विज्ञापन

बीडीओ ने मानदेय के बजट से करा डाली साज-सज्जा

Kanpur Bureau Updated Thu, 13 Sep 2018 12:06 AM IST
अमर उजाला ब्यूरो
विज्ञापन
हरदोई। हरपालपुर विकास खंड में तैनात खंड विकास अधिकारी वंदना जौहरी सेवानिवृत्त होने से पहले ही परेशानी में फंस गईं हैं। उन पर 55 हजार 201 रुपये की वित्तीय अनियमितता का आरोप है। मनरेगा कर्मियों के मानदेय के बजट से उन्होंने अपने कार्यालय की भी साज सज्जा करा डाली। मनरेगा के तहत हरपालपुर के अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी ने पत्र जारी कर उक्त भुगतान को शासकीय खाते में जमा कराने के लिए कहा है।

हरपालपुर में तैनात खंड विकास अधिकारी वंदना जौहरी कुछ समय से विवादों में घिरी हैं। अब उनसे जुड़ा एक और विवाद सामने आया है। 16 मई 2018 को हरपालपुर की बीडीओ ने प्रशासनिक मद से 55 हजार 201 रुपये का चेक कृष्णा ट्रेडर्स एवं ऑडर के नाम काट दिया। मनरेगा प्रशासनिक मद में कर्मचारियों का मानदेय जारी करने के लिए सृजित एफटीओ से उक्त धनराशि का भुगतान किया गया है। अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी का कहना है कि बिना किसी प्रस्ताव के उक्त भुगतान कर दिया गया, जबकि मनरेगा कार्मिकों का वर्ष 2016-17 का मानदेय का भुगतान किया जाना बाकी है। बताया जाता है कि मनरेगा के अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी ने इसको लेकर खंड विकास अधिकारी वंदना जौहरी को शासनादेश से भी अवगत कराया था। लेकिन फिर भी उन्होंने भुगतान कर दिया।

अब अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी ने बीडीओ से 55 हजार 201 रुपये प्रशासनिक मद में जमा कराने के लिए कहा है। विश्वस्त सूत्र बताते हैं कि हरपालपुर की बीडीओ वंदना जौहरी माधौगंज में तैनाती के दौरान वित्तीय अनियमितता कर चुकी हैं। विभागीय लेखा परीक्षक दल ने 04 जून 2017 को जारी निर्देश में स्पष्ट किया था कि वंदना जौहरी ने अपने पिता शारदा प्रसाद जौहरी के वाहन को ब्लाक से संबद्ध कर डीजल आदि के नाम पर 68,970 रुपये व्यय किया है। जिससे इस भुगतान को लेखा परीक्षक दल ने गलत बताते हुए इसकी रिकवरी के निर्देश दिए थे।

बीडीओ ने मनरेगा मानदेय बजट से कार्यालय सजवाया, होगी रिकवरी
- हरपालपुर विकास खंड का मामला, 55 हजार रुपये प्रशासनिक मद में जमा कराने को कहा गया

Recommended

Spotlight

Most Popular

Related Videos

विज्ञापन
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।