ऐप में पढ़ें

नायब सूबेदार अनिल ने तीसरी बार पाया सेना मेडल, मार गिराए थे सात आतंकी

अमर उजाला नेटवर्क, बिझड़ी (हमीरपुर) Published by: Krishan Singh Updated Sun, 16 Aug 2020 10:05 PM IST
नायब सूबेदार अनिल कुमार
नायब सूबेदार अनिल कुमार - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
74वें स्वतंत्रता दिवस पर पिछले 24 वर्षों से भारतीय सेना की स्पेशल फोर्स 9 पैरा कमांडो में सेवाएं दे रहे बिझड़ी के नायब सूबेदार अनिल कुमार को तीसरी बार सेना मेडल से नवाजा गया है। 27 जुलाई, 1978 को एक्स सूबेदार मेजर जगतराम के घर जन्में अनिल कुमार बचपन से जांबाज रहे हैं। पिता से प्रेरणा लेते हुए उनकी ही यूनिट में भर्ती हुए। उन्हें तीन बार सेना मेडल से नवाजा गया है।

भर्ती होने के महज 6 वर्ष बाद ही उन्होंने 2003 में जम्मू के पुंछ में दो आतंकवादियों को मार गिराया था। तब उन्हें सेना कमांडर ने सेना मेडल से नवाजा था। इसके बाद 2 मई, 2016 को जम्मू के कुपवाड़ा में उन्होंने फिर दो आतंकवादियों को मार गिराया था। इस पर उन्हें 26 जनवरी, 2017 को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने सेना मेडल से सम्मानित किया।

 
विज्ञापन

नायब सूबेदार के माता-पिता - फोटो : अमर उजाला
इस बार उन्होंने पंजाब से हथियार लेकर श्रीनगर जा रहे तीन आतंकवादियों को मौत के घाट उतारा है। टोल प्लाजा उधमपुर के पास नाके पर एक वाहन को रोका गया। तलाशी ली गई तो उसमें से भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए। इसी दौरान तीन आतंकवादी जंगल की तरफ भाग निकले। इसकी सूचना वहां तैनात 9 पैरा कमांडो यूनिट को दी गई।

अनिल कुमार नेे टुकड़ी का नेतृत्व करते हुए 10 घंटे तक चले ऑपरेशन के दौरान तीन आतंकवादियों को मार गिराया। तीसरी बार सेना मेडल इन्हें जम्मू-कश्मीर में कमांडेंट ने 15 अगस्त को भेंट किया। सेना मेडल मिलने की खबर पहुंचते ही अनिल के घर बधाइयां देने वालों का तांता लगा है। बड़सर के विधायक इंद्र दत्त लखनपाल और अन्य लोगों ने उन्हें  बधाई दी है।
विज्ञापन
विज्ञापन

Latest Video

MORE