शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

तेज बारिश के दौरान गिरी बिजली, महिला की मौत

लखनऊ ब्यूरो Updated Wed, 21 Aug 2019 09:51 PM IST
गोंडा के बीएसए कार्यालय के निकट पंतनगर मोहल्ले में सड़क पर जलभराव का एक दृश्य। - फोटो : GONDA
गोंडा। जिले में करीब एक माह बाद शुरू हुई बारिश बुधवार को दिन भर होती रही। बुधवार को दोपहर भारी बारिश के समय बिजली गिरने से एक महिला की मौत हो गई, जबकि तरबगंज इलाके में छत फट गई और उसके ईंट गिरने से दो महिलाएं व एक चार साल का मासूम घायल हो गए। तीनों घायलों का इलाज एक निजी चिकित्सक के यहां कराया जा रहा है।
विज्ञापन
मनकापुर क्षेत्र में बुधवार को धान की निराई करते समय बिजली गिरने से एक अधेड़ महिला झुलस गयी। आननफानन सीएचसी लाया गया जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। कोतवाली क्षेत्र के ग्राम मिश्रौलिया गोसाई के मजरे बनकटवा गांव निवासिनी संजीला (55) अपने पति राम अवतार के साथ बुधवार को गांव के पास धान के खेत में खरपतवार की निराई कर रही थी। तभी तेज गड़-गड़ाहट के साथ बिजली गिरने से संजीला चपेट में आकर गंभीर रूप से झुलस गयी। जिसे आननफानन में गांव के राम नरायन मिश्रा, जटा शंकर व पति राम अवतार सीएचसी लाये। जहां चिकित्साधीक्षक नीरज गुप्ता ने मृत घोषित कर दिया। मौत की खबर पाते ही परिवारीजनों में कोहराम मच गया। संजीला के राम नरायन, अजय कुमार व मनीष कुमार तीन बालिग बच्चे हैं। वहीं उपजिलाधिकारी बीके प्रसाद ने बताया कि दैवी आपदा के तहत अहेतुक सहायता शासन से दिलाई जाएगी। तरबगंज क्षेत्र में सुबह से हो रही मूसलाधार बारिश के बीच अचानक बिजली गिरने से बेउदा माझा गांव के रामचंद्र के घर की छत फट गई। छत से गिरे मलबे से रामचंद्र की पत्नी रामावती (50) उसकी पुत्री गायत्री (25) तथा नाती अभिषेक (4) को चोटे आई हैं। प्रधान केशव राम यादव ने बताया कि घायलों का स्थानीय चिकित्सक के यहां इलाज कराया जा रहा है। तहसील प्रशासन को बिजली गिरने की सूचना दी गई है। तहसीलदार बृजमोहन यादव ने बताया कि सूचना मिली है। पीड़ित परिवार को सहायता उपलब्ध कराई जाएगी।
नाले चोक, शहर में जलभराव
करीब एक माह बाद हुई जोरदार बारिश से नगर के कई मोहल्ले जलमग्न हो गए। जलनिकासी की पर्याप्त व्यवस्था न होने के कारण मालवीय नगर, पटेल नगर, घोसियाना सहित कई मोहल्लों में जलभराव हो गया। शहर का पानी अवरुद्ध होने के कारण शहर की सड़कों पर जलभराव हो गया। जगह-जगह पानी भरा होने के कारण लोगों के आवागमन में दिक्कत हुई।
जिले में 67.7 मिमी बारिश हुई, फसलों को हुआ फायदा
काफी दिन बाद बुधवार को अच्छी बारिश हुई। रुक-रुक कर हुई बारिश से फसलों को जहां फायदा हुआ है वहीं गर्मी व उमस से लोगों को राहत मिली है। बारिश न होने से जहां उमस भरी गर्मी से परेशान थे वहीं खरीफ की फसलों को भी काफी नुकसान हो रहा था। मंगलवार की रात में हल्की बारिश होने के साथ बुधवार को रुक-रुक कर 67.7 मिलीमीटर बारिश हुई है।
सावन का लगभग पूरा माह बीत गया लेकिन पूरे माह नाम-मात्र ही बारिश हुई है। बारिश न होने से खरीफ सीजन के अलावा अन्य उद्यान की फसलों को काफी नुकसान हुआ है। सबसे अधिक नुकसान धान की फसलों को हुआ है। किसानों का कहना है कि बारिश न होने से खरीफ सीजन की फसलों में खासकर धान की फसल का विकास रुक गया था। बुधवार को बारिश हो जाने से किसानों को अपनी फसलों को लेकर एक बार उम्मीद जगी है। किसान इस बारिश से खुश है उनका कहना है कि इस बारिश से धान के अलावा अरहर, मक्का, उरद, तिल, गन्ना की फसलों को लाभ हुआ है।
इस बारे में कृषि विज्ञान केन्द्र के कृषि विशेषज्ञ डॉ. उपेन्द्र नाथ सिंह ने बताया कि जिले में 67.7 मिली मीटर बारिश हुई है। उन्होंने इस बारिश को फसलों के लिए फायदेमंद बताया है। उन्होंने बताया कि बारिश न होने से फसलों पर असर पड़ रहा था। उन्होंने इस बारिश से हालात संभलने की उम्मीद जतायी है। उन्होंने किसानों से फसलों में यूरिया की टॉपड्रेसिंग करने की सलाह दी है।
विज्ञापन

Recommended

rain Lightning heavy rain

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।