शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

मिडलैंड अस्पताल के मैनेजर की हत्या मामले में रहस्य बरकरार, आखिर किस युवती के लिए बुक कराया था कमरा

न्यूज डेस्क/अमर उजाला, लखनऊ Updated Thu, 18 Jul 2019 04:54 PM IST
1 of 10
मिडलैंड अस्पताल के मैनेजर की हत्या - फोटो : अमर उजाला
लखनऊ के गोमतीनगर विश्वास खंड-3 निवासी मिडलैंड अस्पताल के मैनेजर विश्वजीत सिंह पुंडीर के साथ जो भी हुआ वह महज डेढ़ घंटे के अंदर हुआ। भाई के मुताबिक, वह रात 11.30 बजे के करीब सोने गए। इस दौरान विश्वजीत अपने कमरे में सही सलामत था। करीब डेढ़ बजे मां ने उसे बुलाया कि विश्वजीत को काफी चोट लगी है। भाई के मुताबिक, डेढ़ घंटे के बीच में ही उस पर हमला किया गया। हमला विश्वजीत के साथ कमरे में मौजूद लोगों ने किया या किसी और ने यह नहीं बता सकता। मालूम हो लखनऊ के महानगर स्थित मिडलैंड अस्पताल के मैनेजर विश्वजीत सिंह पुंडीर (30) की मंगलवार देर रात गोमतीनगर के विश्वासखंड-3 स्थित उनके घर में ही धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। कई ऐसी चीजें थीं जो हत्या की ओर इशारा कर रही थीं फिर भी पुलिस वारदात को हादसा बताती रही।
विज्ञापन

2 of 10
मिडलैंड अस्पताल के मैनेजर की हत्या - फोटो : अमर उजाला
स्व. विनोद सिंह पुंडीर सेतु निगम में प्रोजेक्ट मैनेजर थे। उनकी मौत 2009 में बीमारी से हुई। उनके स्थान पर बडे़ बेटे इंद्रजीत सिंह पुंडीर को निगम में लेखा सहायक के पद पर नौकरी मिली। वहीं, छोटा बेटा विश्वजीत महानगर के मिडलैंड अस्पताल में मैनेजर था। परिवार में मां मंगला उर्फ संदेश, भाभी पूनम सिंह और भतीजी बनी है। परिवारीजनों के मुताबिक, विश्वजीत रोजाना की तरह मंगलवार को भी अस्पताल गया था। शाम करीब 6.30 बजे वह लौटा और कपड़े बदलने के बाद चाय पीकर घंटाभर तक भतीजी बनी के साथ खेलता रहा।

3 of 10
मिडलैंड अस्पताल के मैनेजर की हत्या - फोटो : अमर उजाला
इसके बाद जिम चला गया और करीब 10 बजे लौटने पर खाना खाकर पहली मंजिल पर स्थित अपने कमरे में चला गया। मां संदेश पुंडीर ने बताया कि रात करीब डेढ़ बजे दरवाजे पर दस्तक हुई और विश्वजीत ने दरवाजा खोलने को कहा। उन्होंने देखा कि खून से लथपथ विश्वजीत अर्द्धनग्न हालत में था। उन्होंने बड़े बेटे इंद्रजीत को जगाया और कार से मिडलैंड अस्पताल ले गए।  पुलिस के मुताबिक, विश्वजीत का लोअर बाहर दीवार के पास पड़ा था, लेकिन पुलिस इस सवाल का जवाब नहीं तलाश पाई कि वह घायल होने के बाद तौलिया पहनने के लिए कमरे में गया था या किसी ने उसे कमरे में पहुंचाया था। बुधवार तड़के चार बजे घरवालों ने पुलिस कंट्रोल रूम पर सूचना दी।

4 of 10
मिडलैंड अस्पताल के मैनेजर की हत्या - फोटो : अमर उजाला
भाई ने दी तहरीर
इंद्रजीत ने तहरीर दी कि मंगलवार रात करीब एक बजे विश्वजीत घायल व नग्न अवस्था में लहू लुहान माताजी के कमरे में पहुंचकर बोला मां मुझे बचा लो। माताजी ने मुझे आवाज दी। मैं माता के साथ भाई को अपनी कार से मिडलैंड अस्पताल ले गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। उसकी हत्या की गई है।
गोली मारकर हत्या की सूचना दी गई
पुलिस के मुताबिक, बुधवार सुबह 4.11 बजे इंद्रजीत सिंह द्वारा लैंड लाइन नंबर से कंट्रोल रूम को सूचना दी गई कि विश्वजीत सिंह पुंडीर की हत्या अज्ञात व्यक्ति द्वारा गोली मारकर की गई है। वह इस समय मिडलैंड अस्पताल में हैं। वारदात रात 1.30 बजे की है।

