शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

भाकियू में जिलाध्यक्ष को लेकर घमासान

मेरठ ब्यूरो Updated Thu, 20 Jun 2019 02:24 AM IST
जिलाध्यक्ष को लेकर भाकियू में घमासान
विज्ञापन
मेरठ। दो गुटों में बंटी जिला भाकियू में जिलाध्यक्ष का विवाद एक बार फिर से गरमा गया है। बाबा इलम सिंह गुट ने जहां बुधवार को बैठक कर रामबोस दबथुआ को जिलाध्यक्ष घोषित कर दिया, वहीं हाईकमान ने इसे अनुशासनहीनता करार देते हुए गजेंद्र सिंह दबथुआ को ही जिलाध्यक्ष बरकरार रखा है।
जिला भाकियू संगठन जिलाध्यक्ष पद को लेकर लंबे समय से दो गुटों में बंटा है। हाईकमान ने जहां गजेंद्र सिंह दबथुआ को संगठन का जिलाध्यक्ष बना रखा है, वहीं बाबा इलम सिंह गुट इसका लगातार विरोध करता आ रहा है। हरिद्वार में संपन्न हुए किसान चिंतन शिविर में भी इलम सिंह गुट ने गजेंद्र सिंह पर किसान विरोधी कार्य करने के आरोप लगाते हुए इनके स्थान पर रामबोस दबथुआ को जिलाध्यक्ष घोषित कर दिया था। संगठन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने इसे सही नहीं माना था और मेरठ में आकर बात करने का आश्वासन दिया था।
बुधवार को फिर बाबा इलम सिंह गुट ने बैठक कर रामबोस दबथुआ को जिलाध्यक्ष घोषित कर दिया। मंडल महामंत्री नरेश चौधरी ने अपने लैटर पैड पर उनकी नियुक्ति भी कर दी। संगठन में जिलाध्यक्ष बनाने का अधिकार प्रदेश अध्यक्ष को दिया गया है। सवाल उठता है कि मंडल महामंत्री नरेश चौधरी ने किस अधिकार से रामबोस की जिलाध्यक्ष पद पर नियुक्ति कर दी। पूरे विवाद को लेकर जब संगठन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत से बात की गई तो उन्होंने कहा गजेंद्र सिंह दबथुआ संगठन का जिलाध्यक्ष है। जो लोग किसी दूसरे को जिलाध्यक्ष घोषित कर रहे है वह अनुशासनहीनता कर रहे हैं। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इस बारे में जल्द ही मिल बैठकर फैसला लिया जाएगा।
विज्ञापन

Recommended

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।