प्रभारी डीजीसी साधना शर्मा हत्याकांड का मुख्य आरोपी पीसी शर्मा पहुंचा सलाखों के पीछे

Home›   Crime›   प्रभारी डीजीसी साधना शर्मा हत्याकांड का मुख्य आरोपी पीसी शर्मा पहुंचा सलाखों के पीछे

Bareily Bureau

प्रभारी डीजीसी साधना शर्मा हत्याकांड का मुख्य आरोपी पीसी शर्मा पहुंचा सलाखों के पीछेPC: बदायूं, अमर उजाला ब्यूरो

बदायूं। बहुचर्चित प्रभारी डीजीसी साधना शर्मा हत्याकांड के मुख्य आरोपी और गैंगस्टर के मामले में पुलिस गिरफ्तारी से बच रहे पीसी शर्मा ने आखिरकार गुरुवार को प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश नलिन कुमार श्रीवास्तव के कोर्ट में पहुंचकर अपने गैर जमानती वारंट निरस्त कराए। बाद में उसने स्पेशल जज गैंगस्टर एक्ट न्यायाधीश मधुलिका के न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया। कोर्ट ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया। 23 मई 2015 को प्रभारी डीजीसी साधना शर्मा की उस समय हत्या कर दी गई थी जब वह बदायूं से अपने घर उझानी के लिए अपने नौकर बिहारी के साथ स्कूटी से लौट रहीं थीं। हालांकि हमलावरों ने हत्या को दुर्घटना का रूप देने की पूरी कोशिश की। मृतका की बहन विपर्णा गौड़ एडवोकेट ने इस मामले में मुख्य आरोपी पीसी शर्मा के अलावा सात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसमें हत्या मेें नामजद सभी जेल पहुंच गए। बाद में सभी आरोपियों पर गैंगस्टर लगा जिसमें पीसी शर्मा फरार चल रहा था। स्पेशल जज गैंगस्टर कोर्ट ने हाजिर नहीं होने पर उसके गैर जमानती वारंट जारी कर दिए थे। तब पुलिस की दिक्कतें और बढ़ गई। हालांकि गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद से पुलिस उसे गिरफ्तार करने में लगी थी लेकिन पीसी पुलिस के हाथ नहीं लगा। बता दें कि पीसी ने हत्या के मामले में जारी गैर जमानती वारंट को निरस्त कराने के लिए अपने अधिवक्ता रोहिताश सक्सेना के जरिए कोर्ट में अर्जी दी थी। इस पर प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश कोर्ट ने 1.5 लाख के निजी मुचलके पर उसे छोड़ दिया। पीसी ने अधिवक्ता के माध्यम से गैंगस्टर एक्ट कोर्ट में भी सरेंडर को अर्जी लगा रखी थी। दोपहर बाद पीसी कोर्ट में हाजिर हो गया, जिसे बाद में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया।   पुलिस देखती रही अधिवक्ताओं के बीच पीसी ने किया सरेंडर बदायूूं। पीसी शर्मा की गिरफ्तारी नहीं होने पर पुलिस की शुरू से ही किरकिरी हुई। आज भी पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर सकी। पीसी अपने अधिवक्ताओं के साथ ही कोर्ट में हाजिर हुआ। छावनी के रूप में तब्दील कोर्ट कैंपस में तैनात रहे पुलिस वाले पूरी तरह तमाशबीन बने रहे। हालांकि पीसी के अधिवक्ता रोहिताश सक्सेना ने भारी तादाद में पुलिस वालों को तैनात किए जाने पर सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन का हवाला देते हुए इंस्पेक्टर को जमकर लताड़ लगाई। पुलिस अफसरों को किसी तरह यह भनक लग गई थी कि गैंगस्टर के मामले में फरार चल रहा पीसी शर्मा आज कोर्ट में हाजिर होने जा रहा है। सो एसपी सिटी कमल किशोर, सीओ सिटी वीरेंद्र सिंह यादव के अलावा थाना सिविल लाइन, कोतवाली की पुलिस चप्पे-चप्पे पर तैनात थी। कोर्ट के हर रास्ते पर दरोगा लगे थे। दोपहर में पीसी शर्मा अपने अधिवक्ता रोहिताश सक्सेना के साथ सबसे पहले प्रथम एडीजे कोर्ट पहुंचा। बाद में वह गैंगस्टर कोर्ट गया। जहां उसने सरेंडर किया। चूंकि पुलिस इस बात से परेशान रही कि पीसी अधिवक्ताओं के बीच में था। इसी दौरान अधिवक्ता रोहिताश सक्सेना ने इंस्पेक्टर सिविल लाइन राजीव शर्मा को खरी-खरी सुनाते हुए कहा कि क्या पुलिस पीसी को सरेंडर होने से रोक लेगी।   विपर्णा का आरोप: पुलिस ने पीसी को सरेंडर करने के लिए पूरा मौका दिया बदायूं। अपनी बहन के हत्यारोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचाने में विपर्णा गौड़ ने कोई कसर नहीं छोड़ी। तमाम दिक्कतों के बाद भी विपर्णा ने हर परिस्थिति का सामना किया। आज जब पीसी शर्मा कोर्ट में सरेंडर को आ रहा था उससे पहले ही उन्होंने पुलिस के अफसरों को इत्तला दे दी थी। मगर पुलिस पीसी को अपने कब्जे में नहीं ले सकी। उसने अपने अधिवक्ता के साथ ही कोर्ट में सरेंडर किया। इस पर अधिवक्ता विपर्णा गौड़ ने पुलिस पर आरोपों की झड़ी लगा दी। कहा कि जब उन्हें यह पता चला था कि पीसी कोर्ट पहुंच रहा है तो उन्होंने एसपी सिटी, सीओ सिटी आदि सभी को मोबाइल से जानकारी दे दी थी। बोलीं-वैसे पुलिस किसी भी आरोपी को आसानी से पकड़ लेती है मगर सूचना देने के बाद भी वह पीसी को नहीं पकड़ पाई। इससे पुलिस की भूमिका भी उन्हें संदिग्ध लग रही है।
Share this article
Tags: ,

Most Popular

बेटी के बैग में इस्तेमाल हुए कंडोम देख मां ने कर दिया केस, अब कोर्ट ने लिया ऐसा फैसला

शाहरुख-सलमान को छोड़िए, इस स्टार की कमाई है 32 अरब, गरीब दोस्तों को दान कर दिए 6-6 करोड़ रुपए

अनुष्‍का-विराट की हनीमून फोटो पर 1 घंटे में 9 लाख से ज्यादा लाइक, तेजी से हो रही वायरल

हनीमून पर जाने के बाद अनुष्का का ताजा वीडियो आया सामने, बाथरूम में आईं नजर

BIGG BOSS 11: अर्शी का प्यार नहीं, 'बैल बुद्धि' को निकालने की हो रही बड़ी साजिश

WhatsApp के 7 ट्रिक नहीं जानते हैं तो व्हाट्सऐप चलाना बेकार है