फोटो- 04- अमोलर मोड़ से दलापुरवा-मझैया का क्षतिग्रस्त संपर्क मार्ग।

Home›   City & states›   फोटो- 04- अमोलर मोड़ से दलापुरवा-मझैया का क्षतिग्रस्त संपर्क मार्ग।

Kanpur Bureau

कन्नौज। गड्ढों में तब्दील हो चुकीं जिले की सड़कें राहगीरों को दर्द दे रही हैं। वाहन हिचकोले खा रहे हैं। कुछ जगहों पर सड़कों का नामोनिशान मिट गया है। सीएम योगी ने 15 जून तक सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का आदेश दिया था लेकिन अधिकारियों की उपेक्षा के चलते सड़कों के हालात खराब हैं। जिले के ऐसे ही कुछ मार्गों पर पड़ताल करती एक रिपोर्ट... कलक्ट्रेट रोड पर तिर्वा क्रासिंग पर बन रहे ओवर ब्रिज की सर्विस लेन से राहगीरों का निकलना मुश्किल हैं। दिसंबर 2016 में तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव के दौरे से पहले आनन - फानन में अफसरों ने सर्विस तो बना दी लेकिन दो माह बाद मार्च 2016 से जलनिगम की सीवर लाइन खोदाई से सड़क बदहाल हो गई। अशोक नगर से गोल कुआं चौराहे तक कई स्थानों पर सड़कें उखड़ीं हैं। कई स्थान पर मिट्टी, गिट्टी और ईंट डालकर गड्ढों को भरने का प्रयास तो किया गया लेकिन सड़क चलने लायक नहीं है। विकास खंड का दलापुर्वा-मझैया संपर्क मार्ग 10 साल से बदहाल है। गड्ढों में तब्दील सड़क पर उखड़ी गिट्टी लोगों को घायल कर रही है। ग्रामीण मानसिंह, बृजलाल, सुभाष चंद्र, जितेंद्र, राजेश, राकेश, सुशील, सुनील, पीयूष आदि ने बताया इस मार्ग को कई साल पहले प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत बनवाया गया था। देखरेख के अभाव में एक साल में ही उखड़ गया। गौड़ी नाले पर बनी पुलिया भी पहली बारिश में ध्वस्त हो गई। शिकायत के बाद भी किसी ने ध्यान नहीं दिया। इस मार्ग पर ही राजकीय कृषि फार्म भी है। साथ ही अमोलर, दलापुरवा, मझैया, बिचपुरवा, कैथनपुरवा, ढिपारा, बघेलेपुरवा, सीतापुरवा सहित दो दर्जन से अधिक गांव के लोगों का आना-जाना है। स्कू्ल - कालेज, थाना, सीएचसी तक जाने का एकमात्र मुख्य रास्ता यही है। जून माह में गड्डा मुक्त अभियान के नाम पर सड़क पर गिट्टी डाल दी गई, जिससे और समस्या बढ़ गई। विकास खंड के संयोगिता गांव से सद्दूपुर गांव तक का संपर्क मार्ग 17 साल से अधूरा है। ग्रामीण रिंकू मिश्रा, बल्ले पांडेय, सोनू, गोलू मिश्रा, रामनिवास, महेश ने बताया कि इस मार्ग को साल 2000 में तत्कालीन विधायक बनवारी लाल दोहरे ने बनवाया था। तब से लेकर अभी तक न तो इस मार्ग की मरम्मत किसी ने नहीं कराई। अब स्थिति ये है कि सड़क कई जगहों पर गायब ही हो गई है। बारिश में सड़क का एक हिस्सा ही बह गया है। जल्द इस मार्ग का निर्माण नहीं कराया गया तो कई गांवों से ब्लाक का संपर्क भी कट सकता है। ग्रामीणों में अधिकारियों के प्रति रोष भी है। समधन से भुढ़हा का चार किमी लंबा संपर्क मार्ग खस्ताहाल है। सीएम के आदेश के बाद दो माह पूर्व पैचवर्क तो हुआ था लेकिन कुछ ही दिन में उखड़ गया। गुणवत्ता पूर्ण काम नहीं किया। ग्रामीणों की माने तो इस मार्ग का निर्माण करीब 10 साल पहले हुआ था। अनिभोज, लालपुर, मीरपुर, नंदेपुरवा औक, भुढ़हा गांव इसी मार्ग के किनारे हैं। रोजाना सैकड़ों लोग गुजरते हैं। सड़क खस्ताहाल होने के कारण वाहन सवार गिरकर चुटहिल हो रहे हैं। अमर उजाला ब्यूरो खस्ताहाल मार्ग से गुजरना मुश्किल,राहगीर परेशान - मुख्यमंत्री के आदेश के बाद भी नहीं सुधरीं सड़कें- ग्रामीणों की समस्याओं की अनदेखी कर रहे अधिकारी
Share this article
Tags: ,

Most Popular

एक्स ब्वॉयफ्रेंड ने देखी अनुष्‍का की हनीमून फोटो, फिर तुरंत दिया कुछ ऐसा रिएक्‍शन

अनुष्‍का-विराट की हनीमून फोटो पर 1 घंटे में 9 लाख से ज्यादा लाइक, तेजी से हो रही वायरल

विराट-अनुष्का की शादी में एक मेहमान का खर्च था 1 करोड़, पूरी शादी का खर्च सुन दिमाग हिल जाएगा

क्या आप जानते हैं क‌ितने पढ़े-ल‌िखे हैं कांग्रेस के 49वें अध्यक्ष राहुल गांधी, नाम भी बदलना पड़ा

संसद परिसर में हुआ कुछ ऐसा कि आडवाणी के लिए भीड़ से बाहर आए राहुल और पकड़ लिया उनका हाथ

बेटी के बैग में इस्तेमाल हुए कंडोम देख मां ने कर दिया केस, अब कोर्ट ने लिया ऐसा फैसला