शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

विक्रम हत्याकांड का खुलासा, मृतक की मां-बहन ने एसपी ऑफिस में की आत्मदाह की कोशिश, जमकर हंगामा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मेरठ Updated Sat, 25 May 2019 06:42 PM IST
मृतक की मां और बहन को ले जाती पुलिस - फोटो : अमर उजाला
बागपत के बड़ौत में शोरूम कर्मी विक्रम सिंह की हत्या के खुलासे से नाराज परिजनों ने एसपी दफ्तर में हंगामा किया। एडीजी प्रशांत कुमार से मिलने की कोशिश की। इसके बाद मृतक की बहन ने केरोसिन छिड़ककर आत्मदाह की कोशिश की। एडीजी व आईजी मृतक के परिजनों से बात किए बिना वापस लौट गए। परिजनों ने पुलिस पर गलत खुलासे का आरोप लगाया। पीड़ित परिजन शोरूम मालिक पर हत्या करने का आरोप लगा रहे हैं। पुलिस ने परिजनों को हिरासत में ले लिया। इस दौरान एएसपी और सीओ से परिजनों की नोकझोंक भी हुई। मृतक की बहन ने कहा यदि आठ दिन में पुलिस ने घटना का सही खुलासा नहीं किया तो वह आत्मदाह कर लेंगी। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि मृतक के परिजनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

शनिवार को दोपहर दो बजे के लगभग एसपी कार्यालय में एडीजी प्रशांत कुमार, आईजी राम कुमार बड़ौत में शोरूम कर्मी विक्रम सिंह की हत्या व लूट की घटना का खुलासे के बाद जाने के लिए बाहर आए तो मृतक शोरूम कर्मी विक्रम सिंह की मां कमला देवी, बहन आशा, भाई सत्यवीर, अजीत व तेहरे भाई अर्जुन एडीजी की गाड़ी के सामने खड़े हो गए। पुलिस ने उन्हें गाड़ी के सामने से हटाया। मृतक की बहन आशा ने एडीजी के सामने केरोसिन छिड़ककर आत्मदाह की कोशिश की। उन्होंने पुलिस पर गलत खुलासा करने का आरोप लगाया। परिजनों ने कहा कि शोरूम मालिक प्रशांत ने विक्रम सिंह की हत्या की है। झूठा खुलासा करने का आरोप लगाया। इसके बाद एडीजी, आईजी और एसपी मौके से चले गए।

परिजन चिल्ला चिल्ला कर पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते रहे। आरोप लगाया कि पुलिस ने तीन दिन से पांचों युवकों को उठा रखा था। फर्जी मुठभेड़ दिखाकर घटना का खुलासा किया। इस दौरान एएसपी रण विजय सिंह और सीओ रमाला अनुज चौधरी से परिजनों की तीखी नोकझोंक हुई। कोतवाली पुलिस ने हंगामा कर रहे परिजनों को हिरासत में ले लिया। मृतक की बहन आशा ने कहा यदि पुलिस ने आठ दिन में सही खुलासा नहीं किया तो वह आत्मदाह कर लेंगी। एएसपी रण विजय सिंह ने बताया कि पुलिस ने घटना का सही खुलासा किया है। हंगामा करने वाले परिजनों के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा डालने, आत्मदाह का प्रयास करने की धारा में मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।
विज्ञापन

परिजनों ने पुलिस कर्मियों से की हाथापाई
एडीजी के चले जाने के बाद पुलिसकर्मियों ने एसपी दफ्तर का मुख्य गेट बंद कर लिया। पुलिस अधिकारियों ने हंगामा कर रहे मृतक विक्रम सिंह के परिजनों को  हड़काया। पुलिस कर्मी हंगामा कर रहे लोगों को नियंत्रित करने के लिए लाठी लेकर आए, इस पर परिजनों ने कहा कि वह लाठी और गोली खाने के लिए तैयार हैं। इस दौरान लाठी लेकर आए पुलिस कर्मियों से हाथापाई की। पुलिस ने बड़ी मुश्किल से उन्हें काबू में किया। पुलिसकर्मी उन्हें सीओ लाइन के ऑफिस में ले गए। बाद में कोतवाली पुलिस उन्हें अपने साथ ले गई।

इंसाफ नहीं मिला तो पूरा परिवार करेगा आत्महत्या
मृतक विक्रम सिंह के भाई सत्यवीर ने बताया कि उसके भाई की हत्या कर दी गई। पुलिस सही खुलासा नहीं कर रही है। पीड़ित परिवार को जेल भेजने की धमकी दी जा रही है। यदि उन्हें इंसाफ नहीं मिला तो पूरा परिवार आत्महत्या कर लेगा। जिसकी जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होगी।

परिजनों के सामने बदमाशों ने कबूल की घटना
एसपी शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि परिजनों को बुलाकर पकड़े गए बदमाशों से बात कराई गई। बदमाशों ने परिजनों के सामने घटना करना कबूल किया, लेकिन इसके बाद भी परिजन संतुष्ट नहीं हो रहे हैं। पुलिस ने घटना का सही खुलासा किया है। परिजनों के दबाव में पुलिस काम नहीं करेगी। पुलिस घटना में कई लोगों के नाम प्रकाश में आए हैं। उनके पकड़े जाने के बाद चौंकाने वाला खुलासा किया जाएगा।

ये था मामला-
30 अप्रैल की रात बावली रोड़ स्थित शोरूम के कर्मचारी विक्रम की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। रात में ही शोरूम के मालिक के बेटे प्रशांत ने अज्ञात लोगों के खिलाफ लूट और हत्या की धाराओं में मामला दर्ज करा दिया था।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
विज्ञापन

Recommended

vikram murder case up news latest news city news baghpat news

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।