शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

चुनाव में जोर आजमाइश के लिए तीन ने खरीदे नामांकन पत्र

Varanasi Bureau Updated Thu, 13 Sep 2018 12:10 AM IST
कासिमाबाद(गाजीपुर)। कासिमाबाद ब्लॉक प्रमुख के उपचुनाव की तिथि जैसे-जैसे नजदीक आती जा रही है क्षेत्र पंचायत सदस्यों सहित पूरे विकास खंड में हलचल बढ़ती जा रही है। चुनाव में जोर आजमाइश के लिए अब तक कुल तीन क्षेत्र पंचायत सदस्य नामांकन पत्र खरीद चुके हैं। निवर्तमान ब्लॉक प्रमुख के चुनाव मैदान से बाहर होने के बाद इसकी रोचकता थोड़ी कम हुई है, लेकिन सियासी सरगर्मी अब भी तेज है।
विज्ञापन
कासिमाबाद ब्लॉक प्रमुख का पद अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। पिछले चुनाव में इस प्रतिष्ठापूर्ण सीट पर सपा उम्मीदवार के रूप में श्याम नारायण राम और कौमी एकता दल से कांता राम चुनाव लड़े थे। उस दौरान कांता राम का जाति प्रमाण पत्र नामांकन पत्र में दाखिल न करने का हवाला देते हुए उनके नामांकन पत्र अवैध कर दिया गया था और श्याम नारायण को निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख निर्वाचित घोषित कर दिया गया था। आलम यह था कि कांता राम के नामांकन पत्र निरस्त किए जाने को लेकर क्षेत्र में चर्चाओं का बाजार काफी गर्म रहा। कांता राम और पूर्व सांसद अफजाल अंसारी ने तत्कालीन एक मंत्री के ऊपर आरोप लगाते हुए इसे लोकतंत्र की हत्या बताया था। इसके बाद इसी सदमे में कांता राम की मृत्यु भी हो गई। कांता राम के पुत्र अनिल कुमार ने उनके क्षेत्र पंचायत नगवां से चुनाव जीतकर ब्लॉक प्रमुख श्याम नारायण राम को अविश्वास प्रस्ताव के तहत 22 अप्रैल को पद से हटवा दिया था। इस अविश्वास प्रस्ताव में कुल 120 सदस्यों में से तीन वोट श्याम नारायण राम के पक्ष में तथा 74 वोट अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में पड़े थे। इसके बाद में श्याम नारायण राम की कुर्सी चली गई थी। तभी से उपचुनाव को लेकर सरगर्मी बनी हुई थी। इस बार अधिसूचना जारी होने के बाद अनिल कुमार एक बार फिर अपने पिता कांता राम का बदला लेने के लिए मैदान में हैं तथा क्षेत्र पंचायत सदस्यों से लगातार संपर्क बनाए हुए हैं। दूसरी तरफ श्याम नारायण राम के चुनाव मैदान से बाहर होने की खबर से उनके समर्थक मायूस दिख रहे हैं। अब यह गुट सुभाष राम को चुनाव मैदान में उतारने का एलान कर चुका है। सुभाष ने दो सेट में नामांकन पत्र भी मंगलवार को ले लिया है। यह भी कयास लगाया जा रहा है कि कोई तीसरा उम्मीदवार भी मैदान में उतर सकता है। वैसे इस उपचुनाव को लेकर पूरे विकासखंड में एक बार फिर क्षेत्र पंचायत सदस्यों सहित लोगों में चर्चाएं तेज तो हो गई है लेकिन पिछली बार की तरह इस बार के चुनाव में गहमा-गहमी न के बराबर है।

Spotlight

Most Read

Related Videos

विज्ञापन
Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।