शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप में मीराबाई की नजरें ओलंपिक कोटे पर, जेरेमी से भी पदक की उम्मीदें

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला Updated Wed, 18 Sep 2019 07:42 AM IST
जेरेमी लालरिननुंगा - फोटो : social media
पूर्व चैंपियन मीराबाई चानू बुधवार से शुरू हो रही विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप में जब भारतीय चुनौती की अगुआई करेंगी तो उनकी नजर 2017 के स्वर्ण पदक जीतने के अपने प्रदर्शन को दोहराने और ओलंपिक कोटा पक्का करने पर टिकी होंगी।

विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप 2017 के 48 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीतने वाली दिग्गज खिलाड़ी मीराबाई भारत की ओर से पदक की दावेदार हैं लेकिन अगर उन्हें यहां पोडियम पर जगह बनानी है तो अपने प्रदर्शन में सुधार करना होगा।

मीराबाई ने 2018 राष्ट्रमंडल खेलों के बाद कमर की चोट के कारण लगभग नौ महीने बाहर रहने के बाद मजबूत वापसी की है।

अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ (आईडब्ल्यूएफ) के वजन वर्गों में बदलाव करने के फैसले के बाद 48 किग्रा की जगह 49 किग्रा वर्ग में हिस्सा ले रही 25 साल की मीराबाई ने इस साल तीन प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेते हुए दो में अपना निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।
विज्ञापन

मीराबाई को चुनौती और भारतीय महिला टीम

मीराबाई चानू - फोटो : pti
पिछली विश्व चैंपियनशिप में थाईलैंड की चायुत्रा प्रमोंगखोल ने महिला 49 किग्रा वर्ग में 209 किग्रा (89 और 120) वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीता था लेकिन फिलहाल डोप प्रकरण में फंसी हुई हैं। इसलिए मीराबाई को चीन की मौजूदा विश्व रिकार्ड धारक हाउ झिझुई और कांस्य पदक जीतने वाली उनकी हमवतन जियांग हुइहुआ से कड़ी टक्कर मिलने की उम्मीद है।

महिला वर्ग में झिली दलबेहरा (45 किग्रा), स्नेहा सोरेन (55 किग्रा)और राखी हलधर (64 किग्रा) भी भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी।

लालरिननुंगा पर दारोमदार

जेरेमी लालरिनुंगा
पुरुष भारोत्तोलकों में नजरें युवा ओलंपिक खेलों के स्वर्ण पदक विजेता जेरेमी लालरिननुंगा पर टिकी होंगी। मिजोरम के 16 साल के जेरेमी ने एशियाई चैंपियनशिप में 297 किग्रा (134 और 163) के प्रयास के साथ युवा विश्व और एशियाई रिकार्ड बनाया था।

विश्व चैंपियनशिप में हालांकि उनके पदक जीतने की संभावना बेहद कम है। उन्होंने अपने लिए शुरुआती वजन 305 किग्रा रखा है जिसके कारण उन्हें बी श्रेणी में जगह मिली है। पिछली विश्व चैंपियनशिप में भारोत्तोलकों ने 332, 323 और 322 किग्रा वजन उठाकर क्रमश: स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक जीते थे।

पुरुष वर्ग में इसके अलावा राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप के स्वर्ण पदक विजेता अजय सिंह (81 किग्रा) और राष्ट्रीय चैंपियन अचिंता श्युली (73 किग्रा) भी चुनौती पेश करेंगे।

टोक्यो ओलंपिक के लिए होने वाले तीन क्वालीफाइंग प्रतियोगिताओं में से एक इस टूर्नामेंट में खिलाड़ी अपने प्रदर्शन से अपनी दावेदारी मजबूत करना चाहेंगे।

टीम इस प्रकार है

जेरेमी लालरिनुगा
पुरुष: जेरेमी लालरिननुंगा (67 किग्रा), अचिंता श्युली (73 किग्रा) और अजय सिंह (81 किग्रा)।
महिला: मीराबाई चानू (49 किग्रा), झिली दलबेहरा (45 किग्रा), स्नेहा सोरेन (55 किग्रा)और राखी हलधर (64 किग्रा)।
विज्ञापन

Recommended

mirabai chanu saikhom mirabai chanu jeremy lalrinnunga world weightlifting championship 2019 tokyo olympics 2020 olympic qualifiers

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Related

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।