर्मचारियों को हिरासत में लिया गया था। बैंक के उच्चाधिकारी जांचकर कार्रवाई का आश्वासन देकर उनको ले गए हैं। अधिकारियों के आदेश पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। - जितेंद्र अंबावत, थानाध्यक्ष ककरौली।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
विज्ञापन

Recommended

state bank of india muzaffarpur news up police uttar pradesh news उत्तर प्रदेश समाचार यूपी पुलिस

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Related

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।