5 of 10
मिडलैंड अस्पताल के मैनेजर की हत्या - फोटो : अमर उजाला
व्हाट्सएप पर की चैटिंग
पुलिस के मुताबिक, विश्वजीत रात करीब 11.30 बजे तक सोशल मीडिया पर सक्रिय रहा। इस दौरान 12 दोस्तों के साथ उसने व्हाट्सएप पर चैटिंग की। रात करीब 11 बजे फेसबुक पर अंतिम बार विंबल्डन टेनिस मैच की कुछ तस्वीरें व वीडियो पोस्ट किए थे। इसके बाद उसके साथ क्या हुआ। किसी को पता नहीं।
 

6 of 10
मिडलैंड अस्पताल के मैनेजर की हत्या - फोटो : अमर उजाला
आखिर किस युवती के लिए बुक कराया था कमरा
पुलिस के मुताबिक, विश्वजीत की दोस्ती गुड़गांव की एक युवती से थी। उक्त युवती 12 जुलाई को लखनऊ आई थी। विश्वजीत ने उसके लिए गोमतीनगर के सीएमएस के पास स्थित एक होटल में कमरा भी अपने नाम से बुक कराया था। वह उससे मिलने भी जाता था। 15 जुलाई की रात को युवती होटल से विश्वजीत के साथ ही निकली थी।
 

7 of 10
मिडलैंड अस्पताल के मैनेजर की हत्या - फोटो : अमर उजाला
ऑपरेशन हुआ लेकिन बचाया नहीं जा सका
मिडलैंड के डॉक्टरों ने तुरंत ही उसे ऑपरेशन थिएटर पहुंचाया। करीब 20 मिनट तक सर्जरी की गई। लेकिन ज्यादा रक्तस्राव हो जाने से उसे बचाया नहीं जा सका। डॉक्टरों ने बताया कि उसके पेट पर थोड़ी दूर पर दो गहरे घाव थे। पहले उन लोगों ने इसे गोली लगना समझा था, लेकिन फिर पता चला कि किसी धारदार हथियार का घाव है।

8 of 10
मिडलैंड अस्पताल के मैनेजर की हत्या - फोटो : अमर उजाला
वारदात स्थल की स्थिति व पुलिस की पड़ताल
पुलिस के मुताबिक, मकान तीन तल का है। भूतल, प्रथम और द्वितीय तल।  भूतल में बडे़ भाई इंद्रजीत सिंह, पत्नी पूनम और बेटी बनी के साथ रहते हैं।  वारदात एक से 1.30 बजे मध्य रात की है। पुलिस को सूचना 4.15 बजे दी गई।  प्रथम तल पर विश्वजीत के प्राइवेट गेस्ट रूम से चार बियर केन, सिगरेट का पैकेट, सिगरेट गांजा भरकर पी गई थी। बाथरूम में गांजा से भरा हुआ सिगरेट फेंका गया था, विश्वजीत का मोबाइल व चश्मा टेबल पर था। कमरे में टीवी व एसी चालू हालत में थी।   विश्वजीत के प्राइवेट रूम के बाहर रेलिग से बाहर मकान के  नीचे बनी बाउंड्रीवाल की नुकीली ग्रील के पास लगा पेड़ टूटा हुआ था। मकान के अंदर की तरफ काफी खून पड़ा था।    पूरे घर का निरीक्षण किया गया, वारदात के समय मेन गेट व आने-जाने वाले सभी रास्ते बंद थे। घर के अंदर परिवारीजन के अलावा कोई नहीं था।   विश्वजीत घर के कई हिस्सों में गया था, जिससे पूरे घर में कई जगह पर खून के निशान मिले।

 

9 of 10
मिडलैंड अस्पताल के मैनेजर की हत्या - फोटो : अमर उजाला
मंत्री ने इंस्पेक्टर को फटकारा
प्रदेश सरकार के आबकारी मंत्री जयप्रताप सिंह का बेटा और विश्वजीत दोस्त थे। विश्वजीत की मौत की सूचना पर वह गोमतीनगर पहुंचे और देखा कि गोमतीनगर इंस्पेक्टर मामले को हादसा बता रहे हैं। इस पर उन्होंने फटकार लगाई। कहा कि लगातार हत्या के मामले को हादसे की ओर डायवर्ट कर रहे हो। कैरेक्टर सर्टिफिकेट मत बांटो। हत्या हुई है, बदमाशों को पकड़ो। इसके बाद इंस्पेक्टर शांत हो गए। वहीं, प्रसपा के अध्यक्ष व पूर्व मंत्री शिवपाल यादव के बेटे आदित्य यादव और उनकी पत्नी भी मौके पर पहुंची थीं।

10 of 10
मिडलैंड अस्पताल के मैनेजर की हत्या - फोटो : अमर उजाला
मां और भाई का बयान
मां ने पूछताछ में बताया कि विश्वजीत नग्न अवस्था में ही मेरे कमरे के सामने लॉबी में आकर मुझसे बोला कि मै बेड से गिर गया हूं, मुझे चोट लग गई है, मां मुझे बचा लो, मुझे मिडलैंड अस्पताल ले चलो। बडे़ बेटे को आवाज दी, वह अपनी पत्नी के साथ आया। विश्वजीत को नेकर और शर्ट पहनाई। इसके बाद अस्पताल ले गए। यही बात विश्वजीत के भाई ने भी दोहराई।
विज्ञापन

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।